Wednesday, 19 December, 2018

मत-विमत

हार के 10 सबक: भाजपा इन्हें सीखने या 2019 हारने का विकल्प चुन सकती है

सबसे पहले, भाजपा को थोड़ा विनम्र होने और यह स्वीकार करने की ज़रूरत है कि उसके पास अब ऐसा कोई सुप्रीम लीडर नहीं है जो कि किसी को भी जिता सके.

भाजपा के चाणक्य अमित शाह की रणनीति को क्या हो गया?

हो सकता है कि अमित शाह कभी इतने बड़े रणनीतिकार नहीं रहे हों और मोदी लहर के कारण उनकी केवल हवा बनाई गई हो.
news on politics

भाजपा को कांग्रेस की है ज़रूरत, उसे ‘कांग्रेस मुक्त भारत’ का नारा छोड़ना चाहिए

हालिया विधानसभा के नतीजों ने ये दिखा दिया है कि भाजपा के जीत के सबसे अच्छे आसार वहां होते हैं जहां कांग्रेस मज़बूत हो. इसलिए भाजपा को अपना कांग्रेस मुक्त भारत का नारा छोड़ देना चाहिए या इसे बदल डालना चाहिए.
News on Politics

भाजपा के पांच तुरुप के पत्ते – चुनावी मशीनरी, मोदी, मंदिर, मीडिया और मनी – सब फेल हो गए?

राजनीति के विद्वान इसे अपनी खास भाषा में चुनावी लोकतंत्र का ‘सेल्फ-करेक्टिंग मैकेनिज़्म’ मतलब आत्म-सुधार की क्षमता कहकर बुलाते हैं. एडम स्मिथ का गढ़ा ‘हिडेन हैंड’ का मुहावरा बड़ा मशहूर है. माना जाता है...

हिंदू नागरिकों ने हिंदू वोटर बनने से इनकार कर दिया

इस चुनाव ने एक बार फिर भारतीय राजनीति के एक तथ्य को स्थापित किया है कि हिंदू वोट बैंक जैसी कोई चीज़ होती नहीं है.
news on modi

‘कांग्रेस मुक्त भारत’ का नारा हवा हुआ, हिंदी पट्टी में कांग्रेस की वापसी

पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने जबरदस्त वापसी की है. रुझानों में कांग्रेस ने भाजपा के तीनों गढ़ छीन लिए हैं.
News on Politics

चुनावी बंदरबाट: स्वागत है आपका केसीआर के तेलंगाना में, जहां भारतीय राजनीति के भविष्य की इबारत लिखी हुई है

हम कोई मज़ाक नहीं कर रहे, बस तेलंगाना में ‘दीवारों पर लिखी इबारत’ पढ़ रहे हैं, जहां केसीआर ने चुनाव से पहले रेवड़ियां बांटने की नई परिभाषा गढ़ दी है, लेकिन चुनाव जीतने के लिए उन्हें और भी बहुत कुछ करना पड़ेगा.

अगर कांग्रेस दो राज्यों में भी जीती तो राहुल गांधी का जनेऊ और मोटा हो जाएगा

मंगलवार को भाजपा शासित तीन राज्यों में से कांग्रेस अगर दो में भी जीत जाती है तो प्रतियोगी हिंदुत्व आम बहसों में चर्चा के केंद्र में होगा.
News on Politics

प्रधानमंत्री मोदी की सबसे बड़ी भूल नोटबंदी नहीं, योगी आदित्यनाथ हैं

योगी आदित्यनाथ मोदी-शाह के भस्मासुर हैं जो विभाजन पैदा कर सकते हैं पर फायदा नहीं दिला सकते. वह मोदी के तात्कालिक राजनीतिक भविष्य को भी बर्बाद कर सकते हैं.
news on politics

मोदी या राहुल को नहीं, तो फिर 2019 में आप किसको वोट देंगे?

ट्रेन में अजनबियों से बातचीत के ज़रिए 2019 के आम चुनाव पर एक नज़र.

मत-विमत

राजनीति

देश

राजग में रार: सीट बंटवारे पर लोजपा ने भी भाजपा पर तरेरी आंखें

सीट बंटवारे को लेकर नाराज उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी राष्ट्रीय लोक समता पार्टी हाल ही में बिहार में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन से अलग हो चुकी है.

लास्ट लाफ

लास्ट लाफ: सज्जन कुमार को उम्रकैद और चौरासी के दंगों का भूत

चयनित कार्टून पहले अन्य प्रकाशनों में प्रकाशित किए जा चुके हैं जैसे प्रिंट, ऑनलाइन या सोशल मीडिया पर और इन्हें उचित श्रेय भी मिला है.