Saturday, 25 June, 2022
होमविदेशभारतीय मूल के दो गायकों को मिला ग्रैमी, लता मंगेशकर को प्रोग्राम में नहीं किया याद तो नाराज हुए फैंस

भारतीय मूल के दो गायकों को मिला ग्रैमी, लता मंगेशकर को प्रोग्राम में नहीं किया याद तो नाराज हुए फैंस

दिवंगत गायिका लता मंगेशकर को 64वें वार्षिक ग्रैमी पुरस्कार के ‘इन मेमोरियम’ खंड में शामिल नहीं किया गया, जिससे उनके प्रशंसक काफी निराश हैं और कार्यक्रम की आलोचना कर रहे हैं.

Text Size:

नई दिल्ली: न्यूयॉर्क में रहने वाली भारतीय-अमेरिकी गायिका फाल्गुनी शाह को ‘ए कलरफुल वर्ल्ड’ के लिए सर्वश्रेष्ठ बाल एल्बम श्रेणी में ग्रैमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया है.

शाह को ‘फालू’ नाम से भी पहचाना जाता है.

मुंबई में जन्मी गायक-गीतकार ने पुरस्कार के लिए ग्रैमी का आयोजन करने वाली ‘रिकॉर्डिंग अकादमी’ का सोशल मीडिया मंच इंस्टाग्राम पर शुक्रिया अदा किया.

शाह ने पुरस्कार समारोह की तस्वीरें साझा करते हुए लिखा, ‘आज के जादुई दिन को बयां करने के लिए मेरे पास शब्द नहीं हैं. ‘ग्रैमी प्रीमियर सेरेमनी’ में प्रस्तुति देना और फिर ‘ए कलरफुल वर्ल्ड’ एल्बम के लिए काम करने वाले सभी बेहतरीन लोगों की ओर से पुरस्कार लेना सम्मान की बात है.’

उन्होंने कहा, ‘हम हमारे काम की इस तरह से सराहना करने के लिए ‘रिकॉर्डिंग अकादमी’ के शुक्र-गुजार हैं. बहुत-बहुत शुक्रिया.’

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

ग्रैमी पुरस्कार समारोह का आयोजन रविवार रात लॉस वेगास में किया गया था.

रिक्की केज़ को मिला दूसरा ग्रैमी

बेंगलुरू में रहने वाले संगीतकार रिक्की केज़ को ‘डिवाइन टाइड्स’ के लिए सर्वश्रेष्ठ नयी एल्बम श्रेणी में ग्रैमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया है. यह उनका दूसरा ग्रैमी पुरस्कार है.

अमेरिका में जन्मे संगीतकार ने प्रतिष्ठित ब्रिटिश रॉक बैंड ‘द पुलिस’ के ड्रमर स्टीवर्ट कोपलैंड के साथ पुरस्कार साझा किया. कोपलैंड ने एल्बम में केज़ के साथ काम किया है.

ग्रैमी पुरस्कार के 64वें समारोह का आयोजन रविवार रात लॉस वेगास में किया गया था.

मंच पर पुरस्कार लेने पहुंचे केज़ ने दर्शकों का अभिवादन नमस्ते कहकर किया. केज़ ने सोशल मीडिया मंच इंस्टाग्राम पर पुरस्कार समारोह की एक तस्वीर साझा करते हुए लिखा, ‘एल्बम ‘डिवाइन टाइड्स’ के लिए ग्रैमी पुरस्कार जीतकर काफी खुश हूं. मेरे साथ खड़े शख्स स्टीवर्ट कोपलैंड का आभारी हूं. आप सभी को प्यार. यह मेरा दूसरा और स्टीवर्ट का छठा ग्रैमी है.’

केज़ को इससे पहले 2015 में ‘विंड ऑफ समसारा’ के लिए सर्वश्रेष्ठ ‘न्यू एज़ एल्बम’ श्रेणी में ग्रैमी पुरस्कार मिला था.

न्यूयॉर्क में रहने वाली भारतीय-अमेरिकी गायिका फाल्गुनी शाह को भी ‘ए कलरफुल वर्ल्ड’ के लिए सर्वश्रेष्ठ बाल एल्बम श्रेणी में ग्रैमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया है.

लता मंगेश्कर को नहीं किया शामिल

दिवंगत गायिका लता मंगेशकर को 64वें वार्षिक ग्रैमी पुरस्कार के ‘इन मेमोरियम’ खंड में शामिल नहीं किया गया, जिससे उनके प्रशंसक काफी निराश हैं और कार्यक्रम की आलोचना कर रहे हैं.

इसके अलावा संगीतकार बप्पी लाहिरी को भी ग्रैमी द्वारा अपने इस खंड में शामिल नहीं करने को लेकर उनके प्रशंसकों ने नाराजगी व्यक्त की.

इससे एक सप्ताह पहले आयोजित ऑस्कर पुरस्कार समारोह के ‘इन मेमोरियम’ खंड में भी लता मंगेशकर को शामिल नहीं किया गया था.

लता का 92 साल की उम्र में इस वर्ष छह जनवरी को निधन हो गया था.

लास वेगास में सोमवार को 2022 ग्रैमी समारोह आयोजित किया गया था जिसमें दिवंगत पार्श्व गायिका को श्रद्धांजलि देने वाले खंड में शामिल नहीं किया गया. इससे महान गायिका के प्रशंसकों ने सोशल मीडिया के विभिन्न माध्यमों के जरिए अपनी नाराज़गी व्यक्त की और हॉलीवुड के प्रतिष्ठित संगीत पुरस्कार आयोजित करने वाली रिकॉर्डिंग एकैडमी की आलोचना की. दरअसल, रिकॉर्डिंग एकैडमी ही हॉलीवुड के इस सबसे बड़े संगीत पुरस्कार कार्यक्रम का आयोजन करती है.

एक उपयोगकर्ता ने टि्वटर पर लिखा कि केवल अमेरिकी संगीत को सम्मानित करने वाला यह कार्यक्रम ‘बेकार और महत्वहीन’ है.

एक अन्य उपयोगकर्ता ने लिखा, ‘थोड़ा अटपटा, वे जब इस वर्ष गुजरने वाले कलाकारों को श्रद्धांजलि दे रहे हैं और ऐसे में भारत की सबसे चहेती गायिका लता मंगेशकर का कोई जिक्र नहीं है, तो यह बिल्कुल बेकार लगा.’

एक अन्य ने लिखा,‘ …. तो ऑस्कर और ग्रैमी दोनों ने ही अपने-अपने श्रद्धांजलि खंड में लता मंगेशकर को याद नहीं किया…, यह शर्मनाक है.’

टि्वटर पर एक अन्य उपयोगकर्ता ने लिखा, ‘ऑस्कर और ग्रैमी पुरस्कार दोनों ही संगीत के क्षेत्र में विविधता को बढ़ावा देने का दावा करते हैं, लेकिन आश्चर्यजनक रूप से उनमें से किसी ने भी लता मंगेशकर को अपने ’इन मेमोरियम’ खंड में शामिल नहीं किया और उन कलाकारों को याद करने की जहमत नहीं उठाई जो अब हमारे बीच नहीं हैं.’

इसके अलावा दिग्गज संगीतकार एवं गायक बप्पी लाहिरी के प्रशंसकों ने भी उन्हें ग्रैमी पुरस्कार के इस खंड में शामिल नहीं करने को लेकर निराशा व्यक्त की. बप्पी लाहिरी का इस वर्ष 15 जनवरी को निधन हो गया था.

एक उपयोगकर्ता ने लिखा, ‘ग्रैमी ने भारतीय इतिहास की सबसे महान गायिका लता मंगेशकर और दिग्गज संगीतकार बप्पी लाहिरी को श्रद्धांजलि नहीं दी. रिकॉर्डिंग एकैडमी ने क्या शानदार तरीके से इन महान कलाकारों को भुला दिया.’

गौरतलब है कि ग्रैमी के ‘इन मेमोरियम’ खंड में प्रसिद्ध ड्रम वादक टेलर हॉकिन्स, हॉलीवुड कलाकार सिडनी पोइटियर और बेट्टी व्हाइट, गायक-अभिनेता मीट लोफ, विसेंट फर्नांडिस, जैज़ संगीतकार चिक कोरिया और अन्य लोगों को श्रद्धांजलि दी गयी.


यह भी पढेंः ‘कट्टरता’ ने कैसे इंजीनियर दीपेंद्र को नफरत फैलाने वाला डासना का महंत यति नरसिंहानंद बना दिया


 

share & View comments