news on politics
नवजोत सिंह सिद्धू | सोशल मीडिया
Text Size:

नई दिल्ली: सत्ता का महासंग्राम में 18 अप्रैल को दूसरे चरण का मतदान होना है. इसके मद्देनजर आज सभी राजनीतिक पार्टियों के स्टार प्रचारक और दिग्गज नेताओं ने मतदाताओं तक अपनी बात पहुंचाने के लिए पूरी ताकत झोंक दी है. इसी क्रम में अपने पार्टी प्रचार बात को आगे बढ़ाते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, पार्टी अध्यक्ष अमित शाह, कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी सहित सभी दिग्गज नेता एक-एक दिन में तीन-तीन राज्यों में चार-पांच रैलियों में भाग ले रहे हैं. राहुल गांधी आज अपना पूरा दिन केरल में होंगे वहीं वह पांच रैलियों में जनता को संबोधित करेंगे. जबकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ओडिशा और छत्तीसगढ़ में जनसभा को संबोधित करेंगे. जबकि पार्टी अध्यक्ष अमित शाह कर्नाटक और केरल में होंगे.

आज शाम थम जाएगा प्रचार

दूसरे चरण के तहत 18 अप्रैल को देश की 97 लोकसभा सीटों पर मतदान होना है. आज शाम पांच बजे चुनाव प्रचार थम जाएगा. दूसरे चरण में तमिलनाडु की सभी 39 लोकसभा सीटों के अलावे असम, बिहार, छत्तीसगढ़, जम्मू-कश्मीर, मणिपुर, बंगाल और उत्तर प्रदेश में मतदान होना है.


16 अप्रैल की चुनाव से जुड़ी हर अपडेट मिलेगी यहां:


बिहार में सिद्धू ने कहा- मुसलमान अगर एकजुट हो जाएं तो मोदी सलट जाएंगे
बिहार के कटिहार में पूर्व क्रिकेट खिलाड़ी और पंजाब के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने यहां मंगलवार को एक चुनावी सभा में मुस्लिम समुदाय को एकजुट होकर मतदान करने की अपील की. उन्होंने कहा, ‘मुसलमान अगर एकजुट होकर वोट करेंगे तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सलट जाएंगे. इस बार के चुनाव में ऐसा छक्का मारो को मोदी बाउंड्री के पार चला जाए.’

कटिहार संसदीय क्षेत्र के बारसोई प्रखंड में एक चुनावी जनसभा में सिद्धू ने केंद्र सरकार और प्रधानमंत्री पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने कांग्रेस प्रत्याशी तारिक अनवर के समर्थन में हुई जनसभा में कहा, ‘आप यहां अल्पसंख्यक होकर भी बहुसंख्यक हो. आप अगर एकजुटता दिखाएंगे तो आप के प्रत्याशी तारिक अनवर को कोई भी नहीं हरा सकता.’

सिद्धू ने कहा, ‘आप यहां 64 प्रतिशत की आबादी हो. यहां के मुसलमान हमारी पगड़ी हैं. आप पंजाब भी काम करने जाते हो, अगर आपको कोई दिक्कत हो तो मुझे याद करना, मैं पंजाब का मंत्री हूं, वहां भी आपका साथ दूंगा.’ सिद्धू ने प्रधानमंत्री पर झूठ बोलने का आरोप लगाते हुए कहा, ‘यहां जात-पात की राजनीति हो रही है. बांटने की राजनीति हो रही.’

कभी भाजपा के सांसद रहे सिद्धू ने लोगों को भाजपा से सावधान रहने की अपील करते हुए कहा, ‘भाजपा के लोग यहां आकर आपके वोट को बांटने की कोशिश करेंगे. अगर आप इकट्ठे रहे तो कांग्रेस को कोई नहीं हरा सकता.’

वहीं भजपा ने सिद्धू पर पलटवार करते कहा है कि कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू बिहार के कटिहार में ये कैसा माहौल बना रहे हैं? मुस्लिमों को बता रहे हैं कि उनकी ‘आबादी 64% है’ और वे ‘मिल जाएं’ तो मोदी को ‘सुलटा’ सकते हैं. आखिर क्या वजह है कि एक धर्म विशेष को ऐसे भड़काया जा रहा है?

शत्रुघ्न सिन्हा कांग्रेस में और अब पूनम सिन्हा समाजवादी पार्टी में हुईं शामिल

लखनऊ में सांसद श्रीमती डिम्पल यादव की उपस्थिति में शत्रुघ्न सिन्हा की पत्नी पूनम सिन्हा ने समाजवादी पार्टी की सदस्यता ग्रहण कर ली है. वहीं हाल ही में शत्रुघ्न सिन्हा कांग्रेस में शामिल हुए थे तभी से अटकले थी कि पूनम सिन्हा समाजवादी पार्टी के टिकट पर लखनऊ से राजनाथ सिंह के खिलाफ चुनाव लड़ सकती हैं.

राजनाथ सिंह ने रोड शो के बाद किया नामांकन

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने मंगलवार को रोड शो के बाद अपना नामांकन दाखिल कर दिया. इस दौरान उनके साथ भाजपा प्रदेश अध्यक्ष महेंद्रनाथ पांडेय, सांसद कलराज मिश्रा और उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा, पूर्व सांसद रामनारायण साहू मौजूद रहे.

इस दौरान पूर्व प्रधनमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के सहयोगी शिवकुमार शर्मा भी नामांकन में शामिल हुए.

नामांकन से पहले राजनाथ सिंह ने भाजपा प्रदेश मुख्यालय से कलेक्ट्रेट तक रोड शो किया. राजनाथ सिंह रथ पर सवार हुए. उनके साथ उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा, कलराज मिश्र, भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी व केसी त्यागी सहित कई वरिष्ठ नेता मौजूद रहे. भारी संख्या में कार्यकर्ता मोदी, राजनाथ और अटल के नारे लगाते नजर आए. इस दौरान राजनाथ का जगह-जगह स्वागत किया गया और भाजपा कार्यकर्ता व समर्थक बैंड की धुन पर खूब नाचे.

भाजपा को उत्तर प्रदेश में झटका, ओम प्रकाश राजभर ने उतारे प्रत्याशी

सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर ने 39 प्रत्याशियों की घोषणा की है. राजभर ने कहा कि भाजपा उनको अपने चुनाव चिह्न पर चुनाव लड़ने की बात कह रही थी, लेकिन वो अपनी पार्टी के चुनाव चिह्न पर लड़ना चाहते हैं. राजभर ने यह भी कहा है कि विधानसभा में भाजपा से समझौता बना रहेगा.

मतदाताओं को प्रभावित करने के लिए धन के इस्तेमाल की आ रही थीं खबरें

चुनाव आयोग ने तमिलनाडु के वेल्लोर लोकसभा सीट पर चुनाव रद्द करने की खबरों पर कहा कि ऐसा अभी तक कोई आदेश नहीं है. आयोग का यह स्पष्टीकरण उन तमाम मीडिया रिपोर्ट्स के बाद आया है जिसमें इस लोकसभा सीट पर वोटरों को प्रभावित करने के लिए धन के इस्तेमाल की खबरें चल रही थीं.

चुनाव आयोग की आधिकारिक प्रवक्ता शेफाली शरन ने कहा कि अभी तक ऐसा कोई भी आदेश नहीं है. वेल्लोर लोकसभा सीट पर 18 अप्रैल को मतदान होना है और नतीजे 23 मई को आएंगे. यहां पर कांग्रेस और डीएमके के बीच गठबंधन के बाद बंटवारे में यह सीट डीएमके के खाते में गई है. वहीं बीजेपी-एआईएडीएमके और दूसरी क्षेत्रीय पार्टियों के गठबंधन ने यह सीट एआईएडीएमके को दी है.

कांग्रेस पर जमकर बरसे मोदी, कहा- ओडिशा संपन्न लेकिन भ्रष्ट सरकारों की वजह से गरीब

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ओडिशा के संबलपुर में बोलते हुए कहा, ‘पहले चरण की वोटिंग के बाद ओडिशा से जो संकेत आए हैं उससे साफ़ है कि दिल्ली में फिर एक बार मोदी सरकार और ओडिशा में भाजपा सरकार बनने जा रही है.’ उन्होंने कहा कि आजादी के इतने सालों तक ये भ्रष्टाचार चल रहा था लेकिन कोई रोकने वाला नहीं था. अब मोदी की सरकार ने, आपके इस चौकीदार की सरकार ने ये व्यवस्था बनाई है कि सरकार अगर 100 पैसे भेजे, तो पूरे 100 पैसे देश के गरीबों पर खर्च हों. पहले की भ्रष्ट और कमजोर सरकारों का ही परिणाम है कि आज़ादी के इतने वर्ष बाद भी संपन्न ओडिशा की जनता गरीब ही रही. क्षेत्र और जात-पात के आधार पर भेदभाव, यही कांग्रेस और बीजेडी की उपलब्धि रही है.

जब इस चौकीदार ने विपक्षियों के भ्रष्टाचार के कारोबार पर प्रहार किया तो इनको इतना कष्ट हुआ है कि ये मुझे रास्ते से हटाना चाहते हैं. पीएम ने कहा कि 23 मई को जब फिर एक बार मोदी सरकार आएगी, तो ओडिशा के किसान परिवारों के बैंक खातों में सीधी मदद की व्यवस्था हम करने वाले हैं. कोई भी दलाल आपके पैसे पर पंजा नहीं मार पाएगा.

उन्होंने कहा कि भाजपा की नई सरकार बनने पर एक जल शक्ति मंत्रालय बनाया जाएगा. इसके तहत देशभर की नदियों के, समुद्र के, बारिश के पानी को जरूरतमंदों तक पहुंचाने का मिशन चलाया जाएगा. इससे पानी से जुड़ी समस्याएं कम हो पाएंगी. यहां जमीन के नीचे की सम्पदा और जंगलों की समृद्धि ओडिशा की शक्ति है. ओडिशा की यही शक्ति भारत को ताकत दे रही है. लेकिन इन जंगलों में रहने वालों की पूछ नहीं बल्कि लूट हुई है.

उन्होंने कहा कि आपके इस चौकीदार ने बरसों पुराना खनन कानून बदला. ये तय किया कि जो भी संपदा यहां से निकलती है, उसका एक निश्चित हिस्सा यहीं के विकास में लगना जरूरी है. पीएम ने आवास का मुद्दा उठाते हुए कहा कि 2022 तक ओडिशा के हर गरीब, वंचित, पिछड़े, आदिवासी परिवार के पास अपना पक्का घर हो, ये लक्ष्य लेकर हम चल रहे हैं.
यहां जो भाजपा की नई सरकार बनेगी और दिल्ली में फिर एक बार भाजपा सरकार बनेगी, तो वो सरकार ओडिशा में आयुष्मान भारत योजना भी लागू करेगी.

सर्वोच्च न्यायालय ने किया सुनवाई से इनकार

सर्वोच्च न्यायालय ने बसपा सुप्रीमो मायावती को करारा झटका देते हुए उनकी अर्जी खारिज कर दी है. मायावती ने चुनाव आयोग द्वारा उन पर लगाए गए 48 घंटे के प्रतिबंध के खिलाफ अर्जी दाखिल की थी जिस पर अदालत ने सुनवाई करने से इनकार कर दिया. मायावती की ओर से पेश दुष्यंत दवे ने दिन में प्रस्तावित महत्वपूर्ण बैठकों का हवाला देते हुए अदालत से उनकी दलील सुनने का आग्रह किया था, जिसे अदालत ने ठुकरा दिया. अदालत ने कहा कि अगर आप व्यथित हैं तो अलग से एक याचिका दाखिल करें.

वहीं इससे पहले बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने चुनाव आयोग द्वारा प्रचार पर रोक को लेकर आयोग पर जातिवादी मानसिकता से ग्रस्त होने का आरोप लगाया है. मायावती ने सोमवार रात लखनऊ में प्रेसवार्ता कर आयोग की कार्रवाई पर प्रश्न चिन्ह लगाया.

उन्होंने कहा कि आयोग जो नोटिस उन्हें भेजा था, उसमें भड़काऊ भाषण के मुद्दे का कोई जिक्र नहीं था. चुनाव आयोग ने बिना मेरा पक्ष सुने ही मुझ पर प्रतिबंध लगा दिया. अब अगले दो दिन होने वाली रैलियों में मैं तो नहीं जा पाऊंगी, लेकिन मेरे कार्यकर्ता मेरा संदेश लोगों तक जरूर पहुंचाएंगे.

मायावती ने आरोप लगाया, ‘चुनाव आयोग ने एकतरफा फैसला दिया है. मुझे बोलने और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के मौलिक अधिकार से वंचित कर दिया है. इस दिन को चुनाव आयोग के इतिहास में काले दिन के रूप में जाना जाएगा. उन्होंने आयोग पर प्रधानमंत्री मोदी और अमित शाह को खुली छूट देने का आरोप भी लगाया.’ मायावती ने कहा कि आयोग ने जो नोटिस भेजा था और जो जवाब उन्होंने भेजा था उसकी कॉपी भी मीडिया में जारी की जाएगी.

योगी आदित्यनाथ ने मंदिर में किया हनुमान चालीसा का पाठ

चुनाव आयोग की ओर से लगे प्रतिबंध के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को मंदिर में हनुमान चालीसा का पाठ किया. उनके साथ प्रदेश सरकार के मंत्री अशुतोष टंडन ‘गोपाल जी’ मौजूद रहे.

योगी मंगलवार सुबह ही हनुमान सेतु मंदिर पहुंच गए. करीब 15 मिनट तक मंदिर में रुककर हनुमान चालीसा का पाठ किया. चुनाव आयोग ने आदर्श आचार संहिता उल्लंघन के मामले में सख्त कार्रवाई करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के चुनाव प्रचार करने पर 72 घंटों का प्रतिबंध लगा दिया है. 16, 17 और 18 अप्रैल तक कोई चुनाव प्रचार नहीं कर सकेंगे. 16 अप्रैल को उनकी कर्नाटक के बीदर, हुबली और उडुपी में तीन रैलियां प्रस्तावित थीं.

सीएम ने आचार संहिता के उल्लंघन के आरोपों का खंडन करते हुए कहा था कि वह कभी भी धर्म और जाति के नाम पर वोट नहीं मांगे, बल्कि यह काम विपक्ष ने किया है. धर्म या जाति के आधार पर वोट मांगने का आरोप पूरी तरह गलत हैं. योगी ने ट्विटर पर लिखा था कि बजरंग बली में उनकी अटूट आस्था है और किसी को बुरा लगे या कोई इससे अज्ञानतावश असुरक्षित महसूस करता है तो वह इस डर से अपनी इस आस्था को छोड़ नहीं सकते हैं. बजरंग बली उनके आराध्य हैं और हर शुभ कार्य के अवसर पर उनका स्मरण करते हैं.

गृहमंत्री राजनाथ व कौशल किशोर आज करेंगे नामांकन

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह लखनऊ से और मोहनलालगंज से भाजपा अनुसूचित मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष कौशल किशोर आज अपना नामांकन दाखिल करेंगे. भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्र नाथ पांडेय व दोनों उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा और केशव प्रसाद मौर्य व प्रदेश सरकार के कई मंत्री इस दौरान मौजूद रहेंगे.

प्रदेश मीडिया इंचार्ज मनीष दीक्षित के अनुसार, गृह मंत्री राजनाथ और कौशल किशोर हजरतगंज होते हुए कलक्ट्रेट पहुंचेंगे. इस दौरान उनका जगह-जगह स्वागत भी होगा. दोनों नेता हजरतगंज स्थित हनुमान मंदिर में हवन पूजन करने भी जाएंगे.

गौरतलब है कि लखनऊ सीट भाजपा के पास करीब दो दशकों से है. इस सीट पर भाजपा ने एक बार फिर राजनाथ सिंह को मैदान में उतारा है. 2014 में राजनाथ सिंह इस सीट से भारी मतों से जीते थे. हालांकि, अभी कांग्रेस और सपा-बसपा-रालोद गठबंधन ने कोई प्रत्याशी नहीं उतारा है.


Share Your Views

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here