Tuesday, 25 January, 2022
होमसमाज-संस्कृति

समाज-संस्कृति

दलित लड़का, मुस्लिम लड़की और ठाकुर पंचायत: यूपी के इस गांव में प्यार ने उड़ा दी है लोगों की नींद

लड़की ने दावा किया है कि वह अपनी मर्जी से भागी थी लेकिन परिवार विभाजित रहे हैं क्योंकि बुलंदशहर के सोंडा हबीबपुर में जाति समीकरण युवा प्रेम को ठेंगा दिखाते हैं

ऐसा प्यार जिसकी चुकानी पड़ती है कीमत: कैसे डेटिंग ऐप्स बन रहे हैं लूट के साधन

प्रेम की आशा और धारा 377 के बीच फंसे यौन दुर्व्यवहार के पीड़ित ग्राइंडर पर पैसा वसूली के मामले में पुलिस के पास जाने के बजाय चुप रहने का विकल्प चुनते हैं।

मैं अपनी गर्लफ्रेंड की ज़िन्दगी में दखल नहीं देता, सिवाय उनके कपड़ों के : संजय दत्त ने कभी कहा था

पहली फिल्म रॉकी की शूटिंग के दौरान संजय दत्त की जिंदगी एलएसडी और टीना के साथ उनके अफेयर का मिश्रण थी। यासिर उस्मान की लिखी पुस्तक संजय दत्तः द क्रेजी अनटोल्ड स्टोरी ऑफ बॉलीवुड्स बैड ब्वॉय के इस भाग को पढ़ें।

आखिरी बार एक बॉलीवुड सुपरस्टार ने पर्दे पर कब निभाया था दलित किरदार?

रजनीकांत की नवीनतम फिल्म काला की मौजूदगी यह दर्शाती है कि दुनिया का सबसे बड़ा फिल्म उद्योग उन फिल्मों से भी लाभ अर्जित कर सकता है जो जाति के बारे में बात करती हों।

सोनम कपूर का बदला नाम – ऐच्छिक फेमिनिज्म या प्रबल पैतृक व्यवस्था ?

सोनम कपूर, जो अब सोनम कपूर-आहूजा हैं, अपने पति का उपनाम जोड़ने के कारण नारीवादियों के निशाने पर आ गयी हैं।

‘बलात्कार के बाद मेरे आँसू पोछे और नौकरी दिलाने की बात कही’ — उन्नाव पीड़िता

जैसा कि जांच शुरू हो चुकी है, पीड़िता ने कहा है कि उसके पिता की मौत ने उसकी सारी उम्मीदों को समाप्त कर दिया है, लेकिन पुलिस ने इस सब पर कुछ गड़बड़ी का संदेह जताया है।

जम्मू-कश्मीर में सबसे भयावह बलात्कार और हत्या की सोची समझी साजिश की ‘अंदरूनी कहानी’

पैरों के नीचे से जमीन खिसका देने वाला ये खुलासा हुआ, कथित तौर पर आरोपी से हुई पूछताछ के दौरान प्रकाश में आया, आरोपपत्र...

मोदी, नेहरू, वाजपेयी- किसने लिखी ज्यादा किताबें?

नेहरू के पत्रों या जेल में लिखी उनकी किताबों से लेकर परीक्षा के तनाव से परेशान छात्रों के लिए मोदी की किताब तक भारत...

गुड मॉर्निंग संदेशों की भरमार, हो रहा भारतीयों का दिन बेहाल

संदेशों की भरमार से भारत में स्मार्ट फ़ोनों की मेमोरी भर रही है. कुछ तकनीकी कंपनियां इसका समाधान खोजने में लगीं हैं और कुछ अन्य इससे पूँजी कमा रही हैं.

भारत का पहला ‘सेक्सी’ कंडोम विज्ञापन और उसकी खट्टी-मीठी यादें

भारत में कंडोम के पहले विज्ञापन पर विज्ञापनगुरु अलिक पदमसी की टिप्पणी और दर्शकों की प्रतिक्रिया

मत-विमत

UP में प्रियंका का महिला केंद्रित अभियान दूर की कौड़ी, पर BJP को पुरुषवादी मानसिकता पर मंथन की जरूरत

भाजपा के संगठन और सत्ता ढांचे में महिलाओं को बेहद कम प्रतिनिधित्व हासिल है, भले ही प्रधानमंत्री मोदी ‘उज्ज्वला’ और ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ जैसे महिला-केंद्रित सरकारी कार्यक्रमों की दुहाई देते रहे हों. पिछले 41 वर्षों में इसके जो 41 अध्यक्ष बने उनमें एक भी महिला नेता नहीं थीं. 

वीडियो

राजनीति

देश

बीएसएफ ने नेपाल, भूटान और मालदीव के पुलिस अफसरों को सिखाए हथियारों के गुर

इंदौर (मध्यप्रदेश), 25 जनवरी (भाषा) सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के इंदौर स्थित केंद्रीय आयुध एवं युद्ध कौशल विद्यालय (सीएसडब्ल्यूटी) ने वर्ष 2021 के दौरान...

लास्ट लाफ

हर समस्या का एक ‘स्तंभ’ और ‘अच्छे दिनों’ को वास्तविक जीवन से विलय करना

दिप्रिंट के संपादकों द्वारा चुने गए दिन के सबसे अच्छे कार्टून्स.