scorecardresearch
Wednesday, 29 May, 2024
होममत-विमत

मत-विमत

दूसरे चरण में बीजेपी के लिए बड़ी समस्या, वह काफी सीटों को गंवा सकती है

दूसरे चरण के चुनाव में BJP के भाग्य का फैसला बहुत कुछ कर्नाटक, राजस्थान और महाराष्ट्र में सीटों के लिए हुई चुनावी लड़ाई के नतीजों पर निर्भर है. पिछली बार बीजेपी ने इन राज्यों में बेहतर प्रदर्शन किया था, लेकिन इस बार उसे तगड़ी चुनौती का सामना करना पड़ रहा है.

BJP मुकाबले में सबसे आगे, फिर भी चुनावी मुद्दा तय करने में Modi को डर क्यों

‘लहर’ वाले चुनाव के दौरान मतदाताओं का उत्साह चरम पर होता है. एक बेहतर भविष्य की उम्मीदें रहती हैं, कभी-कभी प्रतिशोध का भाव भी रहता है. इन सबके मद्देनज़र 2024 का चुनाव अप्रत्याशित रूप से मुद्दा विहीन चुनाव नज़र आ रहा है.

SSC घोटाले के बाद ममता बनर्जी का सभी पर आरोप, ज़ाहिर है, जिम्मेदारी मतदाताओं की है

बीते 1,138 दिनों से कम से कम 5,000 लोग मध्य कोलकाता में धरने पर बैठे हैं. सबकी निगाहें सुप्रीम कोर्ट पर टिकी हैं.

भारतीय सिविल सेवाओं में महिलाओं की कमी है, लेकिन यह सरकार की गलती नहीं है

भारतीय सिविल सेवा परीक्षा के लिए न केवल कम महिलाएं आवेदन करती हैं, बल्कि उम्र बढ़ने के साथ-साथ वे दौड़ से पीछे भी हट जाती हैं.

देश को बांटने का काम पीएम मोदी नहीं कर रहे बल्कि दोषी वे हैं जो जाति जनगणना की मांग कर रहे हैं

हालांकि, पुनर्वितरण शब्द का उपयोग नहीं किया गया है, लेकिन निहितार्थ स्पष्ट है: 'जितनी अधिक जनसंख्या, उसके उतने ज्यादा अधिकार'

मिडिल-ईस्ट संकट पर चीन चुप है, तुष्टीकरण के लिए अब इसे एक नया दोस्त मिल गया है

बीजिंग की रणनीति में इज़राइल के साथ सीधे टकराव को दरकिनार करते हुए क्षेत्रीय साझेदारों के साथ अपने तालमेल को संतुलित करना शामिल है.

ईरान-इज़रायल भू-राजनीति की अनदेखी करके जंग लड़ने का मनमर्जी फैसला नहीं कर सकते

दोनों पक्षों के इस रुख का कारण शायद वैश्विक भू-राजनीतिक नक्शे में पश्चिम एशिया की रणनीतिक स्थिति के राजनीतिक तथा सामरिक संदर्भ में छिपा है.

राजीव चन्द्रशेखर आधुनिक हैं, उदारवादी हैं, लेकिन दुखद रूप से भाजपा के धर्मांध वफादार हैं

तिरुवनंतपुरम में राजीव चंद्रशेखर का मुकाबला शशि थरूर से है. वे खुद को एक ऐसे राज्य के लिए प्रचारित कर रहे हैं जिसने परंपरागत रूप से भाजपा के प्रति घृणा दिखाई है.

यह 6 राज्य तय करेंगे, BJP अबकी बार 400 पार करेगी कि विपक्ष उसे 272 का आंकड़ा भी नहीं छूने देगा

इस बार हमारे राजनीतिक भूगोल के बड़े हिस्से में चुनावी मुक़ाबले का नतीजा भले साफ नजर आ रहा हो, मगर कुछ हिस्से में यह मुक़ाबला 2019 के मुक़ाबले से भी ज्यादा तीखा है

‘मोदी के जादू की मियाद पूरी हो गई’ यह मानने वाले भी कहते हैं कि ‘आयेगा तो मोदी ही’

मोदी की मौजूदगी बाकी तमाम मुद्दों को एक किनारे सरका कर लोगों के दिमाग पर छा जाने के मामले में अब नाकाफी है. साधारण राजनीति वापिस आ रही है और लंबे वक्त से दबे चले आ रहे मुद्दे अब सिर उठा रहे हैं.

मत-विमत

शिक्षा, उम्मीदें और 3 तरह के बदलाव: बदलते कश्मीर में वोटिंग और उसकी भावनाएं

कश्मीर घाटी में तीन तरह की टूटन साफ दिखती है— युवा लोग उग्रवाद से टूट रहे हैं, पाकिस्तान से जुड़ाव टूट रहा है, और सुरक्षा एजेंसियां लोगों और हथियारों के बीच के रिश्ते को तोड़ने में सफल हुई हैं

वीडियो

राजनीति

देश

संदेशखालि मामला: शाहजहां शेख के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल करने का विपक्ष ने स्वागत किया

कोलकाता, 28 मई (भाषा) पश्चिम बंगाल में विपक्षी दलों ने केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) द्वारा संदेशखालि में पांच जनवरी को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी)की टीम...

लास्ट लाफ

सुप्रीम कोर्ट का सही फैसला और बिलकिस बानो की जीत

दिप्रिंट के संपादकों द्वारा चुने गए दिन के सर्वश्रेष्ठ कार्टून.