होम मत-विमत

मत-विमत

news on atmbodhanand

दो का पहाड़ा पढ़ने में व्यस्त सरकार आत्मबोधानंद से बात नहीं करना चाहती

आत्मबोधानंद उन्हीं चार मांगों पर अनशन कर रहे हैं जिन पर अडिग जीडी अग्रवाल ने शहादत दे दी थी, पर सरकार केवल सफल कुंभ के आयोजन व नमामि गंगे के प्रचार से काम चला रही है. उसने अभी तक उनसे बात भी नहीं की है.
News on mahagathbandhan

गठबंधन जरूरी है, मज़बूत सरकारों ने लोकतांत्रिक संस्थानों को ज्यादा आघात पहुंचाया है

1977 के बाद देश के तमाम राज्यों में क्षेत्रिय दलों का तेज़ी से उभार शुरू हो गया. इन दलों ने उन क्षेत्रिय मुद्दों और समस्याओं के आधार पर जनप्रचार कर जनाधार बनाना शुरू कर दिया.
news on international relation

सऊदी प्रिंस को गले लगा लिया मोदी ने, नाराज होने से पहले जरा हकीकतों पर गौर कर लीजिए

नरेंद्र मोदी ने सऊदी अरब से भारत के रिश्ते में पाकिस्तान और पुलवामा के नाम पर खटास न देकर समझदारी ही दिखाई. वे मनमोहन सिंह की पहल को ही जोरदार ढंग से आगे बढ़ा रहे हैं.
news on social culture

स्नेहा, ये तो बताओ कि तुम्हारी जाति क्या है?

पहली बार देश में ये माना गया है कि कोई व्यक्ति जाति और धर्मविहीन हो सकता है. सरकार ने इसका सर्टिफिकेट जारी किया है. ये एक बड़ी सामाजिक क्रांति की शुरुआत हो सकती है.
khatija-rahman-burqa

कोई महिला बुर्क़ा पहनना चाहती है, तो आपको क्या दिक्कत है?

कोई महिला क्या पहनना चाहती है, उस महिला पर ही छोड़ देना चाहिए. जो लोग बुर्का पर विवाद करना चाहते हैं, वे खुद अपने परिवार के पहनावे पर कभी बात नहीं करते.
ambedkar-ravidas

बाबा साहेब से जुड़ गई है रविदास की वैश्विक परंपरा

रैदास ने भारतीय समाज की बुराइयों को खत्म करके एक आदर्श समाज बनाने की कल्पना की थी, जहां किसी को कोई कष्ट न हो. टेक्स्ट बुक में उनके बारे में खामोश हैं.
George-Fernandes-Anuj-Dhar-1

जब मुम्बई में दीये से लड़कर हार गया था तूफान!

जार्ज फर्नांडिस ने 48.5 प्रतिशत वोट के साथ मुंबई में एस. के. पाटिल को 40 हजार से ज्यादा वोटों से हराया था. जार्ज की इस जीत ने सिद्ध किया था कि प्रतिद्वंद्वी कितना भी मजबूत क्यों न हो, बिना साधन वाला व्यक्ति भी युक्ति से हरा सकता है.
news on international politics

इमरान ख़ान एक जिहादी टाइम बम पर बैठे हुए हैं, पुलवामा हमले के सबूत मांगना महज बहानेबाज़ी है

दुनिया के अधिकतर देश पाकिस्तान के आचरण को समझते हैं, और यह मौलाना मसूद अज़हर के खिलाफ कार्रवाई की लगभग सार्वभौम मांग से स्पष्ट है.
news on terrorism

पाकिस्तानी खिलाड़ियों को बैंक बैलेंस बढ़ाना आता है, आतंकी हमले पर ग़म जताना नहीं

आए दिन पाकिस्तान के जो खिलाड़ी ये कहते रहते थे कि उन्हें हिन्दुस्तान में सबसे ज्यादा प्यार मिला है, आतंकी हमले पर बोलने से उनकी जुबां किसने सिल दी है?
News on politics

क्या मुलायम सिंह नहीं चाहते कि मायावती और अखिलेश साथ आएं?

राजनीति सत्ता का खेल और इसमें सिद्धांतों की बात बेमानी है. मुलायम सिंह इस बात को न सिर्फ मानते हैं, बल्कि इस पर अमल भी करते हैं.

मत-विमत

news on gadge maharaj

समानता और स्वच्छता के पहले प्रतीक गांधी नहीं, संत गाडगे हैं!

गांधी का स्वच्छता अभियान एक राजनीतिक मुहिम थी, जिसका उद्देश्य दलितों को कांग्रेस से जोड़ना था. इसके उलट संत गाडगे बाबा के लिए यह जीवन पद्धति थी.

राजनीति

देश

News on Arch Bishop Cardinal-Oswald

मुंबई के आर्चबिशप जो हो सकते हैं अगले पोप पर यौन उत्पीड़न की शिकायतें नज़रअंदाज़ करने का...

पीड़ित के पिता ने आरोप लगाया है कि आर्चबिशप कार्डिनल ओस्वाल्ड ग्रेशस उनसे मिले ज़रूर पर मामले में कोई कार्रवाई नहीं की और न ही पुलिस को इसकी सूचना दी.

लास्ट लाफ

Gokul-Gopalakrishnan-The-Asian-Age

सऊदी के प्रिंस ने भारत की मदद के लिए बढ़ाया ‘हाथ’, और ‘उत्तेजित’ भारतीय मीडिया

चयनित कार्टून पहले अन्य प्रकाशनों में प्रकाशित किए जा चुके हैं जैसे प्रिंट, ऑनलाइन या सोशल मीडिया पर और इन्हें उचित श्रेय भी मिला है.