scorecardresearch
Tuesday, 16 July, 2024
होमदेशअर्थजगतरेपो दर यथावत रखने के फैसले से उत्साहित शेयर बाजार में लगातार पांचवें दिन बढ़त

रेपो दर यथावत रखने के फैसले से उत्साहित शेयर बाजार में लगातार पांचवें दिन बढ़त

Text Size:

मुंबई, छह अप्रैल (भाषा) आर्थिक परिदृश्य को लेकर कायम वैश्विक अनिश्चितता के बीच नीतिगत दर में कोई बढ़ोतरी नहीं करने के रिजर्व बैंक के फैसले से घरेलू शेयर बाजारों में बृहस्पतिवार को तेजी का सिलसिला लगातार पांचवें कारोबारी सत्र में भी जारी रहा और दोनों प्रमुख सूचकांक बढ़त के साथ बंद हुए।

रिलायंस इंडस्ट्रीज और एचडीएफसी बैंक एवं एचडीएफसी जैसी दिग्गज कंपनियों में लिवाली तेज होने से भी घरेलू बाजारों में कारोबारी धारणा को मजबूती मिली।

हालांकि, द्विमासिक मौद्रिक समीक्षा के नतीजों की घोषणा के दिन कारोबारी सत्र की शुरुआत गिरावट के साथ हुई लेकिन रेपो दर में कोई वृद्धि नहीं करने के फैसले से बाजार को मजबूती मिली।

बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स कारोबार के अंत में 143.66 अंक यानी 0.24 प्रतिशत चढ़कर 59,832.97 अंक पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान एक समय सेंसेक्स 260.75 अंक यानी 0.43 प्रतिशत तक उछल गया था।

इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी शुरुआती गिरावट से उबरते हुए 42.10 अंक यानी 0.24 प्रतिशत की बढ़त के साथ 17,599.15 अंक पर बंद हुआ।

रिजर्व बैंक ने नीतिगत रेपो दर में कोई बदलाव नहीं करने की घोषणा करते हुए कहा कि दर वृद्धि पर रोक का फैसला केवल इस बैठक के लिए है और जरूरी होने पर ब्याज दर में आगे बढ़ोतरी की जा सकती है।

रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति समिति का रेपो दर स्थिर रखने का फैसला अधिकतर विश्लेषकों के अनुमान से अलग रहा। विश्लेषकों ने इस बैठक में भी 0.25 प्रतिशत की वृद्धि किए जाने की संभावना जताई थी।

सेंसेक्स में शामिल कंपनियों में से बजाज फाइनेंस में सर्वाधिक 2.95 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई। टाटा मोटर्स, बजाज फिनसर्व, इंडसइंड बैंक, सन फार्मा, महिंद्रा एंड महिंद्रा, भारतीय स्टेट बैंक, लार्सन एंड टुब्रो, एचडीएफसी, एचडीएफसी बैंक, मारुति, रिलायंस इंडस्ट्रीज और भारती एयरटेल के शेयर भी चढ़े।

दूसरी तरफ एचसीएल टेक्नोलॉजीज, एक्सिस बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, टेक महिंद्रा और टाइटन के शेयरों में गिरावट का रुख रहा।

व्यापक बाजार में बीएसई मिडकैप सूचकांक 0.71 प्रतिशत बढ़ गया जबकि स्मालकैप सूचकांक में 0.70 प्रतिशत की तेजी दर्ज की गई।

घरेलू शेयर बाजारों में तेजी का सिलसिला पांचवें दिन भी जारी रहा। इस दौरान सेंसेक्स 2,219 अंक यानी 3.73 प्रतिशत उछला है जबकि निफ्टी ने 647 अंक यानी 4.21 प्रतिशत की बढ़त हासिल की।

कोटक महिंद्रा एसेट मैनेटमेंट कंपनी लिमिटेड के प्रबंध निदेशक नीलेश शाह ने कहा, ‘‘आरबीआई के पास दर बढ़ाने या इसपर रोक लगाने का विकल्प था। ब्याज दर स्थिर रखने का फैसला पूरी तरह अप्रत्याशित नहीं था। अब आरबीआई कोई फैसला लेने के पहले घटनाक्रम एवं आंकड़ों पर नजर रखेगा।’’

स्वस्तिका इन्वेस्टमार्ट लिमिटेड के शोध प्रमुख संतोष मीणा ने कहा कि आरबीआई ने नीतिगत दर संबंधी घोषणा से बाजार को चौंका दिया। हालांकि, इस कदम ने आरबीआई को दुनिया के अन्य केंद्रीय बैंकों से एक कदम आगे कर दिया है।

एशिया के अन्य बाजारों में दक्षिण कोरिया का कॉस्पी, जापान का निक्की और चीन के शंघाई कम्पोजिट में गिरावट आई, जबकि हांगकांग का हैंगसेंग बढ़त के साथ बंद हुआ।

यूरोपीय बाजार सकारात्मक धारणा के साथ कारोबार कर रहे थे। बुधवार को अमेरिकी बाजार गिरावट के साथ बंद हुए थे।

इस बीच, अंतरराष्ट्रीय तेल मानक ब्रेंट क्रूड 0.54 प्रतिशत चढ़कर 84.53 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया।

शेयर बाजार से मिले आंकड़ों के मुताबिक, विदेशी संस्थागत निवेशकों ने बुधवार को 806.82 करोड़ रुपये मूल्य के शेयरों की शुद्ध खरीदारी की।

भाषा प्रेम

प्रेम रमण

रमण

यह खबर ‘भाषा’ न्यूज़ एजेंसी से ‘ऑटो-फीड’ द्वारा ली गई है. इसके कंटेंट के लिए दिप्रिंट जिम्मेदार नहीं है.

share & View comments