farmer
Text Size:
  • 13
    Shares

नई दिल्ली: मोदी सरकार ने अंतरिम बजट में किसानों का बहुत ध्यान रखा है. बजट पेश करने के दौरान कार्यकारी वित्त मंत्री ने किसानों के लिए बड़ा एलान कर दिया है. सरकार ने 2022 तक किसानों की आय दुगनी करने के लक्ष्य को पूरा करने के लिए प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की शुरुआत की है. इस योजना का फायदा देश के 12 करोड़ किसानों को होगा. लगातार किसानों की आत्म हत्या की घटना और राजस्थान, मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में मिली हार के बाद से यह माना जा रहा था कि सरकार इस बजट में किसानों के लिए बड़ा ऐलान करने वाली है.


यह भी पढ़ें: Budget 2019: किसानों और मध्यवर्ग को साधा, 5 लाख आय वालों को टैक्स में छूट


वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने अंतरिम बजट में ग्रामीण क्षेत्र में बदहाली को दूर करने के लिए किसानों के लिए एक इंकम सपोर्ट स्कीम की घोषणा की है. किसानों की सहायता के लिए इस योजना में 6000 करोड़ रुपये का खर्च होगा. प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना जोकि पूरी तरह से केंद्र सरकार द्ववारा पोषित की जायेगी इसके तहत छोटे किसानों को जिनके पास 2 हेक्टेयर तक ज़मीन है उनके खातों में सरकार सीधा पैसा भेजेगी. किसानों के खाते में 6000 रुपये हर साल तीन खेप में सीधा उनके बैंक खातों में जाएगा. पहली किस्त अगले महीने की 31 तारीख तक किसानों के खातों में डाल दी जाएगी.

इसका फायदा 12 करोड़ किसान परिवारों को इसका फायदा मिलेगा. इसे 1 दिसंबर 2018 से लागू किया जायेगा. ये योजना तेलंगाना सरकार की रायथु बंधु या ओडिशा की कालिया योजना से मिलती जुलती नज़र आ रही है. सरकार ने 2022 तक किसानों की आय दुगनी करने के लक्ष्य को पूरा किये जाने का इसमे लक्ष्य रखा गया है.

चुनाव पर नज़र

आमदनी सहायता मोदी सरकार का किसानों को खुश करने का बड़ा और आखिरी दाव है. आगामी चुनावों के मद्देनज़र ये सरकार का मास्टरस्ट्रोक माना जा सकता है.  हाल में छत्तीसगढ़, राजस्थान और मध्य प्रदेश की चुनावी हार के पीछे किसानों की नाराज़गी को एक बड़ा कारण माना गया था.

योजना की खास बातें:

सरकार ने फसलों का एमएसपी लागत डेढ़ गुना करने की घोषणा की है.
प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना को मंजूरी के अंतर्गत 2 हेक्टेयर तक की ज़मीन वाले किसान को हर साल 6 हजार रुपये मिलेंगे.
किसानों के खाते में 3 किस्तों में पैसे जाएंगे.
इसका फायदा देश के 12 करोड़ किसानों परिवारों को मिलेगा.
1 दिसंबर 2018 से यह योजना पूरे देश में लागू होगी.
किसान निधि के लिए 75,000 करोड़ रुपये का आवंटन किया गया है.
2022 तक किसानों की आय दुगनी करने के लक्ष्य है.
पहली किस्त अगले महीने की 31 तारीख तक किसानों के खातों में डाल दी जाएगी.


  • 13
    Shares
Share Your Views

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here