scorecardresearch
Sunday, 14 July, 2024
होमदेशरैली निकालने पर अड़ी BHP, नूंह के DC ने हरियाणा सरकार से मोबाइल इंटरनेट बंद करने को लेकर लिखा पत्र

रैली निकालने पर अड़ी BHP, नूंह के DC ने हरियाणा सरकार से मोबाइल इंटरनेट बंद करने को लेकर लिखा पत्र

इस सप्ताह की शुरुआत में, नूंह प्रशासन ने वीएचपी को अपनी बृजमंडल जलाभिषेक यात्रा फिर से शुरू करने की अनुमति देने से इनकार कर दिया था. यह वही रैली है जिसके बाद 31 जुलाई को जिले में सांप्रदायिक हिंसा भड़क गई थी.

Text Size:

गुरुग्राम: नूंह प्रशासन ने शुक्रवार को हरियाणा सरकार को पत्र लिखकर जिले में मोबाइल इंटरनेट सेवाओं को निलंबित करने की मांग की, क्योंकि विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी) अपनी बृजमंडल जलाभिषेक यात्रा को फिर से शुरू करने पर अड़ी हुई है.

मंगलवार शाम को जिला प्रशासन ने 28 अगस्त को होने वाली वीएचपी की यात्रा को अनुमति देने से इनकार कर दिया था. इससे पहले, 13 अगस्त को पलवल में एक ‘महापंचायत’ में मौजूद लोगों ने घोषणा की थी कि यात्रा किसी भी कीमत पर निर्धारित तिथि पर आयोजित की जाएगी.

नूंह के उपायुक्त धीरेंद्र खडगटा ने हरियाणा के अतिरिक्त मुख्य सचिव (गृह) को लिखा, “आपके संज्ञान में लाया गया है कि जिले में 28 अगस्त को ब्रज मंडल शोभा यात्रा के लिए सर्व जातीय हिंदू महापंचायत का आह्वान किया गया है. आंदोलन तथा सार्वजनिक और निजी संपत्ति को हुए नुकसान को ध्यान में रखते हुए, असामाजिक तत्वों द्वारा अफवाहें फैलाने के लिए सोशल मीडिया/बल्क संदेशों के दुरुपयोग की आशंका है.”

पत्र में 25 अगस्त की शाम से 29 अगस्त की शाम तक इंटरनेट सेवाएं रोकने का अनुरोध किया गया है.

उन्होंने कहा, “इसलिए, किसी भी अप्रिय स्थिति से बचने के लिए नूंह जिले में इंटरनेट और बल्क एसएमएस सेवाओं को निलंबित करना आवश्यक है.”

31 जुलाई को नूंह में हिंसा भड़कने के बाद वीएचपी ने अपनी यात्रा रोक दी थी. नूंह में शुरू हुई हिंसा बढ़ते-बढ़ते निकटवर्ती गुरुग्राम और फ़रीदाबाद तक पहुंच गई थी. हिंसा में छह लोग मारे गए थे और 80 से अधिक लोग घायल हो गए थे.

बाद में, खडगटा ने दिप्रिंट को बताया कि मोबाइल इंटरनेट सेवाओं को निलंबित करने का अनुरोध “एहतियाती उपाय के रूप में और सोशल मीडिया के माध्यम से अफवाहों के प्रसार को रोकने के लिए” किया गया था.

जुलाई की यात्रा से पहले, स्वयंभू निगरानीकर्ताओं बिट्टू बजरंगी और मोनू मानेसर द्वारा मैसेज शेयर किए गए थे, जिनके बारे में आरोप लगाया गया था कि इससे कार्यक्रम से पहले भीड़ बढ़ गई थी. जवाब में मुस्लिम पक्ष की ओर से भी वीडियो संदेश जारी किये गये.

यात्रा के दौरान तलवारें और हथियार ले जाने और पुलिस पर हमला करने के आरोप में न्यायिक हिरासत में बंद बजरंगी ने मुसलमानों को संबोधित करते हुए एक उत्तेजक वीडियो पोस्ट किया था. मानेसर ने दो वीडियो जारी किए थे, लेकिन वह कार्यक्रम में शामिल नहीं हुए थे.

इस बीच, वीएचपी के सोशल मीडिया प्रमुख अनुराग कुलश्रेष्ठ ने कहा कि यात्रा सोमवार को होकर रहेगी.

उन्होंने दिप्रिंट से कहा, “हमें अपने मंदिरों में जाने के लिए किसी अधिकारी से अनुमति की जरूरत नहीं है. ब्रज मंडल जल अभिषेक यात्रा निकालना हमारा धार्मिक मामला है और हम 28 अगस्त को ऐसा करेंगे. यह यात्रा सर्व समाज हिंदू महापंचायत के आह्वान पर आयोजित की जा रही है, जिसने पलवल के पोंडरी गांव में बैठक कर इसका आह्वान किया था. यात्रा घोषणा के अनुसार उसी तिथी पर आयोजित की जाएगी और नल्हड़, फिरोजपुर झिरका और पुन्हाना मंदिरों तक जाएगी.”

(संपादन: ऋषभ राज)

(इस ख़बर को अंग्रेज़ी में पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें)


यह भी पढ़ें: मदुरै स्टेशन पर लखनऊ से रामेश्वरम जा रही ट्रेन में भयंकर आग, 10 की मौत, 20 गंभीर रूप से घायल


 

share & View comments