Saturday, 2 July, 2022
होमहेल्थ

हेल्थ

कोरोना स्ट्रेन: UK, UAE से लौटे नागरिकों ने बढ़ाई चिंता, गोवा और यूपी पहुंचते ही हुए गायब

ब्रिटेन से हाल में लौटे अधिकतर यात्रियों के मोबाइल फोन बंद होने से स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी परेशान हैं और वह उन्हें तलाशने की कोशिश कर रहे है.

कोरोनावायरस संक्रमण से उबरने के बाद कम से कम छह महीने तक बनी रहती है रोग प्रतिरोधक क्षमता: अध्ययन

अनुसंधानकर्ताओं ने पाया कि संक्रमण के बाद जिन लोगों के शरीर में एंटीबॉडी मौजूद हैं, उनमें संक्रमण का खतरा काफी कम है, तथा यह सुरक्षा टीके से मिलने वाली सुरक्षा की तरह ही है.

कोविड-19 से बचना है तो मास्क के साथ जरूरी है सोशल डिस्टेंसिंग भी: अध्ययन

अनुसंधानकर्ताओं ने कहा कि मास्क से इन कणों का अधिकतर हिस्सा रोका जा सकता है लेकिन इसके बावजूद कुछ कण होते हैं जो मास्क को पार कर सकते हैं और वे दूसरे व्यक्ति को बीमार करने के लिए पर्याप्त हैं.

UK में कोविड में हुए म्यूटेशन से घबराने की जरूरत नहीं, भारत में नहीं मिला अब तक ऐसा वायरस- डॉ. वी के पॉल

नीति आयोग के सदस्य (स्वास्थ्य) डॉ. वी के पॉल ने कहा कि ब्रिटेन में मिले कोरोनावायरस (सार्स कोव-दो स्ट्रेन) के नए स्वरूप से टीका के विकास पर कोई असर नहीं पड़ेगा.

कोरोनावायरस के नये स्ट्रेन को लेकर दिल्ली और UP सरकार अलर्ट पर, विदेश से आए लोगों के लिए जारी किए निर्देश

यूपी के सीएम ने कहा कि जिन देशों में वायरस का नया स्वरूप सामने आया है, ऐसे देशों से पिछले 15 दिन में प्रदेश में आए लोगों के सम्पर्क में आये व्यक्तियों का पता लगाया जाए तथा उन्हें क्वारेंटाइन किया जाए.

देश में Covid-19 के 24,337 नए मामले, कुल संख्या 1 करोड़ 55 हजार 560 हुई

केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार 333 और लोगों की मौत के बाद मृतकों की संख्या बढ़कर 1,45,810 हो गई है.

भारत में 1 करोड़ स्वास्थ्यकर्मी, 2 करोड़ फ्रंटलाइन वर्कर समेत 30 करोड़ लोगों को पहले दी जाएगी कोविड-19 वैक्सीन : डॉ. हर्षवर्धन

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ.हर्षवर्धन ने कहा भारत सरकार पिछले चार महीनों से राज्य सरकारों के साथ मिलकर राज्य, ज़िला और ब्लॉक स्तर पर वैक्सीनेशन के लिए तैयारियां कर रही है.

कोविड टीकाकरण के लिए भारत जैसी चुनौती का सामना कोई नहीं कर रहा- सरकारी पैनल के प्रमुख वीके पॉल

नीति आयोग के सदस्य पॉल का कहना है कि मुख्य समस्याएं हैं- लॉजिस्टिक और तकनीकी चुनौतियां, गलत जानकारियों का डर और विपरीत दुष्प्रभावों का ‘वैश्विक हौआ’.

बेपरवाह लोग, उलझाऊ नियम और लड़खड़ाती व्यवस्था- कोविड मरीजों के इलाज में लगी नर्सों के कैसे रहे अनुभव

महामारी के दौरान नर्सें अपने परिवारों से दूर रहते हुए मरीज़ों की मांगों, स्टाफ की कमी और हर दूसरे हफ्ते क्वारेंटाइन में रहने के मनोवैज्ञानिक असर से जूझती रही हैं.

पिछले 13 दिनों में हर दिन 500 से भी कम हुईं मौतें, कोविड-19 से ठीक हुए मरीजों की संख्या 95 लाख के पार

प्रतिदिन कोविड-19 से ठीक होने वाले लोगों की संख्या, संक्रमितों की संख्या से अधिक सामने आ रही है जिससे उपचाराधीन मरीजों की संख्या लगातार घट रही है और ठीक होने वाले लोगों की कुल संख्या में वृद्धि हो रही है.

मत-विमत

वीडियो

राजनीति

देश

गहलोत ने केन्द्र सरकार से जीएसटी क्षतिपूर्ति की अवधि जून 2027 तक बढ़ाने की मांग की

जयपुर,एक जुलाई (भाषा) राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने केन्द्र सरकार से जीएसटी क्षतिपूर्ति की अवधि को जून 2022 से 5 वर्ष बढ़ाकर जून...

लास्ट लाफ

महाराष्ट्र की राजनीति का रिमोट किसके हाथ? और शिवसेना पर आखिर किसका दावा चलेगा

दिप्रिंट के संपादकों द्वारा चुने गए पूरे दिन के सबसे अच्छे कार्टून.