Tuesday, 25 January, 2022
होमदेशअपराधशराब बंदी के उल्लंघन पर नवंबर के बाद से 15,000 से ज्यादा लोगों की गिरफ्तारी हुई : CM नीतीश कुमार

शराब बंदी के उल्लंघन पर नवंबर के बाद से 15,000 से ज्यादा लोगों की गिरफ्तारी हुई : CM नीतीश कुमार

यह कार्रवाई दीपावली के आसपास हुई जहरीली शराब की घटनाओं के बाद की गई जिसमें 40 से अधिक लोगों की मौत हो गई थी.

Text Size:

औरंगाबाद: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मंगलवार को कहा कि राज्य में निषेधाज्ञा का उल्लंघन करने पर दो महीने से भी कम समय में 15,000 से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया गया है.

उन्होंने बिहार के इस मध्य जिले में एक जनसभा में आंकड़ें पेश किए. वह शराब, दहेज और बाल विवाह के खिलाफ ‘समाज सुधार अभियान’ के तौर पर औरंगाबाद आए थे.

मुख्यमंत्री ने कहा, ‘यह आंकड़ें पिछले साल 26 नवंबर से इस साल दो जनवरी के बीच के हैं. इस दौरान 13,013 मामले दर्ज किए गए, 2.31 लाख लीटर देसी शराब और 3.55 लाख लीटर आईएफएमएल जब्त की गई. इसके अलावा 2,072 वाहनों को भी जब्त किया गया.’

यह कार्रवाई दीपावली के आसपास हुई जहरीली शराब की घटनाओं के बाद की गई जिसमें 40 से अधिक लोगों की मौत हो गई थी.

बिहार में अप्रैल 2016 में शराब की बिक्री और इसके पीने पर पूरी तरह प्रतिबंध लगा दिया गया. मुख्यमंत्री ने विधानसभा चुनावों के मद्देनजर बिहार की महिलाओं से यह वादा किया था.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

कुमार ने कहा कि कई ‘विद्वानों’ ने शराब पीने पर रोक लगाने को खारिज कर दिया था. उन्होंने दहेज और बाल विवाह की कुप्रथा पर भी बात की और लड़कियों के विवाह करने की योग्य उम्र 18 वर्ष से बढ़ाकर 21 वर्ष किए जाने के केंद्र के कदम का स्वागत किया.

मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि कोविड-19 के मामले बढ़ने के कारण बिहार में कुछ पाबंदियां लगाई जा सकती हैं. स्थिति की समीक्षा करने के बाद इस संबंध में बुधवार को घोषणा की जाएगी.


यह भी पढ़ें: नीतीश बोले- क्या लोग बिहार शराब पीने आते हैं?, बाहर वालों को भी शराबबंदी से नहीं मिलेगी राहत


share & View comments