scorecardresearch
Sunday, 14 July, 2024

ब्लॉग

शाहीन बाग: गृह मंत्री अमित शाह बताएं कि वो भारत माता के साथ हैं या खिलाफ

भाजपा के आईटी सेल प्रमुख अमित मालवीय ने तो यहां तक दावा किया के शाहीन बाग में औरतें पांच पांच सौ रुपये लेकर बैठ रही हैं. इस बात के बाद इन औरतों को लेकर एक से बढ़कर एक सेक्सिस्ट मीम बने.

गृहमंत्री अमित शाह की कल्पना वाले देश में ना युवा हैं और ना ही युवतियां, सिर्फ ट्रोल्स हैं!

वॉट्सऐप ग्रुप्स पर गृहमंत्री की ऐसी छवि उभरती है जैसे वो प्राचीनकाल के कोई राजा हों जो विश्व जीतने के लिए निकला है. उसके लिए युवाओं का एक ही उपयोग है- सेना में शामिल हो जाना.

अब समझ आ गया है कि मोदी सरकार के समर्थकों की लड़ाई औरतों से है

जेएनयू में फिल्म अभिनेत्री दीपिका पादुकोण के जाने के बाद सरकार के कथित समर्थक बौखला गए. उन्हें सोशल मीडिया पर गालियां देनी शुरू कर दी.

पीएम मोदी की नजरों में झारखंड 19 वर्ष का युवा है, पर उसके पास फोन और इंटरनेट नहीं है

इंटरनेट और मोबाइल एसोसिएशन की रिपोर्ट ‘इंडिया इंटरनेट 2019’ के मुताबिक झारखंड में इंटरनेट का पेनेट्रेशन मात्र 26% है. झारखंड से नीचे सिर्फ बिहार है जहां 25% है. जबकि केरल और दिल्ली में क्रमशः 54% और 69% है.

आर्मी अधिकारियों को नहीं, टीवी चैनलों को कोड ऑफ कंडक्ट की ज़्यादा ज़रूरत है

हाल ही में एक टीवी चैनल पर कार्यक्रम में इंडियन आर्मी से रिटायर्ड मेजर जनरल एसपी सिन्हा ने भड़काऊ बातें बोलते हुए सारी हदें पार कर दीं.

एक दशक में जेएनयू : एमएमएस, किस ऑफ लव और षड्यंत्रकारी रिपोर्ट ने बदल दी इमेज

जेएनयू मुक्त विचारधारा के लिए जाना जाता रहा है. जब लेफ्ट के नेता सीताराम येचुरी जेएनयू में पढ़ते थे तब उन्होंने इंदिरा गांधी का कैंपस में विरोध किया था.

राष्ट्रनिर्माण में व्यस्त हमारी महिला नेता रेप के मामलों पर क्यों नहीं बोलती हैं?

गौरतलब है कि पिछले दिनों अमित शाह ने एक कार्यक्रम में बिल्कुल प्राचीन इतिहास के नायकों की तरह कहा था कि औरतों की ‘इज्जत’ के लिए युद्ध भी करना पड़े तो करेंगे.

एक मिलेनियल लड़की के लिए माइथॉलजी नहीं, अपने हक जानना ज्यादा जरूरी

पहली बात तो ये कि माइथॉलजी ही पुरुषों को केंद्र में रखकर लिखी-कही गई है. इसमें स्त्रियों का ना तो परिप्रेक्ष्य है, ना ही उनसे कुछ पूछा गया है.

लव कुश तो बहाना है, असल मसला तो वाल्मीकि की विरासत है

वाल्मीकि समाज का कहना है कि लव-कुश के कपड़े मॉडर्न क्यों लग रहे हैं. उनकी मांग है कि जब भी ऐसे धारावाहिक बनें तो समाज को स्टेकहोल्डर बनाया जाए.

एक वीडियो ने पुलिसवालों की इमेज प्यारभरी दिखाई, लेकिन इस बात पर पुलिस सिस्टम भड़क उठा

सोशल मीडिया में राजस्थान से प्री-वेडिंग शूट का एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें सब इंसपेक्टर धर्मपाल सिंह अपनी होनेवाली बीवी के साथ फिल्मी रोमांस करते नज़र आ रहे हैं.

मत-विमत

वीडियो

राजनीति

देश

मणिपुर में उग्रवादी हमले में सीआरपीएफ जवान मारा गया

इंफाल, 14 जुलाई (भाषा) मणिपुर के जिरीबाम जिले के मोंगबुंग गांव में रविवार सुबह संदिग्ध उग्रवादियों के हमले में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ)...

लास्ट लाफ

सुप्रीम कोर्ट का सही फैसला और बिलकिस बानो की जीत

दिप्रिंट के संपादकों द्वारा चुने गए दिन के सर्वश्रेष्ठ कार्टून.