मत-विमत

विज्ञान में श्रेष्ठ हुआ भारत, 2017 रहा सुखद सफलताओं भरा वर्ष

2017 में भारतीय अनुसंधानकर्ताओं ने अंतरिक्ष विज्ञान से लेकर जीवन विज्ञान तक में शोध के क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान दिए.

भाई-भतीजावाद से लेकर इरेक्शन तक, बॉलीवुड के सबसे बोल्ड और कमज़ोर पल- 2017

बॉलीवुड की फिल्मों, किरदारों, कहानियों और गपशप ने अपनी अलग ही छाप छोड़ी है. 2017 में बॉलीवुड के बेहतरीन और बदतरीन, ए से ज़ेड तक

समय आ गया है कड़े कदम उठाए जाएं- बजट बढ़ाएं या फौज घटाएं

भारत हालांकि अपने बजट का 30 प्रतिशत प्रतिरक्षा पर खर्च करता है लेकिन आधुनिक अस्त्र-शस्त्र की जरूरतें पूरी करने के लिए उसे और संसाधन जुटाने होंगे.

मुकेश और अनिल का व्यावसायिक करियर: बड़े मियाँ तो बड़े मियाँ, छोटे मियाँ…

एक तरफ जहाँ मुकेश अंबानी ने 2017 में दूरसंचार उद्योग में हड़कंप मचा दिया, वहीं छोटे भाई अनिल अंबानी उधार चुकाने के लिए एक के बाद एक व्यवसाय को बेचते रहे

प्यारी हेमा जी! मोदी जी से सीखिए: शोक के वक्त चुप रहते हैं…

कमला मिल की आग का कारण हेमा मालिनी ने अत्यधिक जनसंख्या को बताया. कहीं बेहतर होता अगर वह रिपोर्टर के सवाल को नजरअंदाज कर देतीं और चुप रह जातीं.

कहानी एक शेरदिल आईपीएस अधिकारी की: के.पी.एस. गिल को याद करते हुए

उन्हें कभी अपनी छड़ी के सिवा किसी और चीज के साथ नहीं देखा गया. उनके मुताबिक बंदूक-पिस्तौल रखना पुलिस अधिकारी की कमजोरी की निशानी थी. फिर भी वे जीतते रहे.

मध्यान्तर के बाद, प्रधानमंत्री मोदी के आंसू देते हैं उनके इरादों का पता

अब 2019 लोकसभा चुनाव तक विकास नहीं बल्कि राष्ट्रवाद, हिंदुत्व और भ्रष्टाचार के खिलाफ जंग के इर्दगिर्द घूमेगी मोदी की राजनीति.

इन नाजुक भावनाओं, जो हर बात पर आहत हो जाती हैं, का क्या करें?

हम भावनाएं आहत होनेवाली ऐसी पीढ़ी के साथ जी रहे हैं जिनको सवाल पूछना नहीं सिखाया गया है. एचओएच यानी ह्युमन्स ऑफ हिंदुत्व उनका ताज़ातरीन शिकार है.

सिर्फ मुंबई ही नहीं, दिल्ली का भी अधिकांश शहरी हिस्सा अग्निकुंड सरीखे हैं

इमारत में आग लगने की हालत में भागने के लिए जगहों की कमी और मॉक फायर ड्रिल न होना अधिकांश शहरों में बेहद आम है. क्या हम सबक सिखने के लिए तैयार हैं?

इस जनवरी से ही शुरू हो जाएगा नरेंद्र मोदी का मिशन-2019

मोदी की लोकप्रियता तो बरकारार है लेकिन 2019 के चुनाव से पहले कांग्रेस में नई जान आ जाती है तो ‘कांग्रेस-मुक्त भारत’ का लक्ष्य हासिल करना आसान नहीं रह जाएगा.

मत-विमत

news on economy

विदेशी कंपनियां भारतीय उद्यमियों की जगह ले रही है, जोकि घूस फांक रहे हैं

सुज़ुकी का आधे कार बाज़ार पर कब्ज़ा है, चीनियों का मोबाइल फोन क्षेत्र पर और कोरियाइयों का उपभोक्ता सामान सेक्टर पर. और एतिहाद शायद जेट को उड़ाने लगे. विदेशी खिलाड़ियों के बिना भला हम कहां रहेंगे?

राजनीति

देश

News on illegal liquor

असम में जहरीली शराब से मरने वालों की संख्या बढ़कर 80 पहुंची

असम में जहरीली शराब से दो और लोगों की मौत होने के साथ ही इससे मरने वालों की संख्या 80 हो गई है. वहीं 300 से अधिक लोगों का इलाज़ चल रहा है.

लास्ट लाफ

Gokul-Gopalakrishnan-The-Asian-Age

सऊदी के प्रिंस ने भारत की मदद के लिए बढ़ाया ‘हाथ’, और ‘उत्तेजित’ भारतीय मीडिया

चयनित कार्टून पहले अन्य प्रकाशनों में प्रकाशित किए जा चुके हैं जैसे प्रिंट, ऑनलाइन या सोशल मीडिया पर और इन्हें उचित श्रेय भी मिला है.