Wednesday, 8 December, 2021
होम2019 लोकसभा चुनावसोनिया गांधी बनी कांग्रेस संसदीय दल की नेता, सीपीपी बैठक में लिया गया निर्णय

सोनिया गांधी बनी कांग्रेस संसदीय दल की नेता, सीपीपी बैठक में लिया गया निर्णय

25 मई को हुई कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक के बाद यह पहली आधिकारिक बैठक है, जिसमें कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी शामिल हो रहे हैं.

Text Size:

नई दिल्ली:  कांग्रेस संसदीय पार्टी की बैठक में सोनिया गांधी को अपना अध्यक्ष चुन लिया है. शनिवार को पार्टी के नवनिर्वाचित सांसदों की बैठक में संसद के सेंट्रल हॉल में चल रही बैठक में सोनिया को एकबार फिर से पार्टी का अध्यक्ष चुन लिया गया है.

बता दें कि आम चुनाव में मिली करारी हार के बाद से ही राहुल गांधी इस पद से इस्तीफा दे चुके थे. जिसके बाद देश के कार्यकर्ता और वरिष्ठ नेता उन्हें मनाने में जुटे थे लेकिन लगता है आखिरकार राहुल नहीं माने और पार्टी ने सोनिया गांधी को अपना नेता चुन लिया है. लोकसभा चुनाव में लगातार दूसरी बार हार का सामना कर रही कांग्रेस पार्टी शनिवार को सीपीपी (कांग्रेस पार्लियामेंट )

बैठक में पार्टी के सभी 52 नव निर्वाचित लोकसभा सांसद शामिल हुए. साथ ही इस बैठक में राज्यसभा सदस्यों ने भी हिस्सा लिया. संसद के सेंट्रल हॉल में चल रही इस बैठक में कांग्रेस सांसद निचले सदन के लिए अपने नेता का चुनाव किया.

सोनिया पहले भी इसी पद पर थी और आगे भी बनी रहेंगीं. संसदीय दल के सभी सदस्यों ने सोनिया को सर्वसम्मति से अपना ‘नेता’ चुना.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

सोनिया ने भाजपा के दिनेश प्रताप सिंह को 1.67 लाख से अधिक मतों के अंतर से हराकर उत्तर प्रदेश की रायबरेली सीट पर जीत दर्ज की.

कांग्रेस नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने ट्वीट किया, ‘सोनिया गांधी को कांग्रेस संसदीय दल के नेता के रूप में चुना गया है. वह कहती हैं, ‘हम कांग्रेस पार्टी में विश्वास रखने के लिए 12.13 करोड़ मतदाताओं को धन्यवाद देते हैं.’

कांग्रेस संसदीय दल की अध्यक्षता वर्तमान में सोनिया गांधी कर रही हैं. आज होने वाली इस बैठक में आगामी सत्र के लिए अपनी रणनीति भी बनाएगी.

यहां संसद के केंद्रीय कक्ष में यहां सीपीपी की बैठक कांग्रेस में जारी उथलपुथल के बीच हुई क्योंकि लोकसभा चुनाव में पार्टी के निराशाजनक प्रदर्शन के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पद छोड़ने की जिद पर अड़े हुए हैं.

19 साल तक कांग्रेस अध्यक्ष के तौर पर काम करने के बाद 2017 में सोनिया ने पार्टी की कमान बेटे राहुल को सौंपी थी.

सुरजोवाला ने कहा कि बैठक में राहुल भी मौजूद रहे. उन्होंने (राहुल) मतदाताओं को धन्यवाद दिया और कांग्रेस पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा, ‘प्रत्येक कांग्रेस सदस्य को यह याद रखना चाहिए कि आप में से हर कोई शरीर के रंग या धारणा से परे भारत में संविधान के लिए प्रत्येक व्यक्ति के लिए लड़ रहा है.’

राहुल बोले- हमें एक-एक इंच के लिए लड़ाई लड़नी होगी

इस मौके पर राहुल गांधी ने भी नवनिर्वाचित सांसदों को संबोधित किया और कहा है कि हमें आक्रामक बने रहना है. राहुल ने कहा कि हम 52 सांसद सदन में पहुंचे हैं और हम सभी 52 सांसद देश के लिए भाजपा से इंच-इंच की लड़ाई लड़ते रहेंगे. बता दें कि राहुल ने अभी पार्टी अध्यक्ष पद से अपना इस्तीफा वापस नहीं लिया है जबकि उनका इस्तीफा मंजूर भी नहीं किया गया है.

25 मई को हुई कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक के बाद यह पहली आधिकारिक बैठक है, जिसमें कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी शामिल हो रहे हैं.

share & View comments