Thursday, 27 January, 2022
होमएजुकेशन

एजुकेशन

एचआरडी के सचिव से जेएनयूएसयू के छात्रों ने की मुलाकात, मंत्रालय की तरफ से मिला सकारात्मक आश्वासन

जेएनयू छात्रों की मंगलवार को मानव संसाधन विकास मंत्रालय के उच्च शिक्षा सचिव से मुलाकात हुई. इस दौरान उन्होंने फ़ीस पूरी तरह वापस लिए जाने की अपनी मांग पर एक बार फ़िर ज़ोर दिया.

स्कूली शिक्षा में फंड की कमी बताकर, मोदी सरकार 3000 करोड़ रुपये की कर सकती है कटौती

2019-20 में स्कूल शिक्षा विभाग को 56,536 करोड़ रुपये की राशि मंजूर की गई, जिसमें वित्त मंत्रालय 3,000 करोड़ रुपये की कटौती कर सकती है.

एक दशक में दोगुनी हुई आईआईएमसी की फ़ीस, छात्रों की मांग- ‘फी मस्ट फॉल’

1965 में पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने सूचना प्रसारण मंत्री के तौर पर आईआईएमसी का उद्घाटन किया था . यहां मुख्यत: हिंदी-अंग्रेज़ी और रेडियो टीवी पत्रकारिता सहित पांच कोर्स चलाए जाते हैं.

शिक्षा मंत्रालय की हाई पावर कमेटी की तीसरी बैठक में भी नहीं पहुंचे जेएनयू वीसी

जेएनयू में हो रहे विरोध प्रदर्शन को लेकर अगले बृहस्पतिवार तक कोई रास्ता नहीं निकलता है, तो जेएनयू में ठप पड़ी पढ़ाई के एक महीने पूरे हो जाएंगे.

जेएनयू में फीस वृद्धि के खिलाफ सड़क पर एबीवीपी, लगे ‘शिक्षामंत्री होश में आओ’ के नारे

एबीवीपी के छात्रों का कहना है कि लेफ़्ट के छात्रों ने हाल ही में शिक्षा मंत्रालय की हाई पावर कमेटी के साथ बैठक कर फ़ीस वृद्धि को पूरी तरह से रोलबैक करने के मामले में समझौता किया है.

आईआईटी, आईआईएम की फैकल्टी हायरिंग में जाति आधारित आरक्षण सुनिश्चित हो : मोदी सरकार

आईआईटी, आईआईएम और आईआईएसईआर फैकल्टी की हायरिंग में आरक्षण के मानदंडों का पालन नहीं करते थे. सरकार ने अब सभी शिक्षण पदों पर कोटा लागू करना अनिवार्य कर दिया है.

‘पहले आप-पहले आप’ पर समाप्त हुई एचआरडी की हाई पावर कमेटी और जेएनयू छात्रों की पहली मुलाक़ात

शिक्षा मंत्रालय की 'हाई पावर कमेटी और जेएनयू छात्रों की बैठक से मिली जानकारी में विरोधाभासी जानकारी सामने आ रही है. दोनों की अगली मुलाकात शुक्रवार को होनी है.

फ़ीस बढ़ने के बाद केंद्रीय विश्वविद्यालयों में सबसे महंगा होगा जेएनयू में रहना-खाना

हालांकि, जेएनयू ईसी ने हॉस्टल फ़ीस घटा दी है, लेकिन अन्य केंद्रीय विश्वविद्यालयों से तुलना करें तो बढ़ी फ़ीस के बाद जेएनयू में रहना-खाना सबसे महंगा होगा.

भारत में फार्मा सेक्टर में बूम के दौरान सैकड़ों कॉलेज बने, लेकिन सरकार अब और कॉलेज नहीं चाहती है

भारत ने फार्मा उद्योग की बढ़ती लोकप्रियता को देखते हुए खराब गुणवत्ता वाले संस्थानों की जांच करने के लिए 2021-22 तक नए फार्मा कॉलेजों पर रोक लगा दी है.

फीस बढ़ोतरी की मार से 40 फीसदी बच्चों को बचाने के लिए जेएनयू के छात्रों का प्रदर्शन

हाल ही में जेएनयू के हॉस्टल मैन्युअल में बदवाल करके हॉस्टल की फ़ीस बढ़ाई गई है. बढ़ी हुई फ़ीस की वजह से 40% छात्रों के प्रभावित होने की आशंका है.

मत-विमत

यमन के कमजोर बागी विश्व अर्थव्यवस्था के लिए जोखिम बने और साबित किया कि फौजी ताकत की भी एक सीमा होती है

ईरान और सऊदी अरब अब बातचीत कर रहे हैं लेकिन जंग के जिन्न को वापस बोतल में बंद करने में शायद बहुत देर हो चुकी है. यमन में सत्ता के दलाल अपने दबदबे के लिए हिंसा पर ही निर्भर हैं.

वीडियो

राजनीति

देश

राष्ट्रीय ध्वज उतारने के दौरान करंट लगने से एक छात्रा की मौत

महासमुंद (छत्तीसगढ़), 27 अगस्त (भाषा) छत्तीसगढ़ के महासमुंद जिले में अनुसूचित जनजाति कन्या छात्रावास में राष्ट्रीय ध्वज उतारने के दौरान दो छात्राएं करंट...

लास्ट लाफ

भारत के गरीब अब भी VIPs को सहन कर रहे हैं और डॉ अंबेडकर का मैकाले के भूत से जुड़ा एक सवाल है

दिप्रिंट के संपादकों द्वारा चुने गए दिन के सबसे अच्छे कार्टून्स.