Monday, 24 January, 2022
होमराजनीतिबिहार चुनावसमस्तीपुर की हसनपुर सीट से तेज प्रताप यादव ने 20 हजार से ज्यादा वोटों से जीत हासिल की

समस्तीपुर की हसनपुर सीट से तेज प्रताप यादव ने 20 हजार से ज्यादा वोटों से जीत हासिल की

बिहार के स्वास्थ्य मंत्री रह चुके तेज प्रताप का यहां जदयू के राज कुमार राय और लोजपा के मनीष कुमार साहनी के साथ मुकाबला में थे.

Text Size:

नई दिल्ली: राष्ट्रीय जनता दल प्रमुख लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव ने समस्तीपुर जिले में अपनी विधानसभा सीट हसनपुर से जीत हासिल कर ली है.

चुनाव आयोग के आंकड़ों के अनुसार दो बार से सिटिंग विधायक जदयू के राज कुमार राय को उन्होंने 21,139 वोटों से हराया.

बिहार के स्वास्थ्य मंत्री रह चुके तेज प्रताप का यहां जदयू के राज कुमार राय और लोजपा के मनीष कुमार साहनी के साथ मुकाबला है.

2015 में तेज प्रताप ने वैशाली की महुआ विधानसभा सीट से चुनाव लड़ा था. उन्होंने हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा के रविंद्र राय को पछाड़कर जीत हासिल की थी. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक तेजप्रताप ने इन अफवाहों के बाद महुआ सीट के बजाये हसनपुर से चुनाव लड़ने का फैसला किया कि महुआ से उनकी पूर्व पत्नी ऐश्वर्या राय चुनाव मैदान में उतरने वाली हैं.

ऐश्वर्या राय पूर्व विधायक चंद्रिका राय की बेटी हैं, जो बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री दरोगा प्रसाद राय के पुत्र हैं. चंद्रिका राजद से जुड़े रहे थे लेकिन बेटी ऐश्वर्या के तलाक के बाद जदयू के पाले में चले गए.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

ऐश्वर्या ने पूर्व में यादव परिवार पर घरेलू हिंसा का आरोप लगाया था. तलाक को लेकर यादव परिवार के साथ कड़वाहट भरी लड़ाई के बाद यह चुनाव अभियान तब एक निजी जंग में बदल गया जब ऐश्वर्या ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के समर्थन में प्रचार किया.

हालांकि, जदयू की तरफ से महुआ सीट पर ऐश्वर्या को मैदान में नहीं उतारा गया था. इसके बजाये उसने राजद के पूर्व मंत्री इलियास हुसैन की बेटी अस्मा परवीन को अपना उम्मीदवार बनाया. महुआ में एक मुस्लिम प्रत्याशी मैदान में उतारकर जदयू ने भाजपा के पारंपरिक वोटों और मुस्लिम वोट बैंक दोनों को हासिल करने का प्रयास किया है. ऐसे में महुआ तेज प्रताप को मैदान में उतारने के लिए लिहाज से जोखिम भरा निर्वाचन क्षेत्र बन गया था. वहीं हसनपुर सीट, जिसे यादवों का गढ़ माना जाता है, में तेज प्रताप की जीत की संभावना अधिक मानी जा रही है.

उधर, छोटे भाई और राजद के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार तेजस्वी यादव को वैशाली के राघोपुर निर्वाचन क्षेत्र में भाजपा के सतीश कुमार के खिलाफ मैदान में हैं.


यह भी पढ़ें: बिहार में जीत हो या हार, बीजेपी प्रदेश की राजनीति में अपनी जगह मजबूत करेगी चाहे ये नीतीश की कीमत पर ही क्यों न हो


 

share & View comments