Sunday, 26 June, 2022
होमराजनीतिगोवा में कांग्रेस की बढ़ी मुश्किलें, प्रियंका के दौरे से पहले कई पार्टी नेताओं ने दिया इस्तीफा

गोवा में कांग्रेस की बढ़ी मुश्किलें, प्रियंका के दौरे से पहले कई पार्टी नेताओं ने दिया इस्तीफा

जहां विपक्षी दल शुक्रवार को महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा की अगुवाई में कई बैठकों के लिए तैयारी में जुटा है, वहीं कई कांग्रेसी नेताओं ने इस्तीफा दे दिया है.

Text Size:

पणजीः कांग्रेस की गोवा इकाई को राज्य में आगामी चुनावों के लिए समान विचारधारा वाले दलों के साथ गठबंधन को लेकर भ्रम की स्थिति और इस्तीफों का सामना करना पड़ रहा है जहां विपक्षी दल शुक्रवार को महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा की अगुवाई में कई बैठकों के लिए तैयारी में जुटा है.

पोरवोरिम विधानसभा क्षेत्र के कांग्रेस नेताओं के एक समूह ने शुक्रवार सुबह इस्तीफा दे दिया. निर्दलीय विधायक रोहन खुंटे द्वारा समर्थित समूह ने दावा किया कि कांग्रेस 2022 की शुरुआत में होने वाले विधानसभा चुनाव लड़ने के लिए गंभीर नहीं है.

पूर्व जिला पंचायत सदस्य गुपेश नाइक, जिन्होंने पोरवोरिम से समूह का नेतृत्व किया, ने संवाददाताओं को बताया, ‘कांग्रेस पार्टी आगामी गोवा चुनाव को गंभीरता से लड़ने में दिलचस्पी नहीं दिखा रही है. इसके कुछ नेताओं के रवैये के कारण इसकी सफलता की संभावना नहीं है.’

कांग्रेस को एक और झटका देते हुए, दक्षिण गोवा से उसके वरिष्ठ नेता मोरेनो रेबेलो ने भी इस्तीफा दे दिया.

रेबेलो के त्याग पत्र में दावा किया गया है कि पार्टी द्वारा कर्टोरिम निर्वाचन क्षेत्र से मौजूदा विधायक एलेक्सो रेजिनाल्डो लौरेंको को ‘पार्टी के खिलाफ काम करने के बावजूद’ ‘उम्मीदवार’ घोषित करने से वह परेशान हैं. रेबेलो कर्टोरिम के रहने वाले हैं.’

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

रेबेलो ने गोवा प्रदेश कांग्रेस कमेटी (जीपीसीसी) के अध्यक्ष गिरीश चोडानकर को संबोधित पत्र में कहा, ‘एलेक्सो रेजिनाल्डो लौरेंको, जिन्होंने पिछले साढ़े चार वर्षों से कभी किसी पार्टी गतिविधि में भाग नहीं लिया है और इसके विपरीत केवल पार्टी के नेताओं और आपको अपशब्द कहे हैं, ने हाल ही में हुए जिला पंचायत चुनाव में कर्टोरिम के आधिकारिक उम्मीदवार के खिलाफ काम किया है. इसके बावजूद उन्हें पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष के रूप में पदोन्नत और हाल ही में आयोजित एक सम्मेलन के दौरान वरिष्ठ नेताओं द्वारा उम्मीदवार के रूप में घोषित किया गया.’

विधानसभा चुनावों के लिए गोवा फॉरवर्ड पार्टी (जीएफपी) के साथ कांग्रेस की समझ को लेकर पार्टी में मतभेद उभरने के बाद इस्तीफों का सिलसिला शुरू हो गया है.

अखिल भारतीय कांग्रेस कमिटी (एआईसीसी) गोवा चुनाव प्रभारी पी चिदंबरम ने बृहस्पतिवार को कहा कि जीएफपी ने केवल कांग्रेस को समर्थन दिया है और इस स्तर पर इसे गठबंधन मानने से इनकार कर दिया.

वहीं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिनेश गुंडू राव ने जीएफपी प्रमुख विजय सरदेसाई और चोडानकर के बीच शनिवार को बैठक का प्रस्ताव रखा है.

प्रियंका गांधी गोवा की अपनी एक दिन की यात्रा के दौरान विभिन्न कार्यक्रमों को संबोधित करने और युवाओं एवं महिलाओं के साथ बातचीत करने वाली हैं.


यह भी पढ़ेंः यूपी में प्रियंका गांधी ने जारी किया महिला घोषणा पत्र, सरकारी नौकरियों में 40 प्रतिशत आरक्षण का दावा


 

share & View comments