Monday, 17 January, 2022
होमराजनीति'1 करोड़ नौकरी, महिलाओं को 50% आरक्षण, गन्ना किसानों को डेढ़ गुना दाम': UP चुनाव के लिए RLD का घोषणापत्र जारी

‘1 करोड़ नौकरी, महिलाओं को 50% आरक्षण, गन्ना किसानों को डेढ़ गुना दाम’: UP चुनाव के लिए RLD का घोषणापत्र जारी

उत्तर प्रदेश में रालोद पहली पार्टी है जिसने अपना घोषणापत्र जारी किया है. भारतीय जनता पार्टी, कांग्रेस, सपा, बसपा ने अभी तक अपना घोषणापत्र लोगों के बीच नहीं रखा है.

Text Size:

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश में 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव से काफी पहले राष्ट्रीय लोक दल (रालोद) ने अपना घोषणापत्र जारी कर दिया है. रालोद के अध्यक्ष जयंत सिंह ने आगामी चुनाव के मद्देनज़र 22 सूत्रीय संकल्प पत्र जारी किया है.

घोषणापत्र में रालोद ने उत्तर प्रदेश में युवाओं के लिए 1 करोड़ नौकरियों का वादा किया है वहीं महिलाओं को सभी भर्तियों में 50 फीसदी आरक्षण भी देने की बात कही है.

उत्तर प्रदेश के किसानों को आलू के डेढ़ गुना दाम और गन्ना किसानों को 14 दिन में डेढ़ गुना दाम के साथ भुगतान करने का वादा भी रालोद ने किया है. यूपी में आलू आधारित उद्योग स्थापित करने की भी बात की गई है वहीं आगरा में अनुसंधान केंद्र एवं आलू निर्यात जोन की स्थापना भी की जाएगी.

घोषणापत्र में कहा गया है कि कोरोना संक्रमण से मरे लोगों के परिजनों को 4 लाख रुपए की सहायता राशि दी जाएगी. वहीं जनता के विरुद्ध किए गए मुकदमों के निस्तारण की दिशा में काम करने का भी वादा किया गया है.

उत्तर प्रदेश में रालोद पहली पार्टी है जिसने अपना घोषणापत्र जारी किया है. भारतीय जनता पार्टी, कांग्रेस, सपा, बसपा ने अभी तक अपना घोषणापत्र लोगों के बीच नहीं रखा है.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

घोषणापत्र जारी करते हुए जयंत चौधरी ने कहा, ‘उत्तर प्रदेश में हम पहली राजनीतिक पार्टी हैं जो चार महीने पहले अपना घोषणापत्र जारी कर रहे हैं. हमारी मैनिफेस्टो समिति के 20 सदस्यों ने कई लोगों से बात की. मैंने खुद डॉक्टर्स, वैज्ञानिक, बाहर रह रहे उत्तर प्रदेश के कई लोगों से बात की और लाखों लोगों से संपर्क करके, उनके सुझावों को लेकर अपने घोषणापत्र का मसौदा तैयार किया है.’

उत्तर प्रदेश में विधानसभा की 403 सीटें हैं. वर्तमान में योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में प्रदेश में भाजपा की सरकार है.


यह भी पढ़ें: सीतामढ़ी का रॉबिन हुड, ‘जगुआर चोर’ अब राजनीति के खेल में आजमा रहा है हाथ


बीमा योजना, सबको काम, महिलाओं के लिए नौकरी में 50% आरक्षण

प्रदेश के युवाओं को साधने के मद्देनज़र रालोद ने अपने घोषणापत्र में यूपी के कॉलेजों और विश्वविद्यालयों के कैंपस क्षेत्र में वाई-फाई हब की सुविधा देने की बात की है.

रालोद ने अपने घोषणापत्र में पुलिस सुधारों का भी वादा किया है और कहा है कि उनकी सरकार बनने के बाद पुलिसकर्मियों की ड्यूटी का समय 8 घंटे निर्धारित किया जाएगा और उन्हें ओवरटाइम भी दिया जाएगा. प्रदेश में बॉर्डर स्किम को हटाकर, गृहजनपद के आसपास के जिलों में पुलिसकर्मियों की तैनाती की जाएगी.

महिलाओं के विरुद्ध बढ़ रहे अपराधों को देखते हुए पुलिस भर्तियों में 50 फीसदी पदों पर महिलाओं की भर्ती करने का वादा रालोद ने किया है.

बीते एक साल से चल रहे किसान आंदोलन के मुद्दे को भी रालोद ने अपने घोषणापत्र में जगह दी है. इसमें कहा गया है कि विधानसभा के पहले सत्र में कृषि कानूनों को निरस्त करने का प्रस्ताव लाया जाएगा वहीं इस आंदोलन में मृतक किसानों को शहीद का दर्जा व उचित सम्मान का प्रावधान भी किया जाएगा.

किसानों के मुद्दे पर चौधरी जयंत सिंह जी ने कहा, ‘आज की भाजपा सरकार में किसानों की हालत दयनीय है. देश में आज़ादी के पहले और आजादी के बाद किसानों को हमेशा अपने हक के लिए लड़ना पड़ा है. बड़े-बड़े आंदोलन हुए हैं. आज भी किसान अपने हक के लिए पिछले एक साल से आंदोलन पर बैठा है. हजारों किसानों ने अपने प्राणों की आहुति दे दी, हम उन सब किसानों को नमन करते हैं. तीन काले कानूनों को निरस्त करने की बात भी लोकसंकल्प का अहम मुदा है.’

इसके अलावा किसानों के लिए प्रभावी बीमा योजना, गांव-गांव डॉक्टर, घर-घर दवाई, सबको भोजन, सबको काम देने का वादा भी जयंत सिंह ने किया है.

जाति के बंधन को तोड़ने के लिए अंतरजातीय विवाह को प्रोत्साहन देने का भी रालोद ने वादा किया है. अंतरजातीय विवाह करने वाले लोगों को 1 लाख रुपए देने की बात कही गई है. वहीं वृद्धा पेंशन तीन गुना बढ़ाने का भी वादा किया गया है.

बता दें कि 2022 में उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव होने हैं और सभी पार्टियां अपने-अपने स्तर पर चुनावी मैदान में उतरना शुरू हो गई हैं.


यह भी पढ़ें: नवाब मलिक- UP में जन्मे महाराष्ट्र के मंत्री आर्यन खान मामले में सवाल उठाकर घर-घर में चर्चित नाम बने


 

share & View comments