Saturday, 20 August, 2022
होमदेशकोविड से संक्रमित हुए अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी, ऋषिकेश एम्स में भर्ती

कोविड से संक्रमित हुए अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी, ऋषिकेश एम्स में भर्ती

निरंजनी अखाड़े के महंत नरेंद्र गिरी के अलावा अन्य अखाड़ों से जुड़े कई अन्य संत भी कोविड-19 की चपेट में आए हैं. नए मामलों को मिलाकर अब तक दोनों अखाडों में कुल नौ संत कोविड-19 पीड़ित पाए गए हैं .

Text Size:

ऋषिकेश: कोविड-19 से पीड़ित अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की तबियत बिगड़ने के बाद उन्हें एम्स ऋषिकेश में भर्ती कराया गया है.

महंत को सोमवार देर रात एम्स अस्पताल की इमरजेंसी में भर्ती किया गया जहां प्रारंभिक जांच के बाद उन्हें वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया.

उनकी देखरेख में लगे चिकित्सकों ने बताया कि महंत मधुमेह के रोगी हैं तथा उन्हें बुखार और खांसी की भी शिकायत है. सामान्य जांच के बाद उनका उपचार शुरू कर दिया गया है. चिकित्सकों के अनुसार उनकी स्थिति स्थिर है.

रविवार को महंत गिरी की जांच रिपोर्ट में उनके संक्रमित होने की पुष्टि हुई थी.

इससे पहले, शुक्रवार देर रात तबीयत खराब होने के बाद 70 वर्षीय संत को हरिद्वार के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहां उनकी कुशल क्षेम पूछने के लिए महाकुंभ प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी भी पहुंचे थे.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

बता दें कि अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि सहित आधा दर्जन से अधिक संतों के कोविड-19 पीड़ित होने से संत समाज और मेला प्रशासन में खलबली मच गई है .

कोविड-19 से पीड़ित होने के कारण महंत नरेंद्र गिरी सोमवार को सोमवती अमावस्या के पर्व पर महाकुंभ के दूसरे शाही स्नान में हिस्सा नहीं ले पाए थे और अब वह बुधवार को बैसाखी पर होने वाले तीसरे शाही स्नान में भी डुबकी नहीं लगा पाएंगे.

निरंजनी अखाड़े के महंत नरेंद्र गिरी के अलावा अन्य अखाड़ों से जुड़े कई अन्य संत भी कोविड-19 की चपेट में आए हैं. नए मामलों को मिलाकर अब तक दोनों अखाडों में कुल नौ संत कोविड-19 पीड़ित पाए गए हैं .

पृथकवास में रह रहे महंत नरेंद्र गिरी के कोविड-19 ग्रस्त होने के बावजूद रविवार को उनसे उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने निरंजनी अखाड़ा पहुंचकर मुलाकात की . इस दौरान किसी ने भी उन्हें महंत नरेंद्र गिरी से मिलने से नहीं रोका .

शनिवार को बिगड़ी थी हालत

इससे पहले, शनिवार देर रात स्वास्थ्य बिगड़ने पर महंत नरेंद्र गिरी को हरिद्वार के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहां उनका हाल— चाल पूछने मेलाधिकारी दीपक रावत व मेला के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जनमेजय खंडूड़ी भी गए थे. इसके अलावा भी महंत नरेंद्र गिरी हाल में कई कार्यक्रमों में शामिल हुए थे.

इस बीच, सूत्रों ने बताया कि निरंजनी अखाड़े के सचिव रविन्द्र पूरी महाराज की तबीयत भी खराब है और वह पृथक-वास में रह रहे हैं . वहीं, बड़ा अखाड़े के महंत रघुमुनि महाराज का स्वास्थ्य भी खराब है.

इस बीच, कोविड-19 के लगातार बढ रहे मामलों के बीच आज जिले में कुल 372 नए मामले दर्ज हुए . जिला अस्पताल के मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ राजेश गुप्ता भी टीके की दोनों खुराक लेने के बाद भी कोरोनावायरस संक्रमित हो गए .

आईआईटी रुड़की में रविवार को 12 और छात्रों के कोविड-19 पीडित होने के कारण वहां संक्रमितों की संख्या 100 के पार हो गई .

जिलाधिकारी सी रविशंकर ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग को महंत नरेंद्र गिरी के संपर्क में आए लोगों को चिन्हित करने के निर्देश दिए गए है.


यह भी पढ़ें: ‘ना बेड, ना ICU, सारी जगह फुल’- कोविड के मामले बढ़ते ही महाराष्ट्र के अस्पतालों में हालात बदतर हुए


 

share & View comments