Tuesday, 18 January, 2022
होमदेशअर्थजगतBSE सेंसेक्स के 257 अंक गिरने से नुकसान में बाजार, निफ्टी भी 17,850 अंक के नीचे

BSE सेंसेक्स के 257 अंक गिरने से नुकसान में बाजार, निफ्टी भी 17,850 अंक के नीचे

सेंसेक्स के शेयरों में 3 प्रतिशत से अधिक की गिरावट के साथ सन फार्मा सर्वाधिक नुकसान में रही. इंडसइंड बैंक, भारती एयरटेल, कोटक बैंक, आईसीआईसीआई बैंक और एचडीएफसी बैंक भी प्रमुख रूप से नुकसान में रहें.

Text Size:

मुंबई: बीएसई सेंसेक्स में बुधवार को 257 अंक की गिरावट आई. अमेरिकी फेडरल रिजर्व की मौद्रिक नीति समीक्षा की घोषणा से पहले वैश्विक बाजारों में नरम रुख के बीच सूचकांक में मजबूत हिस्सेदारी रखने वाले एचडीएफसी बैंक, आईसीआईसीआई बैंक और कोटक बैंक के शेयरों में गिरावट के साथ बजार नुकसान में रहा.

तीस शेयरों पर आधारित सेंसेक्स 257.14 अंक यानी 0.43 प्रतिशत की गिरावट के साथ 59,771.92 अंक पर बंद हुआ. इसी प्रकार, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 59.75 अंक यानी 0.33 प्रतिशत टूटकर 17,829.20 अंक पर बंद हुआ.

सेंसेक्स के शेयरों में तीन प्रतिशत से अधिक की गिरावट के साथ सन फार्मा सर्वाधिक नुकसान में रही. इसके अलावा इंडसइंड बैंक, भारती एयरटेल, कोटक बैंक, आईसीआईसीआई बैंक और एचडीएफसी बैंक भी प्रमुख रूप से नुकसान में रहें.

दूसरी तरफ, एलएंडटी, एशियन पेंट्स, अल्ट्राटेक सीमेंट, एसबीआई और बजाज फाइनेंस लाभ में रहने वाले शेयरों में शामिल हैं.

जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा, ‘बाजार में सुधार के बाद शुरुआत अच्छी रही. लेकिन यह तेजी कायम नहीं रह पाई और अमेरिकी फेडरल रिजर्व की मौद्रिक नीति घोषणा से पहले वैश्विक शेयर बाजारों में कमजोर रुख के साथ घरेलू बाजार नीचे आए.’

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

उन्होंने कहा कि अमेरिकी केंद्रीय बैंक निकट भविष्य में बांड खरीद कार्यक्रम में कमी की घोषणा कर सकता है. साथ ही अगर नीतिगत दर में तेजी का संकेत देता है, तो निवेशकों पर असर पड़ सकता है. तेजी से बांड खरीद कार्यक्रम में कमी का कोई भी संकेत शेयर बाजार पर प्रतिकूल प्रभाव डालेगा. अगर ऐसा नहीं होता है, तो इस कमजोर रुख वाली स्थिति में बदलाव देखने को मिल सकता है.

एशिया के अन्य बाजारों में चीन में शंघाई कम्पोजिट, हांगकांग का हैंगसेंग और दक्षिण कोरिया का कॉस्पी नुकसान में रहे, जबकि जापान के निक्की में अवकाश रहा.

यूरोप के प्रमुख बाजारों में दोपहर के कारोबार में गिरावट का रुख रहा.

इस बीच, अंतरराष्ट्रीय तेल मानक ब्रेंट क्रूड 1.66 प्रतिशत की गिरावट के साथ 83.31 डॉलर प्रति बैरल पर आ गया.

share & View comments