Tuesday, 24 May, 2022
होमराजनीतिविधानसभा चुनाव से पहले त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब ने दिया इस्तीफा

विधानसभा चुनाव से पहले त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब ने दिया इस्तीफा

शनिवार रात आठ बजे बीजेपी के विधायक दल की बैठक होगी जिसमें नए नेता का चुनाव किया जाएगा.

Text Size:

नई दिल्ली: शनिवार को त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया. उन्होंने राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य को अपना इस्तीफा सौंपा.

जानकारी के मुताबिक भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) शनिवार शाम को राज्य का नया मुख्यमंत्री का चुनाव करेगी.

देब ने गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात करने के एक दिन बाद अपना इस्तीफा सौंपा है. खबरों के अनुसार पार्टी नेतृत्व ने यह फैसला लिया है. देब का इस्तीफा ऐसे समय में आया है जब अगले साल राज्य के चुनाव होने हैं.

बिप्लब देब ने कहा,’पार्टी चाहती है कि मैं संगठन को मजबूत करने के लिए काम करूं.’

केंद्रीय मंत्री और बीजेपी के केंद्रीय पर्यवेक्षक भूपेंद्र यादव ने कहा कि रात आठ बजे विधायक दल की बैठक होगी. जिसमें नए नेता का चुनाव किया जाएगा.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

भूपेंद्र यादव ने कहा, ‘बिप्लब देब के नेतृत्व में पिछले 4 सालों में राज्य में काफी विकास हुआ है. उन्होंने राज्यपाल को अपना इस्तीफा सौंप दिया है.’

खबरों की मानें तो पिछले कई महीनों से बिप्लब देब के पद छोड़ने पर अटकलें लगाई जा रही थीं. कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया था कि बीजेपी का संसदीय बोर्ड त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब देब को बदलने पर विचार कर रहा है.

जानकारी के मुताबिक पार्टी राज्य में बीजेपी के सुबल भौमिक सहित सात कांग्रेसी नेताओं के तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) में शामिल होने से नाखुश थी. जिसके बाद पार्टी की राज्य इकाई में सीएम देब की कड़ी आलोचना शुरू हो गई थी. राज्य में कुशासन और हिंसा की खबरों की वजह से भी बीजेपी के नेतृत्व में नाराजगी थी.

साथ ही राज्य इकाई के भीतर अंदरूनी कलह की भी खबरें आ रही थीं.

इसके साथ ही पिछले कुछ समय से त्रिपुरा कांग्रेस भी राज्य में कानून-व्यवस्था की बिगड़ती स्थिति के लिए देब के इस्तीफे की मांग कर रही थी.

भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के 25 साल के शासन को खत्म करके बिप्लब देब 2018 में राज्य के पहले बीजेपी मुख्यमंत्री बने थे.


यह भी पढ़ें: अंत नहीं, लेकिन ऐतिहासिक कदम-उर्दू प्रेस ने देशद्रोह कानून को निलंबित करने के SC के फैसले को सराहा


share & View comments