Wednesday, 18 May, 2022
होमसमाज-संस्कृति

समाज-संस्कृति

यूक्रेन रूस संकट में भारत की स्थिति पर बोले कांग्रेस नेता शशि थरूर- ये मुश्किल दौर है लेकिन हमारी स्थिति साफ है

मीटल की ट्रैवलिंग फ़ोटोग्राफ़र की यादें 'कीव और ल्वीव की खुशहाल देश और शोर शोरशराबे वाले सड़कों को दिखाती हैं जिसे मीटल ने अपनी 9 दिन के यात्रा के दौरान कैप्चर किया.

कैसे चुराईं गईं कलाकृतियों की खोज में माहिर जासूसों के इंडिया प्राइड प्रोजेक्ट ने 265 कलाकृतियों का पता लगाया?

अनुसंधान, विधायी तौर पर हस्तक्षेप और एडवोकेसी का उपयोग करते हुए, इंडिया प्राइड प्रोजेक्ट ने कई कलाकृतियों को वापस भारत लाने में मदद की है, जिनमें से कुछ दुनिया भर के संग्रहालयों में थीं और कुछ अन्य को अवैध कला के सौदों के तहत नीलाम कर दिया गया था.

‘राष्ट्रवाद आ गया…’: कविता की दुनिया में सशक्त हस्तक्षेप करती है जसिंता केरकेट्टा की कविताएं

जसिंता केरकेट्टा की कविताओं से स्पष्ट दिखलाई पड़ता है कि इन कविताओं के पीछे गहरे अनुभव और बहुत हद तक खुद झेली हुई पीड़ा का संसार है. यही चीज़ उनकी कविताओं से बेबाकी के साथ प्रतिरोध का स्वर उभारती हैं.

विश्व रंगमंच दिवस: बना रहेगा थिएटर का वजूद

रंगमंच की दशा, दुर्दशा, उम्मीदों, संभावनाओं को लेकर बातें होती हैं, चिंताएं जताई जाती हैं.

बयानबाजी करने के बजाय ममता बनर्जी को आम आदमी की हिफाजत पर ध्यान देना चाहिए: बीरभूम पर उर्दू प्रेस का रुख

पेश है दिप्रिंट का इस बारे में राउंड-अप कि उर्दू मीडिया ने इस सप्ताह के दौरान विभिन्न समाचार घटनाओं को किस तरह कवर किया, और उनमें से कुछ ने इन पर किस तरह की संपादकीय टिप्पणियां कीं.

‘जो मजलूमों और कमजोरों के हक में बोलने से डरते हैं, गुलाम वे हैं’- क्या कुछ कहती है भगत सिंह की ‘जेल डायरी’

‘जेल डायरी’ के पन्नों से हमें पता चलता है कि भगतसिंहजी गुरुनानक देव महाराजजी, गुरु गोविंदसिंहजी, समर्थ गुरु रामदासजी, रवींद्रनाथ टैगोरजी, विलियम वर्ड्सवर्थजी, मार्क्स, एंजेल्स, बुखारिन लेनिन, बर्टेड रसेल आदि के जीवन एवं विचारों से प्रभावित थे.

सत्यजित राय के लिए एक सपने को साकार करने की लड़ाई क्यों थी ‘पाथेर पांचाली’

सत्यजित राय ने अपने पूरे जीवन में कुछ दर्जन ही फिल्में बनाई लेकिन जो भी बनाई वो वैश्विक ऊंचाईयां छूती गई और सिनेमा जगत के लिए अनूठी साबित हुई.

उर्दू मीडिया की नजर में हिजाब पर फैसला मुस्लिमों की पहचान को दबाने वाला, SC में अपील का समर्थन

दिप्रिंट अपने राउंड-अप में बता रहा है कि इस सप्ताह उर्दू मीडिया ने विभिन्न घटनाएं कैसे कवर कीं और उनमें से कुछ पर उनका संपादकीय नजरिया क्या रहा.

क्यों कश्मीरी पंडितों पर बनी एक जरूरी फिल्म है ‘द कश्मीर फाइल्स’

कश्मीरी विस्थापित दादा और दिल्ली में पढ़ रहे पोते को रूपक की तरह इस्तेमाल करते हुए फिल्मकार असल में हमें पुरानी और नई पीढ़ी के सच से भी रूबरू कराते हैं.

धनबल, RSS की मदद और उसका समर्पित कैडर: UP में BJP की जीत पर उर्दू प्रेस ने क्या कहा

दिप्रिंट अपने राउंडअप में बता रहा है कि इस सप्ताह उर्दू मीडिया ने देश-दुनिया की विभिन्न घटनाओं को कैसे कवर किया और उनमें से कुछ पर उनका संपादकीय रुख क्या रहा.

मत-विमत

वीडियो

राजनीति

देश

राजीव गांधी हत्याकांड में पेरारिवलन की रिहाई तक का घटनाक्रम

नयी दिल्ली, 18 मई (भाषा) संविधान के अनुच्छेद 142 के तहत असाधारण शक्तियों का इस्तेमाल करते हुए बुधवार को उच्चतम न्यायालय ने पूर्व...

लास्ट लाफ

वर्ल्ड हाइपरटेंशन डे पर स्वास्थ्य कैसे बनाए रखें और राहुल ने क्षेत्रीय दलों के पाले में गेंद डाली

दिप्रिंट के संपादकों द्वारा चुने गए पूरे दिन के सबसे अच्छे कार्टून.