Tuesday, 5 July, 2022
होमलास्ट लाफलास्ट लाफ़: मनुष्य का विघटन और रुपये का पतन

लास्ट लाफ़: मनुष्य का विघटन और रुपये का पतन

Text Size:

दिप्रिंट के संपादकों द्वारा चुने गये दिन के सबसे अच्छे कॉर्टून

चयनित कार्टून पहले अन्य प्रकाशनों में प्रकाशित किए जा चुके हैं जैसे प्रिंट, ऑनलाइन या सोशल मीडिया पर और इन्हें उचित श्रेय भी मिला है।

इ.पी.उन्नी । द इंडियन एक्सप्रेस

इ.पी.उन्नी ने केंद्रीय मंत्री सत्यपाल सिंह के बारे में इस समय में चार्ल्स डार्विन के क्रम-विकास के सिद्धांत पर सवाल उठाने को चित्रित किया है।लिंचिंग के महत्वपूर्ण समय में वो बार -बार सवाल उठा रहे है ।(अधिक लिंचिंग -क्या हमारे एंटी डार्विन मिनिस्टर बताएँगे की कैसे उदार आदमी भीड़ में परिवर्तित होता है)

सुरेंद्र । द हिन्दू

द हिंदू में सुरेंद्र,सलाह देते हैं कि वो भीड़ जो बच्चों की रक्षा करने का दावा करती हैं,वो ज्यादा ख़तरनाक है उन अपहरणकर्ताओं की तुलना में ।(अपहरणकर्ता)

मीका अज़ीज़ | द इंडियन एक्सप्रेस

कार्टूनिस्ट मीका अज़ीज़ ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की टिप्पणी पर मजाक उड़ाया की ‘दूध और मर्सिडीज’ एक ही जीएसटी स्लैब के तहत नहीं आ सकते।(एकल जीएसटी दर संभव नहीं है)

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

माधव जोशी | दैनिक जागरण

दैनिक जागरण में कार्टूनिस्ट माधव जोशी ने अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रूपए की गिरती कीमत जो की इस समय सबसे कम है उसको दर्शाया है ।

इश्तियाक अंसारी । फेसबुक

इश्तियाक अंसारी ने महाराष्ट्र के देवेंद्र फडणवीस सरकार द्वारा लगाए गए प्लास्टिक प्रतिबंध पर तंज करते हैं।(देवेंद्र फणडवीस लाइन पर है दोनों लोगों को पकड़ लिया, मोदी : किसे नीरव और माल्या को, फडणवीस: नहीं दो लोगों को प्लास्टिक बैग के साथ)

मंजुल | मिड डे

मिड डे में, कार्टूनिस्ट मंजुल ने ट्विटर ट्रॉल्स के द्वारा सुषमा स्वराज पर हालिया हिंसक हमले को दर्शाया है, जिनमें से कई तो भाजपा के समर्थक पाए गए हैं।

संदीप अध्वर्यु | टाइम्स ऑफ़ इंडिया

द टाइम्स ऑफ इंडिया में संदीप अध्वर्यु सुझाव देते हैं कि सोशल मीडिया अफवाहों में अंधविश्वास मनुष्यों की प्रासंगिकता को ख़त्म करने का कारण बन रहा है ।

कीर्तिश भट्ट | बीबीसी हिंदी

बीबीसी हिंदी के कीर्तिश भट्ट भी सोशल मीडिया अफवाहों से प्रेरित हिंसा को चित्रित किया है ।

Read in English : The devolution of man, and the fall of the rupee

share & View comments