Saturday, 26 November, 2022
होमएजुकेशन

एजुकेशन

ओपन डोर्स रिपोर्ट के अनुसार 2021-22 में अमेरिका में पढ़ने वाले भारतीय छात्रों की संख्या 19% बढ़ी

अमेरिका जाने वाले भारतीय छात्रों की संख्या के शैक्षणिक सत्र 2022-23 में चीन के छात्रों की संख्या से आगे निकल जाने की संभावना है. इस साल जून और अगस्त के बीच भारतीय छात्रों के लिए 82,000 अमेरकी वीजा जारी किए गए, जो बाकी सभी देशों में सबसे ज्यादा हैं.

शिक्षाविदों को हुई चिंता, UGC के नए नियमों की वजह से बिना रिसर्च अनुभव के ही PhD हो जाएंगे छात्र

यूजीसी ने इस हफ्ते के शुरू में ही पीएचडी प्रोग्राम के नए नियमों को अधिसूचित किया है जिसमें प्रवेश और मूल्यांकन संबंधी योग्यताओं समेत कई महत्वपूर्ण संशोधन किए गए हैं.

कोविड के दौरान 43 % छात्रों को नहीं मिल सकी देश में किसी भी तरह की स्कूली शिक्षा

थिंक टैंक विधि सेंटर फॉर लीगल पॉलिसी द्वारा किए गए अध्ययन में कहा गया कि अध्ययन सामग्री, उपकरणों और इंटरनेट तक पहुंच के मामले में पहले से नुकसान वाले बच्चों के लिए शैक्षिक अंतराल सबसे खराब थे.

अब ग्रेजुएशन के बाद या पार्ट टाइम भी PhD की पढ़ाई कर सकते हैं छात्र, UGC ने बनाए डॉक्टरेट के नए नियम

यूजीसी द्वारा सोमवार को अधिसूचित नियम तत्काल प्रभाव से लागू होंगें; इस अधिसूचना में यह भी कहा गया है कि 1 जुलाई, 2009 के बाद पंजीकृत कोई भी पीएचडी 2009 या 2016 के नियमों द्वारा शासित होगी.

शिक्षा पैसा कमाने का जरिया नहीं, ट्यूशन फीस उतनी हो जितना लोग दे पाएं : सुप्रीम कोर्ट

न्यायमूर्ति एमआर शाह और न्यायमूर्ति सुधांशु धूलिया की पीठ ने सोमवार को आंध्र प्रदेश उच्च न्यायालय के आदेश को बरकरार रखा.

उच्च शिक्षण संस्थानों का मूल्यांकन किया जाएगा मजबूत, केंद्र ने बनाई कमेटी

समिति द्वारा मूल्यांकन और सत्यापन प्रक्रियाओं को मजबूत करना और राष्ट्रीय शिक्षा नीति, 2020 में परिकल्पित राष्ट्रीय सत्यापन परिषद के लिए एक रोडमैप तैयार करना शामिल है.

‘देश में 34% स्कूलों में ही है इंटरनेट की सुविधा, आधे से अधिक में नहीं है फंक्शनल कंप्यूटर’

शिक्षा मंत्रालय द्वारा जारी यूनिफाइड डिस्ट्रिक्ट इनफार्मेशन सिस्टम फॉर एजुकेशन 2021-22 की डेटा के मुताबिक दिल्ली के स्कूल में 100 परसेंट फंक्शनल कंप्यूटर और इंटरनेट उपलब्ध है.

मोदी सरकार के स्कूल प्रदर्शन सूचकांक में शीर्ष पर केरल, महाराष्ट्र और पंजाब

केरल, पंजाब, चंडीगढ़, महाराष्ट्र, गुजरात, राजस्थान और आंध्र प्रदेश ने परफॉर्मेंस इंडेक्स रिपोर्ट 2020-21 में दूसरा लेवल प्राप्त किया है जो किसी भी राज्य या केंद्र शासित प्रदेश द्वारा उच्चतम है.

2021-22 में छोटे बच्चों का स्कूलों में ड्रॉपआउट रेट बढ़ा, लेकिन छात्राओं की संख्या बढ़ी: मंत्रालय की रिपोर्ट

हालांकि यूडीआईएसई की रिपोर्ट कहती है कि इस साल बड़े कक्षाओं के बच्चों ने कम स्कूल छोड़ा. सरकारी और प्राइवेट दोनों संस्थानों में अधिक नामांकन हुआ. 

‘ बेहतरीन प्रोफेशनल्स की जरूरत’ – क्यों IIT, IIM और IIIT जैसे संस्थान ‘ह्यूमैनिटी’ पर जोर दे रहे हैं

IIT, IIIT, IIM फिलहाल सोशल साइंस और ह्युमैनिटी जैसे विषयों पर खासा जोर दे रहे हैं. सिर्फ स्नातक डिग्री देने के बजाय उनका फोकस अब 'बेहतरीन पेशेवर' तैयार करने पर है.

मत-विमत

वीडियो

राजनीति

देश

नोएडा में लगी एक फैक्टरी में आग, करोड़ों रुपये का माल जलकर खाक

नोएडा (उप्र), 26 नवंबर (भाषा) नोएडा के ईकोटेक-प्रथम क्षेत्र क्षेत्र में एक फैक्टरी में शुक्रवार देर रात भयंकर आग लग गई जिससे करोड़ों रुपये...

लास्ट लाफ

वो पायलट जो हमेशा मिराज उड़ाता है और क्यों मोदी ही बता सकते हैं शिंदे का भविष्य

दिप्रिंट के संपादकों द्वारा चुने गए पूरे दिन के सबसे अच्छे कार्टून.