Tuesday, 18 January, 2022
होम2019 लोकसभा चुनाव

2019 लोकसभा चुनाव

पीएम नरेंद्र मोदी आज वाराणसी पहुंचे, भारी जीत के लिए कार्यकर्ताओं को जताएंगे आभार

गुजरात में कार्यकर्ताओ और जनता को शत प्रतिशत नतीजे देने के लिए आभार व्यक्त करने, अपनी मां का आशिर्वाद ले आज मोदी वाराणसी की जनता का आभार व्यक्त करेंगे.

मीम महज मजाक के लिए नहीं, अब ये बन गए हैं राजनीतिक हथियार

मीम कई बार किसी के रंग, भाषा, लिंग और जाति का मजाक बनाते हैं और इनका नेचर अपमानजनक होता है.

कांग्रेस ने आम आदमी पार्टी को तीसरे नंबर पर खिसकाया, बदल सकती है दिल्ली की राजनीति

2015 में भारी बहुमत से सरकार बनाने वाली प्रदेश की सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी (आप) लोकसभा चुनावों में 70 विधानसभा क्षेत्रों में से एक पर भी बढ़त नहीं बना सकी.

2019 आम चुनाव नतीजे: मतदाताओं को पति-पत्नी का ‘साथ’ पसंद नहीं

बिहार से इस लोकसभा चुनाव में दो दंपति ने संसद पहुंचने की कोशिश की. लेकिन मतदाताओं ने न सिर्फ 'सजनी' को नकार दिया, बल्कि उनको 'सैंया' भी पसंद नहीं आए.

जगनमोहन रेड्डी पीएम मोदी से मिले, मुद्दों पर बाहर से देंगे एनडीए का साथ

रेड्डी की वाईएसआर कांग्रेस ने आंध्र प्रदेश के विधानसभा चुनाव में भारी विजय हासिल कर 175 में से 151 सीटें जीती है और 25 लोकसभा में से 22 सीटें हासिल की है.

अमरिंदर सिंह ने मोदी लहर से कैसे बचाया अपना किला

लोकसभा चुनाव में उत्तर भारत का महज पंजाब अकेला राज्य है जहां नतीजे कांग्रेस के लिए सुखद रहे. अमरिंदर ने पार्टी को राज्य की 13 में से आठ सीटें दिलाई.

बीजेपी के 30 लाख कार्यकर्ता और आईटी सेल जिसने यूपी में गठबंधन की रणनीति नाकाम की

एक कार्यकर्ता को पांच लाभार्थियों की जिम्मेदारी दी गई, जिनसे उन्हें प्रतिदिन मिलना था और जिले के आईटी सेल के एक नंबर पर मिस्ड काल करानी थी.

पहली बार चुनकर आए सांसदों को मोदी की सलाह- ‘यहां कुछ भी ऑफ रिकार्ड नहीं होता’

मोदी ने नए सांसदों को वीआईपी कल्चर से बच कर रहने की भी सलाह दी. हम न हमारी हैसियत से जीतकर आते हैं, न कोई वर्ग हमें जिताता है, न मोदी हमें जिताता है. हमें सिर्फ देश की जनता जिताती है.

जवां होते भारत की ‘लोकसभा’ में घटी युवाओं की तादाद, महज पहुंचे 12 फीसदी

दक्षिण बेंगलूरू से भाजपा के टिकट पर लड़ने वाले तेजस्वी सूर्या 28 वर्ष के सबसे कम उम्र के सांसद बने हैं. महिला सांसदों में सबसे कम उम्र की 25 वर्षीय चंद्राणी मुर्मू ओडिशा से हैं.

नवीन पटनायक 29 मई को 5वीं बार लेंगे सीएम की शपथ, ‘पालने से कब्र तक’ लागू की है योजनाएं

नवीन पटनायक ने अपने करियर में कई तूफान झेले और अपने 19 साल के शासन में उन्होंने विभिन्न कारणों से लगभग 50 नेताओं को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखाया है.

मत-विमत

वीडियो

राजनीति

देश

अबू धाबी में संदिग्ध ड्रोन हमले में दो भारतीयों समेत तीन लोगों की मौत, छह घायल

पिछले कुछ सप्ताह में हूती विद्रोही दबाव में आ गए हैं और भारी नुकसान उठा रहे हैं, जहां यूएई समर्थित यमन के बलों ने देश के प्रमुख दक्षिणी और मध्य प्रांतों में विद्रोही समूहों को खदेड़ दिया है.

लास्ट लाफ

कर्नाटक कांग्रेस की ‘पदयात्रा’ जारी रखने की असली वजह और भारतीय मीडिया से खुश हुआ पाकिस्तान

दिप्रिंट के संपादकों द्वारा चुने गए दिन के सबसे अच्छे कार्टून्स.