scorecardresearch
Tuesday, 11 June, 2024
होमचुनावकर्नाटक विधानसभा चुनावखड़गे ने कहा, कर्नाटक ने BJP को दक्षिण से बाहर किया, डीके शिवकुमार बोले- 40% कमीशन के खिलाफ हुई वोटिंग

खड़गे ने कहा, कर्नाटक ने BJP को दक्षिण से बाहर किया, डीके शिवकुमार बोले- 40% कमीशन के खिलाफ हुई वोटिंग

कांग्रेस नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा, 'कर्नाटक ने लोकतंत्र को नई रोशनी दिखाई है. यह 6.5 करोड़ कन्नड़ लोगों की जीत है. कर्नाटक के गौरव की जीत हुई है!'

Text Size:

नई दिल्ली : कर्नाटक विधानसभा चुनाव में बड़ी जीत के बाद कांग्रेस नेताओं ने शनिवार को बेंगलुरु के पार्टी ऑफिस में बैठक की. नेताओं ने पार्टी की जीत को राज्य की जनता की जीत बताया. खड़गे ने मोदी की तरह खुद कर्नाटक का धरती पुत्र होने की बात कही. वहीं कर्नाटक कांग्रेस अध्यक्ष डीके शिवकुमार ने कांग्रेस जीत को भाजपा की 40% कमीशन, करप्शन और लूट के खिलाफ बताया.

खड़गे ने कहा, ‘मोदी जी कहते हैं- मैं गुजरात का भूमिपुत्र हूं. अगर वे गुजरात के भूमिपुत्र हैं तो मैं भी कर्नाटक का भूमिपुत्र हूं. सच में यह जीत कर्नाटक की जनता की है.

उन्होंने कहा, ‘जिन लोगों ने कांग्रेस मुक्त भारत की बात की, वे दक्षिण से बाहर हो गए! लोगों के जनादेश से भाजपा का घमंड चूर हो गया.’

वहीं कर्नाटक कांग्रेस के अध्यक्ष डीके शिवकुमार ने कहा, ‘कर्नाटक की जनता ने भाजपा के 40 फीसदी कमीशन, करप्शन और उसकी लूट के खिलाफ वोट किया. कर्नाटक के लोगों ने प्रगति और कांग्रेस की 5 गारंटीज- गृह ज्योति, गृहलक्ष्मी स्कीम, उचित प्रयाण, युवा निधि व अन्न भाग्य- पर वोट दिया.’

वहीं रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा, ‘कर्नाटक ने लोकतंत्र को नई रोशनी दिखाई है. यह 6.5 करोड़ कन्नड़ लोगों की जीत है. कर्नाटक के गौरव की जीत हुई!’

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

गौरतलब है कि कर्नाटक विधानसभा चुनाव के नतीजे शनिवार को आए, जिसमें कांग्रेस पार्टी ने बड़ी जीत हासिल की है. पार्टी अब तक आंकड़ों के मुताबिक 136 सीट मिलती नजर आ रही है जबकि भाजपा 65 सीट और जेडी(एस) 19 और बाकी 4 सीट मिलती दिख रही है.

‘कर्नाटक में नफरत का बाजार बंद हुआ, मोहब्बत की दुकानें खुलीं’

वहीं इससे पहले एक प्रेस कॉन्फ्रेंस  कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने इसे कर्नाटक की जनता की जीत और क्रोनी कैपटिलिज्म (पूंजीवादी सांठ-गांठ) की हार बताया.

राहुल गांधी ने ट्वीट किया है, ‘गरीबों की शक्ति ने भाजपा के पूंजीपति मित्रों की ताकत को हराया है.’

राहुल गांधी ने इस चुनाव में जीत के लिए कर्नाटक की जनता को और अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं को बधाई दी.

उन्होंने कहा, ‘कर्नाटक के चुनाव में एक तरफ क्रोनी कैपिटलिस्ट की ताकत थी, दूसरी तरफ गरीब जनता की शक्ति थी. और शक्ति ने ताकत को हरा दिया. और यही हर राज्य में होगा. कांग्रेस पार्टी कर्नाटक में गरीबों के साथ खड़ी हुई. हम गरीबों के मुद्दों पर लड़े.’

उन्होंने कहा कि, ‘मुझे सबसे अच्छी बात यह लगी कि हमने नफरत से, गलत शब्दों से यह लड़ाई नहीं लड़ी. हमने मोहब्बत से, प्यार से, दिल से ये लड़ाई लड़ी. और कर्नाटक की जनता ने ये दिखाया कि मोहब्बत इस देश को अच्छी लगती है.’

वहीं पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए गांंधी ने कहा, ‘कर्नाटक में नफरत का बाजार बंद हुआ, मोहब्बत की दुकानें खुली हैं. ये सबकी जीत है. सबसे पहले ये कर्नाटक की जनता की जीत है. हमने चुनाव में कर्नाटक की गरीब जनता से 5 वादे किए थे. मैंने अपने भाषण में कहा, खड़गे जी ने भाषण में कहा, सब नेताओं ने कहा था कि हमारे पांच वादे हैं, इन वादों को पहले दिन, पहली कैबिनेट में पूरा करेंगे.’

वहीं कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा है, ‘जनता ने हमें जिताया और भ्रष्ट सरकार को हराया है. हम अपने वादे निभाएंगे, कलेक्टिव लीडरशिप में हमने चुनाव लड़ा और इसे बल मिला. इस जीत का क्रेडिट हमारी लीडरशिप और सभी कार्यकर्ताओं को जाता है.’


यह भी पढ़ें : ‘कर्नाटक में नफरत का बाजार बंद हुआ, मोहब्बत की दुकानें खुलीं’, कांग्रेस की जीत पर बोले राहुल गांधी


 

share & View comments