Monday, 6 December, 2021
होमराजनीतिबिहार चुनाव

बिहार चुनाव

बिहार चुनाव में डिजिटल रथ और म्यूजिकल ग्रुप के जरिए लोगों तक पहुंच बनाने की तैयारी में है भाजपा

अपने हाई-टेक कैंपेन और प्रचार के लिए चर्चित भाजपा इन डिजिटल रथों को रणनीतिक तौर पर महत्वपूर्ण जगहों पर तैनात करेगी जहां ज्यादा लोग वरिष्ठ भाजपा नेताओं के भाषण को सुन सकेंगे.

कन्हैया कुमार वाले मुद्दे को पीछे छोड़ आगे बढ़ी आरजेडी और सीपीआई, बिहार चुनाव एक साथ लड़ने की तैयारी

2019 के लोकसभा चुनाव के दौरान सीपीआई ने आरजेडी से कन्हैया कुमार का समर्थन मांगा था और बेगूसराय से उम्मीदवार नहीं उतारने को कहा था लेकिन राजद ने इससे मना कर दिया था.

25 बिहार बीजेपी नेता निकले कोविड पॉज़िटिव, पार्टी ने कहा इसका ई-रैलियों से नहीं है कोई लेना-देना

विपक्ष ने भी बीजेपी पर हमला करने में देर नहीं लगाई, और आरजेडी के तेजस्वी यादव ने कहा, कि पार्टी की दिलचस्पी सिर्फ सत्ता हासिल करने में है, और उसे लोगों की भलाई की कोई परवाह नहीं है.

‘चुनाव आयोग करेगा फैसला’- सुशील मोदी ने अब कहा कि कोविड की स्थिति पर निर्भर करेगा बिहार चुनाव

बिहार चुनाव निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार कराने पर जोर देने के बाद, जबकि विपक्ष इसे थोड़ा टाले जाने की मांग कर रहा था, उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी अब कह रहे हैं कि एनडीए वह फैसला ही मानेगा जो चुनाव आयोग लेगा.

शिक्षा को कोविड ने कैसे प्रभावित किया है और आईसीएमआर की वैक्सीन की रेसिपी

चयनित कार्टून पहले अन्य प्रकाशनों में प्रकाशित किए जा चुके हैं. जैसे- प्रिंट मीडिया, ऑनलाइन या फिर सोशल मीडिया पर.

9,500 आईटी सेल प्रमुख, 72,000 व्हाट्सएप ग्रुप-भाजपा ऐसे कर रही बिहार में चुनावी जंग की तैयारी

बिहार में चुनाव प्रचार के असली योद्धा तो आईटी सेल प्रमुख होंगे, और व्हाट्सएप ग्रुप मतदाताओं को पार्टी के संदेशों और प्रयासों से अवगत कराएंगे.

बिहार चुनाव : जेएमएम ने मांगी 12 सीटें, आरजेडी ने कहा- मीडिया में नहीं तय होगा सीटों का बंटवारा

जेएमएम की बिहार इकाई के प्रभारी प्रणव कुमार ने बताया, ‘बिहार में जेएमएम कुल 40 सीटों पर आरजेडी को फायदा पहुंचा सकता है. यहां आदिवासी वोटर हैं. जिन 12 सीटों पर हम दावा कर रहे हैं, वहां पिछले चुनाव में तीसरे स्थान पर रहे हैं.’

ई-रैली में भाजपा से बराबरी संभव नहीं, बिहार की विपक्षी पार्टियों ने चुनाव आयोग से पारंपरिक रैलियों की इज़ाजत मांगी

बिहार में ज्यादातर विपक्षी दलों के पास वर्चुअल रैलियों के लिए धन और लोगों, दोनों की ही कमी है. यदि पारंपरिक रैलियां प्रतिबंधित रहीं तो इसका मतलब होगा 'अमीर पार्टियों का फायदे में रहना'.

कोरोना महामारी और चीन सीमा संकट के बीच बीजेपी का फोकस बिहार चुनाव पर

अगर एनडीए बिहार जीत लेता है तो वह ये कह पाएगा कि कोराना और चीन के मामले में उसकी नीतियों को जनता का समर्थन हासिल है. इसका फायदा उसे पश्चिम बंगाल समेत अन्य आने वाले विधानसभा चुनावों में भी होगा.

भारतीय राजनेताओं के लिए कोरोनावायरस चिंता का सबब क्यों बन रहा है

पुराने तरीके की ‘टच-एंड-फील’ राजनीति में यकीन करने वाले नेता कोविड संकट के कारण वोटरों तक पहुंचने के अधिक तकनीकी तरीके अपनाने की दुविधा का सामना कर रहे हैं.

मत-विमत

वीडियो

राजनीति

देश

नागालैंड में हत्याओं के बाद पूर्वोत्तर में AFSPA हटाने की मांग ने फिर पकड़ा जोर

‘मणिपुर वीमेन गन सर्वाइवर्स नेटवर्क’ और ‘ग्लोबल अलायंस ऑफ इंडिजिनस पीपल्स’ की संस्थापक बिनालक्ष्मी नेप्राम ने आफस्पा को 'औपनिवेशिक कानून' बताते हुए कहा कि यह सुरक्षा बलों को 'हत्या करने का लाइसेंस' देता है.

लास्ट लाफ

‘फ्री स्पीच चैंपियन’ ममता का बीता हुआ कल और मोदी मुक्का मारने के बजाए चबाने का मज़ा लेते हैं

दिप्रिंट के संपादकों द्वारा चुने गए पूरे दिन के सबसे अच्छे कार्टून