scorecardresearch
Tuesday, 28 May, 2024
होममत-विमत

मत-विमत

नेटफ्लिक्स की चमकीला और ट्रूडो के कनाडा में क्या समानता है? दोनों ही पंजाब की असलियत से दूर है

चमकीला की हत्या से पहले के हफ्तों में हर दूसरे दिन हत्याएं की जा रही थीं. इन सबकी अनदेखी कर देना अगर अपराध नहीं है तो बौद्धिक कायरता है.

मेरी लाल कुर्ती पर आपत्ति जताने से लेकर मोदी के रोड शो की अनुमति देने तक — निर्वाचन आयोग बदल गया है

पश्चिम बंगाल में मैंने कभी भी कम्युनिस्टों को लाल कपड़े पहनकर मतदान केंद्र पर जाते नहीं देखा, न ही टीएमसी को हरे कपड़े पहने और शायद भाजपा के किसी विरले नेता को भगवा पहनकर आते हुए देखा, लेकिन गुजरात से बिल्कुल अलग नज़ारा था, जहां मोदी और अमित शाह भगवा पहनकर वोट डालने पहुंचे थे.

अगर कांग्रेस सच में एक लोकतांत्रिक पार्टी होती, तो सैम पित्रोदा कुछ भी नहीं होते

यह अश्लील है कि भारत से इतना अलग-थलग व्यक्ति उस पार्टी में इतने शक्तिशाली पद पर आसीन था, जिसने भारत के अधिकांश गणतंत्रीय इतिहास पर शासन किया हो.

यह एक नया राहुल गांधी है, इंदिरा की रणनीति पर चलने वाला योद्धा

सोनिया गांधी ने अमीरों को धमकी दिए बिना गरीबों की मदद करने का वादा किया. राहुल गांधी ने उस दृष्टिकोण को खारिज कर दिया और समय में पीछे चले गए हैं: अपनी दादी इंदिरा गांधी की बयानबाजी की ओर.

बीच चुनाव में पलट रही है बाज़ी, तीसरे चरण तक बीजेपी 272 से नीचे खिसकी

दूसरे चरण की तरह, 2024 के लोकसभा चुनाव के तीसरे चरण में भाजपा के नेतृत्व वाले एनडीए की समस्या यह है कि उसके पास बचा के रखने के लिए बहुत सारी सीटें - कुल 93 सीटों में से 80 सीटें - हैं

भाजपा को बंगाली बनने की ज़रूरत है, रोशोगुल्ला से आगे बढ़िए, पान्ताभात खाइए, होदोल कुटकुट को जानिए

पश्चिम बंगाल में ‘घुसपैठिये’ या ‘तुष्टीकरण’ जैसे शब्द बहुत कम सुनाई पड़ते हैं, न ही ‘मंगलसूत्र’ या अमित शाह द्वारा ममता बनर्जी के ‘मां, माटी, मानुष’ नारे को ‘मुल्ला, मदरसा, माफिया’ में बदलने जैसे वाक्या सुनाई देते हैं.

ईरान-इज़रायल युद्ध ले रहा है ‘सभ्यताओं के संघर्ष’ के सिद्धांत का इम्तिहान

पश्चिमी तथा इस्लामी सभ्यताओं के बीच का संघर्ष आज के भू-राजनीतिक नक्शे को परिभाषित कर रहा है.

प्रज्वल रेवन्ना मामला दिखाता है कि राजनेताओं को महिलाओं की सुरक्षा की परवाह नहीं है, वे दोषी हैं

भले ही जेडी(एस) ने अब प्रज्वल रेवन्ना को निलंबित कर दिया है और भाजपा ने खुद को उनसे दूर कर लिया है, लेकिन यह बिल्कुल स्पष्ट है कि सिस्टम ने उन्हें बचाने की कोशिश की है.

मोदी का रिपोर्ट कार्ड कहां है? वह इसे मंगलसूत्र, मुसलमानों के पीछे ध्यान भटकाकर छिपाने की कोशिश में जुटे हैं

चुनाव मंत्री – माफ कीजिएगा, प्रधानमंत्री सच्चाई से वाबस्ता करना पसंद नहीं करते. उन्हें बॉलीवुड की कल्पनाएं, भ्रम के बुलबुले और साफ-सुथरे माहौल में सज धज कर फोटो खिंचवाना पसंद है.

आपका सोना, मंगलसूत्र कौन छीन रहा है? RBI डेटा के हिसाब से यह मोदी हैं

आरबीआई के आंकड़ों के अनुसार, भारतीयों ने 2023-24 में एक लाख करोड़ रुपये से अधिक उधार लेने के लिए अपने सोने के आभूषण गिरवी रखे, जो 2018-19 के मुकाबले लगभग पांच गुना अधिक है.

मत-विमत

शिक्षा, उम्मीदें और 3 तरह के बदलाव: बदलते कश्मीर में वोटिंग और उसकी भावनाएं

कश्मीर घाटी में तीन तरह की टूटन साफ दिखती है— युवा लोग उग्रवाद से टूट रहे हैं, पाकिस्तान से जुड़ाव टूट रहा है, और सुरक्षा एजेंसियां लोगों और हथियारों के बीच के रिश्ते को तोड़ने में सफल हुई हैं

वीडियो

राजनीति

देश

मप्र: झाबुआ जिले में 6.30 करोड़ रुपये की शराब जब्त

झाबुआ (मप्र), 28 मई (भाषा) मध्य प्रदेश के झाबुआ जिले में अलग-अलग घटनाओं में पुलिस और आबकारी अधिकारियों ने दस ट्रकों से करीब 6.30...

लास्ट लाफ

सुप्रीम कोर्ट का सही फैसला और बिलकिस बानो की जीत

दिप्रिंट के संपादकों द्वारा चुने गए दिन के सर्वश्रेष्ठ कार्टून.