Tuesday, 18 January, 2022
होममत-विमत

मत-विमत

इमरान खान के वैवाहिक जीवन में उथल पुथल करने वाले कुत्ते की कहानी- उनकी पूर्व पत्नी की ज़ुबानी

मुझे ऐसा शक है कि मेरी जिंदगी में जो परेशानियाँ आईं उसकी एक वजह शेरू की संतान मोटू भी हो सकता है। लेकिन, मोटू घर में रहने वाले कुत्तों में से नहीं है।

सरोज खान की टिप्पणी के बाद अब बॉलीवुड के #MeToo का समय आ गया है

भाई-भतीजावाद परिवारों के युवराजों में से एक युवराज, रणबीर कपूर,का कहना है कि यदि बॉलीवुड में कास्टिंग काउच हो रहा है तो यह वास्तव में बहुत निराशाजनक है।

नॉर्थकोरियन मीडिया की मुख्य फेक न्यूज — टुकड़े-टुकड़े गैंग

हमारे ध्रुवीकरण के समय, #टुकडेटुकडेगैंग #नॉर्थकोरियन मीडिया के साथ रण क्षेत्र में है।

आरक्षण आईएएस अफसरों की गुणवत्ता को नहीं करता कम – अमरीकी विद्वानों का मत

अध्ययन से प्राप्त निष्कर्षों में महत्वपूर्ण नीतिगत प्रभाव यह सुझाव देते हैं कि अपने प्रदर्शन से समझौता किए बिना ही नौकरशाह विविधता प्राप्त कर सकते हैं।

ट्रम्प का वीज़ा कंट्रोल कुशल एनआरआई को वापस भारत आने के लिए नहीं करेगा मजबूर; वजह-भारत की जर्जरता

जब विश्व के कुशल और सिद्धहस्त लोग निर्णय लेते हैं कि किस देश में जाना है, भारत वो देश नहीं है जो दिमाग में आए। इसलिए अच्छी खासी संख्या में कुशल अप्रवासी भारतीयों के वापस आने की उम्मीद तो बिलकुल मत कीजिए।

अच्छा पोषण चाहते हैं? पेश है स्वास्थ्य मंत्रालय की यह मांसाहारी और मोटापे पर शर्मिंदगी भरी सलाह

मंत्रालय द्वारा, कुछ ज्यादा ही स्वनिर्णयात्मक अवलोकन करते हुए, ट्वीट्स की एक श्रंखला पोस्ट की गई, कि यह कैसे सुनिश्चित हो कि आप पौष्टिक भोजन का उपभोग करते हैं या नहीं।

मृत्युदंड का अध्यादेश ‘लॉलीपॉप राजनीति’ का एक और उदाहरण है

नया राजनीतिक सूत्र है, यदि आप शिकायत का निवारण नहीं कर सकते हैं, तो रक्त की प्यास को शांत करें| यदि आप समस्या को हल नहीं कर सकते हैं, तो एक और कानून के साथ लोगों को बेवक़ूफ़ बनाओ

पतंजलि की जबरदस्त सफलता का राज़ : नई पीढ़ी के भारतीय युवा

नई पीढ़ी के युवा भारतीय इस हिप्सटर सबकल्चर (स्थापित संस्कृति) को खूब गले लगा रहे हैं और जितना कि इस संस्कृति से पतंजलि को...

नेहरू की जगह यदि मोदी भारत के पहले पीएम होते तो भारत मूर्खता विज्ञान का गढ़ बन जाता

नरेन्द्र मोदी और उनके साथियों द्वारा नेहरू के भारत को कितना बर्बाद किया जाएगा और कितनी बर्बादियाँ अभी देखना बाकी है। एक अनुशासनहीन और बिखरे हुए विपक्ष का मतलब है कि यह सब अभी लंबे समय तक टिके रहेंगे।

अगर बैंकों को नहीं सुधार सकते तो 8 प्रतिशत की वृद्धि दर को कह दें अलविदा

वित्तीय प्रणाली अभी भी अर्थव्यवस्था पर घसीटी जा रही है जो बैंकिंग के कार्य, विनियमन और निरीक्षण में सुधार की आवश्यकता को रेखांकित करती...

मत-विमत

वीडियो

राजनीति

देश

अबू धाबी में संदिग्ध ड्रोन हमले में दो भारतीयों समेत तीन लोगों की मौत, छह घायल

पिछले कुछ सप्ताह में हूती विद्रोही दबाव में आ गए हैं और भारी नुकसान उठा रहे हैं, जहां यूएई समर्थित यमन के बलों ने देश के प्रमुख दक्षिणी और मध्य प्रांतों में विद्रोही समूहों को खदेड़ दिया है.

लास्ट लाफ

कर्नाटक कांग्रेस की ‘पदयात्रा’ जारी रखने की असली वजह और भारतीय मीडिया से खुश हुआ पाकिस्तान

दिप्रिंट के संपादकों द्वारा चुने गए दिन के सबसे अच्छे कार्टून्स.