Monday, 24 January, 2022
होमराजनीतिबिहार चुनाव

बिहार चुनाव

आंकड़े बताते हैं- ओवैसी की AIMIM ‘सेक्युलर’ पार्टियों के वोट में सेंध लगाती है पर BJP को जिताने के लिए यह काफी नहीं

ओवैसी की AIMIM ने 2014 और 2019 महाराष्ट्र विधानसभा चुनावों, 2015 बिहार चुनाव, 2017 यूपी चुनावों और 2019 झारखंड चुनावों में 'धर्मनिरपेक्ष' पार्टियों के वोटों में कोई खास सेंध नहीं लगाया है.

बिहार चुनाव के मद्देनज़र अपने प्रमुख वोटबैंक को साधने के लिए नीतीश कुमार महिलाओं पर मेहरबान

बिहार के मुख्यमंत्री ने शुक्रवार को सात निश्चय पार्ट-2 का ऐलान करते हुए कहा कि अगर दोबारा सत्ता में आए तो ब्लॉक से लेकर राज्य स्तर तक प्रशासन में महिलाओं का प्रतिनिधित्व सुनिश्चित करेंगे.

मोदी अगर सच्चे सुधारक हैं तो वे वोडाफोन के प्रेत को दफन करेंगे और बिहार के चुनाव प्रचार में आर्थिक सुधारों को मुद्दा बनाएंगे

हम देख चुके हैं कि चुनावों में आर्थिक सुधारों और वृद्धि आदि की बात करने का क्या हश्र होता है, खासकर तब जब आप दोबारा सत्ता में आने के लिए लड़ रहे हों, इसलिए बिहार के इस अहम चुनाव में कोई ‘पंगा’ न लेना ही मोदी को मुफीद नज़र आएगा.

चुनाव आयोग आज कर सकता है बिहार विधानसभा चुनाव की तारीखों की घोषणा

चुनाव आयोग ने कहा है कि वह शुक्रवार यानी आज दोपहर साढ़े 12 बजे एक संवाददाता सम्मेलन करेगा. हालांकि यह नहीं बताया गया है कि प्रेस कांफ्रेंस का मकसद क्या है.

बिहार चुनाव के मद्देनज़र हरिवंश कैसे बन गए राज्य के सम्मान और गरिमा का मुद्दा

बिहार से कांग्रेस पार्टी के राज्य सभा सांसद अखिलेश प्रसाद सिंह ​ने दिप्रिंट से कहा, 'भाजपा हर विषय को बिहार चुनाव से जोड़ रही है. जबकि इसका बिहार से कोई लेना देना नहीं है.'

चिराग, तेजस्वी से हमले के बाद नीतीश की जेडीयू ‘मिशन दलित योजना’ से युवाओं को करेगी टारगेट

अक्टूबर में युवा मतदाताओं पर विशेष ध्यान देने के साथ शुरू किए जाने वाले मिशन के हिस्से के रूप में नीतीश की जेडीयू द्वारा दलितों के लिए किए गए काम को बुकलेट, सम्मेलन और बैठकों के माध्यम से बताया जायेगा.

कंगना रनौत का ‘जज्बा’, टीवी चैनलों के लिए ऑस्कर और बिहार चुनाव का ‘गेम’ 

चयनित कार्टून पहले अन्य प्रकाशनों में प्रकाशित किए जा चुके हैं. जैसे- प्रिंट मीडिया, ऑनलाइन या फिर सोशल मीडिया पर.

प्रचार पर ज्यादा खर्च कर पाएंगे बिहार के नेता, चुनावी खर्च की सीमा 10-15% बढ़ा सकता है चुनाव आयोग

चुनाव आयोग की बढ़ी हुई सीमा कोविड के दौरान सभी चुनावों पर लागू होगी जिनमें एमपी उप-चुनाव भी शामिल हैं. फिलहाल, हर उम्मीदवार के लिए ये सीमा लोकसभा चुनावों में 50 लाख से 70 लाख और विधानसभा चुनावों के लिए 20 से 28 लाख है.

यदि नीतीश अकेले अपने बलबूते पर चुनाव लड़ते हैं तो वह दहाई अंक में भी सीट नहीं जीत पायेंगे: तेजस्वी

कुमार ने जदयू की डिजिटल रैली में लालू प्रसाद और उनके परिवार पर करार प्रहार किया था और 15 साल के ‘पति-पत्नी राज (लालू-राबड़ी शासन) एवं अपने शासन के बीच विकास की गति को लेकर तुलनात्मक आंकड़े पेश किये थे.

दलबदल कानून में बदलाव और वैकल्पिक सरकार से तय हो सकती है ‘एक देश एक चुनाव’ की राह: चुनाव आयुक्त सुशील चंद्रा

चुनाव आयुक्त सुशील चंद्रा ने दिप्रिंट को बताया कि वन नेशन वन पोल ‘कल्पनीय विचार’ है लेकिन इस पर राजनीतिक सहमति सबसे अहम है क्योंकि इसके लिए संवैधानिक संशोधनों की आवश्यकता होगी.

मत-विमत

उत्तर प्रदेश में सियासी जमीन तलाशती मायावती की चुनावी रणनीतियां

इस चुनाव में प्रभावी तरीके से जोर अजमाइश के लिए तथा ब्राह्मण मतदाताओं को साधने के लिए मायावती ने अभी तक यूपी के सभी जिलों में ‘प्रबुद्ध सम्मेलन’ कर चुकी हैं.

वीडियो

राजनीति

देश

सेबी ने पीएफएस को बोर्ड बैठक से पहले कॉरपोरेट प्रशासन से जुड़े मुद्दे हल करने को कहा

नयी दिल्ली, 24 जनवरी (भाषा) भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (सेबी) ने पीटीसी इंडिया फाइनेंशियल सर्विसेज (पीएफएस) से कहा है कि वह बोर्ड...

लास्ट लाफ

दलित के घर खाने का तमाशा और जोकोविच नेट पर अकेले खड़े हैं

दिप्रिंट के संपादकों द्वारा चुने गए दिन के सबसे अच्छे कार्टून्स.