piyush-goyal
पीयूष गोयल संसद में अंतरिम बजट पेश करते हुए/ लोकसभा टीवी
Text Size:
  • 1
    Share

नई दिल्ली: मोदी सरकार में कार्यकारी वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने आम लोगों से लेकर मजदूरों तक का ध्यान रखा है. उन्होंने महंगाई पर लगाम लगाने की पूरी कोशिश की है. पीयूष गोयल मोदी सरकार का छठा बजट पेश कर रहे हैं, इससे पहले पांच बजट अरुण जेटली ने पेश किए थे. अंतरिम बजट में पीयूष गोयल ने सभी देशवासियों का ध्यान रखा है.

BUDGET LIVE UPDATE:

-यह सिर्फ अंतरिम बजट नहीं, देश के विकास यात्रा का माध्यम है, ये जो देश बदल रहा है इसका श्रेय देशवासियों को जाता है.

– इस रियायत का फायदा 3 करोड़ मध्यवर्ग के टैक्स देने वालों को होगा. स्टैंडर्ड डिडक्शन 40 हजार से बढ़ाकर 50 हजार किया. वहीं फिक्स्ड डिपोजिट पर 40 हजार तक ब्याज नहीं लगेगा.

-सरकार ने कहा कि जो रियायतें उन्होंने होम लोन, नेशनल पेंशन स्कीम, मेडिकल बीमा, प्रोविडेंट फंड आदि योजनाओं के निवेश करने वालों को 6.50 लाख तक की आमदनी तक मध्यवर्ग अपना टैक्स बचा सकता है.

-मध्यम वर्ग को साधा मोदी सरकार ने इनकम टैक्स स्लैब में पांच लाख तक की आय वालों को कोई टैक्स नहीं देना होगा.

-2019-20 में वित्तीय घाटा जीडीपी के 3 फीसदी रहने का अनुमान

-अगले 5 साल में भारत की अर्थव्यवस्था 5 ट्रिलियन डॉलर की होगी और हम अगले 8 साल में इसे बढ़ाकर 8 ट्रिलियन डॉलर करना चाहते हैं.

-हमारी सरकार की देश के लिए हितकारी नीतियों के कारण करदाताओं की संख्या में 80% तक की बढ़ोतरी हुई है.

-हमने देश के सैनिकों को सम्मान दिया है. 40 साल से लंबित वन रैंक वन पेंशन को लागू किया है. हमारी सरकार ने 35000 करोड़ रुपए पिछले वर्षों में वन रैंक वन पेंशन के तहत दिए हैं .

-वित्त मंत्री ने कहा कि देश में 27 किलोमीटर हाइवे का प्रतिदिन बनाये जा रहें है, दुनिया में सबसे तेज़ सड़क निर्माण भारत में हो रहा है.

-न्यू पेंशन स्कीम में कर्मचारियों के हिस्से को 10 प्रतिशत रखते हुए सरकार के हिस्से को 14 प्रतिशत किया है

– अंतरिम बजट में सरकार ने छोटे किसानों का ध्यान रखा है, 12 करोड़ छोटे किसानों को हर महीने 500 रुपये दिए  जाने की घोषणा कर दी है.

-भारत अब मानवरहित क्रॉसिंग मुक्त हो गया. वंदे मातरम सेमी हाई स्पीड ट्रेन भारत में बनी. अरुणाचल प्रदेश पहली बार रेल मैप पर आया. 1 लाख डिजिटल गांव बनाए गए। भारत में सबसे ज्यादा मोबाइल डेटा यूजर.

– उज्जवला योजना में 6 करोड़ गैस कनेक्शन दिए जाने की बात कहते हुए उन्होंने कहा कि नौकरी खोजने वाला आज नौकरी देने वाला बन चुका है. मुद्रा योजना के तहत 15 करोड़ रुपये का कर्ज दिया गया. स्टार्टअप के मामले में भारत दुनिया का दूसरा देश बन गया है.

-मोदी सरकार ने पशुपालन और मत्स्य पालन करने वाले किसानों को ब्याज में 2 प्रतिशत की छूट देने जा रही है, 21 हजार से कम वेतन वाले मजदूरों को 7 हजार रुपये बोनस दिया जाएगा.

-न्यूनतम मजदूरी भी बढ़ाई गई. मजदूरों को कम से कम 1 हजार रुपये और अधिकतम 3,000 रुपये पेंशन दिए जाने की घोषणा की गई.
-सरकार ने बेरोजगारी से निपटने के लिए खास ध्यान रखा है. रोजगार के मौके बढ़ाने की पूरी कोशिश की है. वहीं 2 करोड़ ईपीएफओ अकाउंट खोले गए है. 10 करोड़ मजदूरों के लिए पेंशन योजना देने की भी घोषणा की है। जिनका ईपीएफ कटता है उन्हें 6 लाख रुपये का बीमा दिया जाएगा. 15 हजार से कम वेतन वालों को मिलेगी पेंशन योजना.

-जीएसटी रजिस्टर्ड इकाइयों, जिसका टर्नओवर 1 करोड़ रुपये तक उन्हें लोन पर ब्याज में 2 फीसदी की छूट मिलेगी.

-मोदी सरकार ने फसलों का एमएसपी लागत डेढ़ गुना कर दिया है. प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना को मंजूरी दे दी है. 2 हेक्टेयर तक की जमीन वाले किसान को हर साल 6 हजार रुपये मिलेंगे, किसानों के खाते में 3 किश्तों में पैसे भेजे जाएंगे, इसका फायदा 12 करोड़ किसानों को मिलेगा.

-सरकार द्वारा गरीबों को सस्ता अनाज उपलब्ध कराने के लिए वर्ष 2018-19 में 1 लाख 70 हज़ार करोड़ रुपये खर्च क़िये गए.

-उन्होंने प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना पर 90,000 करोड़ खर्च हुए 143 करोड़ एलईडी बल्ब उपलब्ध कराए.आज प्रधानमंत्री जन औषधि योजना के तहत सस्ते दामों पर दवाईयां मिल जाती हैं. 50 करोड़ लोगों के लिए आयुष्मान योजना लाए. इससे गरीब परिवारों के 3,000 करोड़ रुपये बचे। 2021 तक सभी इच्छुक परिवारों को बिजली मिलेगा.

-महंगाई पर लगाम लगाई. पहले महंगाई की मार थी इसके विपरीत ‘हमने कमरतोड़ महंगाई की कमर तोड़ दी. ‘

-गोयल ने कहा कि मुद्रास्फीति एक छिपा हुआ और अनुचित कर है. 2009-14 के दौरान यह 10.1 प्रतिशत था. हमने महंगाई की कमर तोड़ दी है.

-पिछले पांच सालों में ढांचागत सुधार किए गए जिससे देश को दशकों तक उच्च विकास दर प्राप्त होगी.

-पीयूष गोयल ने कहा, मैं पूरे आत्मविश्वास से यह कह सकता हूं कि भारत ठोस रूप से पटरी पर लौट रहा है और विकास और समृद्धि की ओर अग्रसर है.

-बैंकिंग क्षेत्र में व्यापक सुधार – हमारी सरकार में दम था कि बैंकों की सही स्थिति देश के सामने लाई,कर में बड़े सुधार, जीएसटी आदि.

-तीन लाख करोड़ रुपये की कर्ज वापसी हो चुकी है. बड़े कारोबारियों के ऊपर कर्ज वापसी का दबाव है। बैंकिंग सिस्टम में तेजी से सुधार हुआ हैॉ.

स्वच्छा भारत-देश के संसाधनों में पहला हक गरीबों का है. करीब 6 लाख गांव खुले में शौच से मुक्त हुए हैं. सस्ते अनाज के लिए 1.7 लाख करोड़ रुपये खर्च किए.

ग्रामीण विकास-गांव की आत्मा बरकरार रखते हुए वहां शहर जैसी सुविधाएं दिए जाने की योजना है. इसके तहत प्रधानमंत्री सड़क योजना बनाई जाएगी. 1.53 लाख घर बनाया गया. बिना बिजली वाले हर घर को बिजली का मुफ्त कनेक्शन दिया गया.

दुनिया का एक सबसे बड़ी स्वास्थ्य कार्यक्रम – आयुषमान भारत

3000 करोड़ की गरीब मध्यम वर्ग के इलाज का पैेसा बचा है.प्रधान मंत्री जन औषधी केंद्र में सस्ती दवाई उपलब्ध कराईं जा रही है. 21 एम्स देश में है. 14 एम्स 2014 के बाद. हरियाणा में 22वा एम्स खुलने जा रहा है. 12 करोड़ किसान को सीधा फायदा पहुंचायेगी. किसानों को सस्ते श्रृण उपलब्ध कराया जायेगा. गौमाता के सम्मान में सरकार कभी पीछे नहीं हटेगी. कामधेनु आयोग को 750 करोड़ दिया गया. गायों की सेवा के लिए काम करती रहेगी.


  • 1
    Share
Share Your Views

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here