Saturday, 21 May, 2022
होमदेशअर्थजगतFTA भारत और यूएई के लिए फायदेमंद, पीयूष गोयल बोले- व्यापार और निवेश को देंगे बढ़ावा

FTA भारत और यूएई के लिए फायदेमंद, पीयूष गोयल बोले- व्यापार और निवेश को देंगे बढ़ावा

दुबई एक्सपो 2020 के बारे में बात करते हुए गोयल ने कहा कि यह पूरी दुनिया के सामने एक नए भारत और उभरते तकनीकी रूप से संचालित आत्मनिर्भर भारत को प्रदर्शित करने का एक माध्यम है.

Text Size:

दुबई: केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने शुक्रवार को कहा कि भारत और संयुक्त अरब अमीरात (UAE) के बीच प्रस्तावित मुक्त व्यापार समझौते (FTA) में दोनों देशों के लिए व्यापार और निवेश को बढ़ावा देने की काफी संभावनाएं हैं.

उन्होंने साथ ही कहा कि UAE के निवेशक भारत में कारोबार करने को लेकर काफ़ी सकारात्मक हैं.

भारत और यूएई ने पिछले महीने औपचारिक रूप से समझौते पर बातचीत शुरू की थी. इसे आधिकारिक तौर पर व्यापक आर्थिक भागीदारी समझौते (CIPA) का नाम दिया गया है.

दुबई पहुंचे केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने कहा, ‘मैं दोनों देशों के लिए इस समझौते (FTA) में एक बड़ी संभावना देखता हूं. यूएई पूरे अफ्रीका और दुनिया के कई अन्य हिस्सों के लिए एक प्रवेश द्वार है. यूएई में बड़ी संख्या में भारतीय प्रवासी भी हैं और वस्त्र, रत्न-आभूषण, चमड़ा, जूते और खाद्य वस्तुओं जैसे उत्पादों के लिए एक बड़ा बाजार है.’

उन्होंने आगे कहा, ‘मुझे लगता है कि साझेदारी दोनों देशों के लिए फायदेमंद होगी.’

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

दोनों पक्षों ने लाभकारी आर्थिक समझौते तक पहुंचने की इच्छा जाहिर की है. दोनों ने दिसंबर 2021 तक वार्ता समाप्त करने, आंतरिक कानूनी प्रक्रियाओं और सत्यापन के पूरा होने के बाद मार्च 2022 में एक औपचारिक समझौते पर हस्ताक्षर करने का लक्ष्य रखा है.

दुबई एक्सपो 2020 के बारे में बात करते हुए गोयल ने कहा कि यह पूरी दुनिया के सामने एक नए भारत और उभरते तकनीकी रूप से संचालित आत्मनिर्भर भारत को प्रदर्शित करने का एक माध्यम है.

यह एक ऐसे भारत को भी प्रदर्शित करेगा जो पूरी दुनिया के लिए विकास का इंजन बनेगा और जो समान शर्तों पर किसी भी प्रतियोगिता में शामिल होने के लिए तैयार है.

उन्होंने कहा कि एक्सपो में भारत में मौजूद विशाल अवसरों को प्रदर्शित किया जाएगा.

एक अक्टूबर से शुरू हुआ दुबई एक्सपो 2020 अगले छह महीनों में भारत के लिए अपनी संस्कृति और विकास के अवसरों को प्रदर्शित करने का एक अम मंच होगा.


यह भी पढ़ें: आयकर विभाग ने चालू वित्त वर्ष में करदाताओं को 80,086 करोड़ रुपये वापस किये: CBDT


 

share & View comments