Monday, 8 August, 2022

शीला भट्ट

Avatar
3 पोस्ट0 टिप्पणी

मत-विमत

अल-जवाहिरी की मौत के बाद भी तालिबान अल-कायदा को नहीं छोड़ेगा, काबुल सुरक्षित पनाहगाह है

तालिबान में व्यावहारिक नजरिया रखने वाले अंतरराष्ट्रीय मान्यता और राष्ट्र-निर्माण में मदद हासिल करने के खातिर वैश्विक जेहाद से नाता तोडऩे को तैयार हैं, मगर यह इतना आसान नहीं.

वीडियो

राजनीति

देश

त्यागी की ‘गुंडागर्दी’ पर भाजपा के नेता मौन क्यों हैं: कांग्रेस

नयी दिल्ली, आठ अगस्त (भाषा) कांग्रेस ने नोएडा में एक महिला से अभद्रता के आरोपी श्रीकांत त्यागी के मामले को लेकर सोमवार को...

लास्ट लाफ

विपक्ष के लिए ED का ‘अनचाहा प्यार’ और महाराष्ट्र को एक कारपेंटर की आवश्यकता क्यों है

दिप्रिंट के संपादकों द्वारा चुने गए पूरे दिन के सबसे अच्छे कार्टून.