scorecardresearch
Saturday, 20 July, 2024
होममत-विमत

मत-विमत

मोदी के लिए ‘जय जवान, जय किसान’ का फंदा, पुनर्जीवित विपक्ष के साथ 5 साल का टेस्ट मैच

मोदी की इस सरकार को भारी चुनौतियों का मुकाबला उस संपूर्ण सत्ता (जिसकी वह आदी हो चुकी थी) के बिना और एक-के-बाद-एक चुनावी चुनौतियों के बीच करना पड़ेगा.

SC के फैसले ने मुस्लिम महिलाओं को तलाक की अर्ज़ी डालने का अधिकार दिया, लेकिन कितनी महिलाएं ऐसा करेंगी

जब तक हम मूल कारण, जो कि व्यक्तिगत नागरिक संहिता है पर बात नहीं करेंगे, मुस्लिम महिलाओं को न्याय नहीं मिल पाएगा.

अब कोई राहुल को मज़ाक नहीं मानता, जब वे बोलते हैं, तो भाजपा हंसती नहीं बल्कि घबराती है

हर दिन कुछ नई निराशाजनक सुर्खियां सामने आती हैं: रेल दुर्घटना, ढहता हुआ हवाई अड्डा, परीक्षा पत्र घोटाला. भाजपा अब केवल शासन के आधार पर वोट नहीं मांग सकती.

करगिल युद्ध की 25वीं वर्षगांठ रक्षा मंत्रालय में बकाया सुधारों की सुध लेने की याद दिलाती है

वर्तमान वैश्विक परिदृश्य में, उभरते खतरों और तकनीकी प्रगति के मद्देनजर एक बेहद सशक्त और लचीले रक्षा संरचना की जरूरत आज सबसे ज्यादा महसूस की जा रही है.

अगर 182 से 6 सीटों पर आना चाहते हो तो हिंदू-मुस्लिम करते रहो- राम विलास पासवान

10 दिसंबर 1998 को, हाजीपुर के तत्कालीन सांसद लोकसभा में कहा था, 'अगर हम 'अल्पसंख्यक' शब्द की सही व्याख्या करना सीख लें, तो हममें यह भावना विकसित हो जाएगी कि हम जिनके खिलाफ लड़ रहे हैं, उनका खून भी हमारे ही जैसा है.'

‘क्या बांग्लादेश सेक्युलर है?’ 1971 के युद्ध में हिंदू नरसंहार का ‘ज़िक्र’ न होना डॉक्युमेंट्री पर सवाल उठाता है

'बे ऑफ ब्लड' दर्शकों को अपनी तरफ खींचने वाली डॉक्यूमेंट्री है, लेकिन अधूरी है. यह 1971 की कहानी के पूर्वी पाकिस्तान के हिंदुओं की टारगेटेड हत्याओं जैसे एक महत्वपूर्ण पहलू को नज़रअंदाज़ करती है.

राहुल गांधी ने अनजाने में ‘अभय मुद्रा’ को इस्लाम से जोड़ दिया, अब्राहमिक धर्म इस मामले में काफी जटिल हैं

अगर हम इस्लामी संस्कृति के हिस्से के रूप में हाथ के प्रतीक पर विशेष रूप से ध्यान केंद्रित करना चाहते हैं, तो यह मध्य पूर्वी मुसलमानों के बीच मौजूद है और इसे हिब्रू में हम्सा और अरबी में खम्सा कहा जाता है.

‘जय भीम, जय संविधान’: वह नारे जो गैर-दलितों से दूर थे, अब संसद में गूंज रहे हैं

आंबेडकर के करीबी रहे दलित नेता बाबू हरदास लक्ष्मणराव नागरले द्वारा बनाए गए ‘जय भीम’ नारे ने कई दलित दलों का उत्कर्ष और पतन देखा और अब इसे गैर-दलित सांसद उस लोकसभा में उठा रहे हैं जिसमें बसपा का कोई सदस्य नहीं है.

मोदी की ‘एक्ट ईस्ट पॉलिसी’ की सफलता के सूत्र सन 1800 के कोलकाता से मिल सकते हैं

भारत अपने पूरब में स्थित आर्थिक शक्तियों से जुड़ना चाहता है तो उसे एक ऐसी ही दुनिया बनने की कल्पना करनी चाहिए जैसी दुनिया 19वीं सदी के कोलकाता की थी. वैश्विक भारत केवल नौकरशाही वाली व्यवस्थाओं से नहीं बनेगा, उसके लिए कल्पना की परियोजना की ज़रूरत होगी.

फोन से निकलने वाली ब्लू लाइट आपकी स्किन के लिए हानिकारक है, ऐसे करें बचाव

त्वचा संबंधी समस्याओं वाले मेरे कई मरीज़ अलग-अलग स्क्रीन के सामने 12 घंटे तक बिताते हैं. इससे त्वचा में जलन, सूजन और अन्य समस्याएं हो सकती हैं.

मत-विमत

राहुल गांधी कांग्रेस में जान फूंक सकते हैं, लेकिन उन्हें दशकों से बनी राजनीतिक छवि से बाहर आना होगा

लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की 99 सीटों पर जीत ने दो दशकों से राहुल गांधी को परेशान कर रहे तीन नुकीले सवालों की धार खत्म तो कर दी है मगर उनके अब तक के सियासी सफर पर भी गौर करना ज़रूरी है.

वीडियो

राजनीति

देश

रामानंद तीर्थ विश्वविद्यालय के पीएचडी छात्रों ने कर्मीर्यों की कमी लगाया आरोप

लातूर (महाराष्ट्र), 20 जुलाई (भाषा) महाराष्ट्र के नांदेड़ स्थित स्वामी रामानंद तीर्थ मराठवाड़ा विश्वविद्यालय में डॉक्टर ऑफ फिलॉसफी (पीएचडी) की पढ़ाई कर रहे कुछ...

लास्ट लाफ

सुप्रीम कोर्ट का सही फैसला और बिलकिस बानो की जीत

दिप्रिंट के संपादकों द्वारा चुने गए दिन के सर्वश्रेष्ठ कार्टून.