Sunday, 26 June, 2022
होमराजनीतिसोशल मीडिया के जरिए पहुंच बनाने में लगी MP BJP, हर जिले में FB, इंस्टा, ट्विटर, व्हाट्सएप के लिए होंगे अलग प्रभारी

सोशल मीडिया के जरिए पहुंच बनाने में लगी MP BJP, हर जिले में FB, इंस्टा, ट्विटर, व्हाट्सएप के लिए होंगे अलग प्रभारी

2023 के अंत में चुनाव होने हैं और भाजपा हर प्लेटफॉर्म के लिए अलग-अलग रणनीति बनाकर अपनी सोशल मीडिया आउटरीच बढ़ाना चाहती है. वो हर सीट के लिए एक सोशल मीडिया इंचार्ज भी रखेगी.

Text Size:

नई दिल्ली: मध्य प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी ने चार प्रमुख सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स- फेसबुक, व्हाट्सएप, ट्विटर और इंस्टाग्राम के लिए जिला स्तर पर अलग-अलग सोशल मीडिया प्रभारी नियुक्त किए हैं. ये एक ऐसा कदम है जिसका बुनियादी लक्ष्य वोटर आउटरीच को बढ़ाना है.

एमपी बीजेपी के सोशल मीडिया प्रभारी अभिषेक शर्मा ने कहा कि अभी तक पार्टी में राज्य के 57 जिलों का प्रभार एक-एक व्यक्ति के पास था.

उन्होंने कहा, ‘सोशल मीडिया के चार प्रमुख प्लेटफॉर्म्स हैं और हर प्लेटफॉर्म एक अलग तरह के यूज़र को अपील करता है. रणनीति बनाते हुए अभी तक हमारी सोशल मीडिया योजना में सभी प्लेटफॉर्म्स को एक साथ रखा जाता था. लेकिन फेसबुक अपने आप में एक बड़ा प्लेटफॉर्म है, जबकि व्हाट्सएप की पहुंच बूथ स्तर तक है. इंस्टाग्राम युवाओं को आकृष्ट करता है. इसलिए हमने तय किया कि इन सब प्लेटफॉर्म्स के लिए अलग-अलग प्रभारी रखे जाएंगे’.

शर्मा ने आगे कहा कि प्रदेश के सोशल मीडिया प्रभारी के साथ बेहतर समन्वय के लिए हर व्यक्ति को साथ मिलकर काम करना होगा. मध्य प्रदेश के अगले विधानसभा चुनाव 2023 के अंत में होने हैं.


यह भी पढ़ें: हिबतुल्लाह खुद तो छिपे रह सकते हैं मगर तालिबानी नेतृत्व के अंदर उभरती कलह को नहीं छिपा सकते


हर सीट के लिए भी अलग सोशल मीडिया प्रमुख

शर्मा ने बताया कि बीजेपी ने ये भी तय किया है कि राज्य की हर विधानसभा सीट के लिए एक सोशल मीडिया प्रभारी रखा जाएगा.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

पार्टी सूत्रों के अनुसार, अगर ये प्रयोग सफल साबित होता है, तो बीजेपी दूसरे सूबों में भी इसे अपना सकती है.

एक वरिष्ठ पार्टी नेता ने कहा, ‘जिस तरह से सोशल मीडिया का हर दिन विस्तार हो रहा है, उससे किसी एक व्यक्ति के लिए सभी प्लेटफॉर्म्स को अकेले हैंडल करना काफी मुश्किल हो गया है’.

उन्होंने आगे कहा, ‘सोशल मीडिया प्रभारी का काम होगा इंस्टाग्राम या व्हाट्सएप आदि पर होने वाली तमाम गतिविधियों पर नज़र रखना और पार्टी की हर गतिविधि को अपडेट करना. ये एक नया प्रयोग है और इसे दूसरे सूबों में भी दोहराया जा सकता है’.

एक सूत्र के अनुसार, बीजेपी केंद्रीय नेतृत्व ने मध्य प्रदेश से अपनी सोशल मीडिया मौजूदगी को बढ़ाने के लिए कहा था. उसे ये भी लगा था कि सभी चारों प्लेटफॉर्म्स पर एक समान रणनीति काम नहीं कर सकती.

एक पार्टी पदाधिकारी ने कहा, ‘ये निर्णय काफी शोध के बाद लिया गया’.

एक दूसरे सूत्र ने कहा कि इस कदम से जिलों में हर एक प्लेटफॉर्म्स के लिए अलग-अलग प्रभावकारी लोगों की पहचान करने में सहायता मिलेगी.

एक पार्टी नेता ने कहा, ‘अभी तक हम सभी प्लेटफॉर्म्स के यूज़र्स के लिए एक ही प्रभावकारी व्यक्ति का इस्तेमाल कर रहे थे और ये बहुत कारगर नहीं रहा है. अब जब ये प्रभारी नियुक्त कर दिए गए हैं, तो ये अलग-अलग काम करेंगे और इनके प्रभावकारी व्यक्ति भी अलग होंगे’.

सूत्रों ने कहा कि मध्य प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष वीडी शर्मा सोशल मीडिया पहुंच को बेहतर करने में लगे हुए हैं और वो पार्टी की सोशल मीडिया रणनीति टीम के साथ कई बैठकें कर चुके हैं.

अपने चुनाव नैरेटिव के साथ लोगों तक पहुंचने के लिए प्रदेश इकाई ने पहले भी व्हाट्सएप ग्रुप्स और फेसबुक पन्नों का सक्रियता से इस्तेमाल किया है.

(इस खबर को अंग्रेज़ी में पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें)


यह भी पढ़ें: ‘हिंदुस्तान से अब मन खट्टा हो गया’: ना दाम, ना सवारी और ना ही कमाई


 

share & View comments