scorecardresearch
Wednesday, 24 July, 2024
होमदेशसेंट्रल रेलवे ने ब्रॉड गेज नेटवर्क का 100% विद्युतीकरण किया, पीएम मोदी ने कहा- 'बेहतरीन उपलब्धि'

सेंट्रल रेलवे ने ब्रॉड गेज नेटवर्क का 100% विद्युतीकरण किया, पीएम मोदी ने कहा- ‘बेहतरीन उपलब्धि’

रेलवे ने ब्रॉड गेज मार्गों के विद्युतीकरण की योजना बनाई है, जो डीजल कर्षण को समाप्त करेगा, जिसके परिणामस्वरूप पर्यावरण प्रदूषण में कमी आएगी.

Text Size:

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को पूरे ब्रॉडगेज नेटवर्क में 100 प्रतिशत विद्युतीकरण को हासिल करने के लिए सेंट्रल रेलवे की टीम की सराहना की.

पीएम ने सेंट्रल रेलवे के ट्वीट का जवाब देते हुए एक ट्वीट में कहा, ‘बेतरीन उपलब्धि, पूरी टीम को बधाई.’

सेंट्रल रेलवे के अनुसार, इसने सभी ब्रॉड गेज मार्गों पर 100 प्रतिशत रेलवे विद्युतीकरण हासिल कर लिया है जो लगभग 3825 किलोमीटर है.

सोलापुर डिवीजन पर सेंट्रल रेलवे के अंतिम गैर-विद्युतीकृत खंड यानी औसा रोड- लातूर रोड (52 आरकेएम) को इस साल 23 फरवरी को विद्युतीकृत किया गया था.

सेंट्रल रेलवे ने कहा, ‘सेंट्रल रेलवे अब सभी ब्रॉड गेज मार्गों पर पूरी तरह से विद्युतीकृत हो गया है, जिससे हर साल 5.204 लाख टन कार्बन फुटप्रिंट कम करने में मदद मिली है और सालाना 1670 करोड़ रुपये की बचत भी हुई है. रेलवे विद्युतीकरण की गति पर्यावरण के अनुकूल है और प्रदूषण को कम करती है.’

रेलवे ने ब्रॉड गेज मार्गों के विद्युतीकरण की योजना बनाई है, जो डीजल कर्षण को समाप्त करेगा, जिसके परिणामस्वरूप पर्यावरण प्रदूषण में कमी आएगी.

रेलवे में 3 फरवरी 1925 को हार्बर लाइन पर तत्कालीन बॉम्बे विक्टोरिया टर्मिनस (अब छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस) और कुर्ला के बीच भारत में पहली इलेक्ट्रिक ट्रेन चली थी.

सेंट्रल रेलवे के महाप्रबंधक नरेश लालवानी ने कहा, ‘रेलवे पर्यावरण के अनुकूल, कुशल, लागत प्रभावी, समयनिष्ठ और यात्रियों के आधुनिक वाहक के साथ-साथ माल ढुलाई की बढ़ती जरूरतों को पूरा करने के ऐतिहासिक दृष्टिकोण से काम कर रहा है. इससे ईंधन बिल में भी काफी कमी आएगी और प्रदूषण कम होगा.’


यह भी पढ़ें: 53 फर्मों में शेयर घटाकर 51% किए- BOB ने दिखाया कि कैसे विनिवेश से सरकार 3.5 लाख करोड़ कमा सकती है


share & View comments