Thursday, 11 August, 2022
होमखेलभारतीय खिलाड़ी कजाकिस्तान एथलेटिक्स मीट में प्रभावित करने में विफल रहे

भारतीय खिलाड़ी कजाकिस्तान एथलेटिक्स मीट में प्रभावित करने में विफल रहे

Text Size:

अल्माटी (कजाखस्तान), 25 जून (भाषा) चक्का फेंक खिलाड़ी नवजीत कौर ढिल्लों शनिवार को यहां कोसानोव मेमोरियल एथलेटिक्स मीट में स्वर्ण पदक जीतने के बावजूद प्रभावित करने में नाकाम रहीं, जिससे उनके राष्ट्रमंडल खेलों (सीडब्ल्यूजी) के चयन पर सवालिया निशान लग गया।

ढिल्लों ने 56.24 मीटर के सर्वश्रेष्ठ थ्रो के साथ प्रतियोगिता जीती। उसने चेन्नई में राष्ट्रीय अंतरराज्यीय चैंपियनशिप (10-14 जून) में 55.67 मीटर के सर्वश्रेष्ठ प्रयास के साथ स्वर्ण पदक जीता था।

ढिल्लों को 16 जून को 36 सदस्यीय भारतीय एथलेटिक्स टीम में शामिल किया गया था, जिसमें उनका चयन ‘कजाखस्तान में बेहतर प्रदर्शन के अधीन था’। भारतीय एथलेटिक्स संघ (एएफआई) द्वारा तैयार सीडब्ल्यूजी क्वालीफाइंग दिशानिर्देश महिलाओं के चक्का फेंक के लिए 58.00 मीटर है।

यह देखना होगा कि ढिल्लों के मामले में एएफआई क्या करेगा, जिन्होंने मई में भुवनेश्वर में इंडियन ग्रां प्री में स्वर्ण पदक जीतने के दौरान 58.03 मीटर के प्रयास के साथ राष्ट्रमंडल खेलों के क्वालीफाइंग मानक को पार किया था।

राष्ट्रमंडल खेलों की टीम में शामिल गोला फेंक खिलाड़ी मनप्रीत कौर ने 14.24 मीटर के सर्वश्रेष्ठ प्रयास के साथ तीसरे स्थान पर रहते हुए निराश किया।  उसने इस महीने की शुरुआत में चेन्नई में राष्ट्रीय अंतरराज्यीय चैंपियनशिप में 18.06 मीटर का राष्ट्रीय रिकॉर्ड बनाया था। वह डोप परीक्षण में विफल रहने के लिए चार साल का प्रतिबंध झेलने के बाद वह पिछले साल प्रतियोगिता में लौटीं।

राष्ट्रीय अंतरराज्यीय चैंपियनशिप में तीसरे स्थान पर रहीं आभा खटुआ ने 16.71 मीटर के सर्वश्रेष्ठ थ्रो के साथ प्रतियोगिता जीती।

स्टार धाविका हिमा दास सहित कई भारतीय एथलीटों ने अपने स्पर्धाओं की शुरुआत नहीं की। वीजा संबंधी दिक्कतों के चलते हिमा कजाकिस्तान की यात्रा नहीं कर सकीं। विश्व चैंपियनशिप (15-24 जुलाई) और राष्ट्रमंडल खेलों के मानकों को प्राप्त करने के लिए 20 से अधिक भारतीय एथलीट दो दिवसीय प्रतियोगिता में भाग ले रहे हैं।

विश्व चैंपियनशिप के लिए क्वालीफाई करने की अंतिम तिथि रविवार है।

रविवार को शॉट पुटर तेजिंदरपाल सिंह तूर और तार गोला फेंक खिलाड़ी सरिता सिंह को चुनौती पेश करनी है। इन दोनों का सीडब्ल्यूजी खेलों में चयन ‘कजाकिस्तान में प्रदर्शन के आधार पर तय’ होना है।

भाषा आनन्द नमिता

नमिता

यह खबर ‘भाषा’ न्यूज़ एजेंसी से ‘ऑटो-फीड’ द्वारा ली गई है. इसके कंटेंट के लिए दिप्रिंट जिम्मेदार नहीं है.

share & View comments