Thursday, 20 January, 2022
होमडिफेंसजब अभिनंदन को पता लगा कि वो पीओके में है, उन्होंने अपने सारे दस्तावेज निगल लिए

जब अभिनंदन को पता लगा कि वो पीओके में है, उन्होंने अपने सारे दस्तावेज निगल लिए

घुसपैठिए पाक जेट का पीछा करते हुए अभिनंदन पीओके में उतर गए थे, जब उन्हें इसकी जानकारी लगी तो उन्होंनेआधिकारिक दस्तावेजों को निगलने की कोशिश की.

Text Size:

नई दिल्ली: एक रिपोर्ट के मुताबिक, जब विंग कमांडर अभिनंदन वर्थमान को यह एहसास हुआ कि वह नियंत्रण रेखा (एलओसी) के गलत हिस्से पर उतर चुके हैं तब उन्होंने अपने आप को भीड़ से बचाने के लिए हवाई फायरिंग की. जिसके बाद उन्हें पाकिस्तानी सेना द्वारा बंधक बना लिया गया.

घुसपैठिए पाकिस्तानी जेट का पीछा करने के लिए पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में उतरे भारतीय वायु सेना (आईएएफ) अधिकारी ने अपने पास मौजूद दस्तावेजों को निगलने और नष्ट करने की भी कोशिश की.

गुरुवार को, पाकिस्तान के एक अखबार ‘डॉन’ में प्रकाशित रिपोर्ट में स्पष्ट रूप से बताया गया है कि अधिकारी ने बंधक बना लिए जाने पर पहले से बनाए गए नियमों का पालन किया.


यह भी पढ़ें: युद्ध के बंधकों और घायलों को बचाने वाली जेनेवा संधि का पाकिस्तान ने किया है उल्लंघन


बुधवार को पाकिस्तानी सेना द्वारा जारी किए गए एक वीडियो में, अभिनंदन स्पष्ट रूप से कई सवालों के जवाब दे रहे हैं, किस हेलिकाप्टर से आए या फिर घर का पता जैसी जानकारी देने से इंकार कर रहे हैं.

‘भारत या पाकिस्तान?’

पाकिस्तानी दैनिक की रिपोर्ट में कहा गया कि उनके पास सेना के जवान से पहले स्थानीय नागरिक पहुंचे.  पिस्तौल से लैस उस पायलट ने वहां मौजूद युवाओं से पूछा, ‘यह भारत है या पाकिस्तान.’

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

एक रिपोर्ट के मुताबिक,’वहां मौजूद एक युवक ने समझदारी से जवाब दिया कि यह भारत है. वो पायलट जिसकी बाद में पहचान विंग कमांडर अभिनंदन के रूप में हुई, उसने कुछ नारे लगाए और पूछा कि यह भारत में कौन सी जगह है.’

‘फिर उसी लड़के ने बताया कि यह किलान (पाक अधिकृत कश्मीर) है.  पायलट ने उसे बाद में बताया कि उसकी ‘पीठ टूट गई है’ और उसे पीने के लिए पानी चाहिए.’


यह भी पढ़ें: भारत की पाक को चेतावनी, हिरासत में लिए गये जवान को बिना नुकसान पहुंचाये जल्द लौटाए


उस समय आईएएफ अधिकारी और सेवानिवृत्त एयर मार्शल के बेटे ने नारे लगाने शुरू किए जिसके जवाब में युवाओं ने पाकिस्तानी सेना के पक्ष में नारे लगाए.

रिपोर्ट के मुताबिक, इसके बाद अभिनंदन ने हवा में गोली चला दी, जबकि लड़कों ने अपने हाथों में पत्थर उठा लिए.  फिर भारतीय पायलट ने पीछे की दिशा में आधा किलोमीटर की दौड़ लगाई. और पीछा कर रहे लड़कों की तरफ अपनी पिस्तौल लहरा दी. रिपोर्ट के अनुसार उन्होंने खुद को बचाने और उनलोगों को डराने के लिए गोली चलाई.

इसके बाद वे पास ही मौजूद एक छोटे से तालाब में कूद गए, जहां उन्होंने अपनी जेब से कुछ दस्तावेज और नक्शे निकाले, जिनमें से कुछ को उन्होंने निगलने की कोशिश भी की और कुछ को पानी में भिगो दिया.

रिपोर्ट में कहा गया है कि जिस लड़के के हाथ में बंदूक थी, उसने उस पायलट को हथियार छोड़ने को कहा और इस बीच एक लड़के ने उनके पैर में गोली मार दी.’

‘अंत में, वे उस तालाब से बाहर आए और कहा कि उन्हें गोली नहीं मारी जानी चाहिए. जिसके बाद उनलोगों ने उन्हें पकड़ लिया.’

अभिनंदन पकड़े जाने के बाद जारी हुए विडियो से पता चलता है कि स्थानीय लोगों द्वारा उनकी पिटाई की गई थी, जिससे उनके चेहरा खून से लथपथ दिखाया गया है.

दोनों परमाणु हथियारों से लैस पड़ोसी देशों के बीच तनातनी पिछले 48 घंटों से जारी है. मंगलवार को भारतीय वायु सेना ने पाकिस्तानी संरक्षण में पल रहे जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी प्रशिक्षण शिविर पर हवाई हमला किया था, जिसके बाद जवाबी कार्रवाई में पाकिस्तानी वायुसेना ने भारत के एयरस्पेश में घुसपैठ की.

(इस खबर को अंग्रेजी में पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें)

share & View comments