News on rahul gandhi
राहुल गांधी की फाइल फ़ोटो | पीटीआई
Text Size:
  • 175
    Shares

नई दिल्ली: पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों में वापसी करने के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने जनता का धन्यवाद देते हुए कहा है कि वे नये विजन के साथ काम करेंगे. उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए राहुल गांधी ने कहा कि प्रधानमंत्री की वादाखिलाफी के कारण भाजपा की हार हुई है.

दिल्ली में एक पत्रकार वार्ता को संबोधित करने के दौरान भाजपा के ‘कांग्रेस मुक्त भारत’ के नारे पर उन्होंने कहा, ‘भाजपा की एक विचारधारा है. हम उनसे असहमत हैं, हम उनके लड़ेंगे और भाजपा को हराएंगे. अभी हराया है, 2019 में भी हराएंगे. लेकिन हम किसी को भारत से मुक्त नहीं करना चाहते. हम जिससे असहमत हैं उससे लड़ेंगे लेकिन किसी को भारत से मिटाना नहीं चाहते.’

‘कांग्रेस की जीत किसानों और युवाओं की’

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, ‘इन चुनावों में कांग्रेस की जीत किसानों और युवाओं की जीत है. कांग्रेस पार्टी पर भारी जिम्मेदारी है कि जनता की इस आवाज को हम सुनें. मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में भाजपा को हमने हराया है. वहां के मुख्यमंत्रियों ने जनता की सेवा की है. विपक्षी होने के नाते हमने उनको हराया, लेकिन उन्होंने जनता की जो सेवा की है, अब बदलाव का समय है, फिर भी उनका हम धन्यवाद करते हैं. जो चीजें रह गई हैं, उन्हें हम आगे बढ़ाएंगे.’

पार्टी के कार्यकर्ताओं का आभार जताते हुए उन्होंने कहा, ‘मैं कांग्रेस के कार्यकर्ताओं से कहना चाहता हूं कि आपने मुश्किल हालात में जो मेहनत की, उसके लिए मैं आपको दिल से धन्यवाद कहना चाहता हूं.’

राहुल गांधी ने कहा, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रोजगार का वादा किया था वह पूरा नहीं हुआ है. यही भावना व्यापार में है. यही हाल किसानों का है. यह उसके खिलाफ जनादेश है. हम तीनों राज्यों में एक विजन के साथ काम करेंगे. प्रधानमंत्री मोदी ने जनता से किया अपना वादा नहीं निभाया है.’

‘रोजगार और किसानों की समस्या हमारे केंद्रीय मुद्दे’

भाजपा की हार का कारण बताते हुए उन्होंने कहा, ‘देश की जनता नोटबंदी, जीएसटी और बेरोजगारी से खुश नहीं है. हमारे केंद्रीय मुद्दे रोजगार और किसानों की समस्या हैं. यह पूरे देश के मुद्दे हैं. हम इसे आगे बढ़ाएंगे. प्रधानमंत्री ने जो भी वायदे किए, वह पूरे नहीं किए. वे युवाओं को रोजगार नहीं दे पाए.’

विपक्ष की एकजुटता के सवाल पर राहुल गांधी ने कहा, ‘विपक्ष तमाम मुद्दों पर एकजुट है और यह पक्का है कि विपक्ष की एकता बनी रहेगी. हम साथ मिलकर चुनाव लड़ेंगे. कांग्रेस, बसपा, सपा की विचारधारा एक है. मुख्यमंत्री के पद के लिए कोई टकराव सामने नहीं आएगा.’

पांचों राज्यों में चुनाव पूर्व गठबंधन पर कहा कि हम काफी ओपन थे, लेकिन चुनाव से पहले गठबंधन को लेकर बात नहीं बनी.

उन्होंने ईवीएम पर भी सवाल उठाते हुए कहा कि हम यह चुनाव जरूर जीते हैं, लेकिन ईवीएम में गड़बड़ी एक केंद्रीय मुद्दा है. ईवीएम में हेरफेर किया जा सकता है. ईवीएम का मुद्दा बना रहेगा.

‘प्रधानमंत्री भ्रष्ट हैं’

राहुल गांधी ने एक सवाल के जवाब में कहा कि ‘जब प्रधानमंत्री चुने गए थे तब वे तीन प्लेटफार्म पर चुने गए. रोजगार, भ्रष्टाचार और किसान. अब जनता के दिमाग में है कि प्रधानमंत्री खुद भ्रष्ट हैं, पहले जनता के दिमाग में ऐसा नहीं था. लेकिन आज यह सच है कि राफेल में भ्रष्टाचार हुआ है. यह सामने आएगा.’

उन्होंने कहा, ‘प्रधानमंत्री को देश की जनता ने काम करने के लिए चुना है. उन्हें रोजगार, किसानों की समस्या और भ्रष्टाचार के मुद्दे पर काम करने के लिए चुना है. लेकिन स्पष्ट रूप से कहें तो प्रधानमंत्री अपंग हैं. वे काम नहीं कर पा रहे हैं. वे जनता के मुद्दे पर कुछ नहीं बोल रहे हैं.’

किसानों की कर्जमाफी के सवाल पर कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, ‘हमने वादा किया है कि जैसे ही कांग्रेस की सरकार बनेगी, किसानों का कर्ज माफ करने की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी.’

राहुल गांधी ने जीत के बाद जनता और पार्टी कार्यकर्ताओं को धन्यवाद दिया और कहा कि इन राज्यों में हम भविष्य का विजन पेश करेंगे.


  • 175
    Shares
Share Your Views

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here