Wednesday, 18 May, 2022
होमसमाज-संस्कृति

समाज-संस्कृति

‘मानवता के ऊपर देशभक्ति की जीत नहीं होने दूंगा’: टैगोर ने राष्ट्रवाद को क्रूर महामारी क्यों कहा था

टैगोर राष्ट्रवाद की आलोचना करने वाले 20वीं शताब्दी के सबसे प्रमुख व्यक्ति हैं. 1916-17 में जब वो जापान और अमेरिका में व्याख्यान दे रहे थे तो उन्होंने राष्ट्रवाद से उभरते खतरों को साफ तौर पर व्यक्त किया था.

दिल्ली विश्वविद्यालय के 100 साल: इबारत और इबादत की जगह को कट्टरता से बचाने की ज़रूरत

दिल्ली विश्वविद्यालय को अपने शताब्दी वर्ष में ठहर कर सबसे ज्यादा इस बात को सोचने की जरूरत है कि आने वाला वक्त विश्वविद्यालय को किस ओर ले जाएगा?

‘महंगाई मार गई’: ईंधन की क़ीमतों को लेकर केंद्र-राज्यों की खींचतान पर उर्दू प्रेस को याद आया हिट गाना

दिप्रिंट का जायज़ा कि उर्दू मीडिया ने पूरे हफ्ते की विभिन्न ख़बरों को किस तरह कवर किया, और उनमें से कुछ ने क्या संपादकीय रुख़ इख़्तियार किया.

‘भाजपा मेरी मां है, कोई बेटा अपनी मां से बड़ा नहीं हो सकता’: 2007 में मोदी ने ऐसा क्यों कहा था

भागवत ने ही आडवाणी को 2009 में आखिरी मौका देने की दलील दी थी, यानी अब भाजपा के लिए मिशन और विजन-2009 का आम चुनाव था, जिसकी तैयारी जोर-शोर से होने लगी.

‘अकेली लड़की की शिकायत पर नहीं होता ज्यादा यकीन’: बिहार के महिला थाने महिलाओं के लिए नहीं हैं

ग्रामीण बिहार में बहुत सी रेप पीड़िताओं को पुलिस थानों में उदासीनता, संदेह, यहां तक कि और अधिक अत्याचार का सामना करना पड़ता है. दिप्रिंट ने सूबे के बिल्कुल विपरीत छोर पर दो ऐसे ही मामलों का पता लगाया.

बीमारू राज्य का कार्यभार संभालते ही पहले घंटे से तेज रफ्तार में चलने लगे थे योगी आदित्यनाथ

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के जीवन के कई पहलू हैं. लेकिन लेखक शांतनु गुप्ता ने उनकी जिंदगी के  चार पहलुओं को अपनी लेखनी से उकेरा है. प्रस्तुत है प्रभात प्रकाशन से आई उनकी किताब 'योगीगाथा' का ये अंश.

करीना, अनुष्का और अब सोनम कपूर बेबी बंप में लगीं बला की खूबसूरत, प्रेगनेंसी को बनाया खास

सोनम ने कहा, सभी आपको प्रेग्नेंसी के दौरान की खूबसूरत बातें तो बताते हैं लेकिन कोई ये नहीं बताता कि ये कितना मुश्किल होता है.'

‘भारतीय मुस्लिमों पर हमले’: रामनवमी पर हुई हिंसा को लेकर उर्दू प्रेस का क्या रहा नज़रिया

दिप्रिंट अपने राउंड-अप में बता रहा है कि इस सप्ताह उर्दू मीडिया ने विभिन्न घटनाएं कैसे कवर कीं और उनमें से कुछ पर उनका संपादकीय नजरिया क्या रहा.

राजनीतिक लाभ के लिए कांग्रेस ने रचा था खालिस्तान षड्यंत्र, RAW का भी किया था इस्तेमाल

कांग्रेस की कोशिश थी कि पंजाब में हिंदू व सिख समुदाय के बीच सामुदायिक अविश्वास और असुरक्षा का माहौल पैदा किया जाए ताकि आने वाले चुनाव में इसका राजनीतिक रूप से लाभ लिया जा सके.

प्रेम से शादी तक: कैसे परवान चढ़ा आलिया भट्ट और रणबीर कपूर का प्यार

11 साल की उम्र से आलिया ने जिस लड़के को प्यार किया, कल उसी से आलिया ने शादी रचा ली. अपने इंस्टाग्राम पर शादी की तस्वीरे साझा करते हुए आलिया ने लिखा, 'आज अपने परिवारों और दोस्तों की मौजूदगी में हमने अपने घर की पसंदीदा जगह पर शादी कर ली. अपने रिश्ते के 5 साल हमने इस बालकनी में बिताए हैं.'

मत-विमत

वीडियो

राजनीति

देश

पंजाब कांग्रेस के प्रतिनिधिमंडल ने की डीजीपी से मुलाकात, ‘बिगड़ती’ कानून व्यवस्था पर चिंता जतायी

चंडीगढ़, 18 मई (भाषा) पंजाब कांग्रेस के एक प्रतिनिधिमंडल ने बुधवार को यहां पुलिस प्रमुख वी के भवरा से मुलाकात की और राज्य में...

लास्ट लाफ

वर्ल्ड हाइपरटेंशन डे पर स्वास्थ्य कैसे बनाए रखें और राहुल ने क्षेत्रीय दलों के पाले में गेंद डाली

दिप्रिंट के संपादकों द्वारा चुने गए पूरे दिन के सबसे अच्छे कार्टून.