news on reservation
बीएसपी चीफ मायावती की फाइल फोटो | पीटीआई
Text Size:
  • 162
    Shares

लखनऊ: सपा-बसपा गठबंधन ने जहां एक तरफ उत्तर प्रदेश में बीजेपी को चुनौती देने के लिए तैयारी कर रही है तो वहीं दूसरी ओर भाजपा विधायक ने अपनी पार्टी की मुश्किलें बढ़ा दी हैं. चंदौली के मुगलसराय से विधायक साधना सिंह ने बसपा सुप्रीमो मायावती पर आपत्तिजनक टिप्पणी की है.

एक कार्यक्रम के दौरान भाजपा की महिला विधायक साधना सिंह ने लखनऊ गेस्ट हाउस कांड की बात करते हुए कहा कि जिस महिला के साथ ऐसी घटना हो जाती है, वह कलंकित मानी जाती है. महिला विधायक जब यह बयान दे रही थी, उस समय मंच पर पार्टी के प्रदेश महामंत्री पंकज सिंह भी मौजूद थे.

 

वायरल हुआ वीडियो

शनिवार को चंदौली के परनपुरा गांव में किसान कुंभ अभियान कार्यक्रम में साधना सिंह ने कहा, ‘जब द्रोपदी का चीर हरण हुआ तो उसके बाद महाभारत हुआ, लेकिन सपा ने मायावती का चीर हरण किया, उसके बावजूद भी सत्ता के लोभ में आकर उन्होंने सपा से गठबंधन करके महिलाओं की अस्मत पर दाग लगाया है. साधना सिंह यहीं नहीं रुकीं. उन्होंने बसपा सुप्रीमो के बारे में अमर्यादित बयान देते हुए कहा कि वह ना नर हैं और न नारी हैं. उनके इस बयान का वीडियो वायरल हो गया है.

बसपा ने कहा मानसिक संतुलन खो चुके हैं बीजेपी नेता

इस मामले में बसपा महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा ने पलटवार करते हुए कहा कि भाजपा विधायक ने उनके पार्टी प्रमुख के लिए जिन शब्दों का इस्तेमाल किया, वह भाजपा के स्तर को दर्शाता है. सपा-बसपा गठबंधन की घोषणा के बाद बीजेपी नेताओं ने अपना मानसिक संतुलन खो दिया है और उन्हें आगरा या बरेली के मानसिक अस्पतालों में भर्ती कराया जाना चाहिए.

इससे पहले भी मायावती पर हुई है आपत्तिजनक टिप्पणी

बीजेपी के ही नेता दयाशंकर सिंह ने मायावती पर आपत्तिजनक टिप्पणी की थी. इसके बाद बसपा नेताओं ने लखनऊ में  विरोध प्रदर्शन किया था. इस दौरान बसपा नेताओं ने भी दयाशंकर सिंह की पत्नी स्वाति सिंह और बेटी पर विवादित बयान दिया था. यह बयान कई दिनों तक सुर्खियों में रहा और इस बयान पर पलटवार करने के कारण स्वाति सिंह, यूपी में बीजेपी की बड़ी महिला नेता के रूप में उभर गई थीं.


  • 162
    Shares
Share Your Views

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here