Thursday, 30 June, 2022
होमराजनीति'UP में नहीं है तू-तू मैं-मैं की जगह, दंगा फसाद दूर की बात,' योगी बोले- रामनवमी पर 800 जगह निकले जुलूस

‘UP में नहीं है तू-तू मैं-मैं की जगह, दंगा फसाद दूर की बात,’ योगी बोले- रामनवमी पर 800 जगह निकले जुलूस

योगी ने कहा कि 25 करोड़ की आबादी यूपी में रहती है, 800 स्थानों पर राम नवमी की शोभा यात्रा थी जुलूस निकाला गया और साथ साथ इस समय रमजान का महीना चल रहा है रोजा इफ्तार के भी कार्यक्रम रहे होंगे. कहीं भी कोई तू-तू मैं-मैं नहीं हुआ.

Text Size:

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि यूपी में दंगा फसाद के लिए कोई जगह नहीं है. ये यूपी की विकास की नई सोच को प्रदर्शित करता है.

उन्होंने कहा यूपी में अब दंगा-फसाद के लिए कोई जगह नहीं है. अराजकता के लिए गुंडागर्दी के लिए और अफवाह के लिए भी कोई जगह नहीं है.

मुख्यमंत्री योगी लखनऊ में भाजपा के पूर्व नेता लालजी टंडन की जयंती पर ये बातें कहीं. उन्होंने कहा, ‘रामनवमी पर यूपी में 800 से ज्यादा जगहों पर जुलूस निकाले गए लेकिन कहीं भी कोई तू-तू मैं-मैं नहीं हुई दंगे-फसाद की बात तो दूर है.’

योगी ने आगे कहा कि ’25 करोड़ की आबादी यूपी में रहती है, 800 स्थानों पर राम नवमी की शोभा यात्रा थी जुलूस निकाला गया और साथ साथ इस समय रमजान का महीना चल रहा है रोजा इफ्तार के भी कार्यक्रम रहे होंगे. कहीं भी कोई तू-तू मैं-मैं नहीं हुई दंगे फसाद की बात तो दूर है.’

मुख्यमंत्री ने कहा, ‘ये उत्तर प्रदेश के नए विकास की बात को प्रदर्शित कर रहा है. कि अब यहां अराजकता के लिए कोई जगह नहीं है. गुंडागर्दी के लिए अफवाह के लिए कोई जगह नहीं है. उत्तर प्रदेश की जनता ने रामनवमी के अवसर पर मर्यादा पुरुषोत्तम राम की पावन जयंती यह साबित कर दिया है.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

रामनवमी के दौरान देश के कई हिस्सों से हिंसा की खबरें आईं हैं. मध्य प्रदेश से लेकर गुजरात, राजस्थान, पश्चिम बंगाल और ओडीशा में रामनवमी के जुलूस के दौरान दुकानें जलाने से लेकर पथराव तक किए गए.


यह भी पढ़ें: पवार के घर पर हमले को लेकर NCP के सामने एक मुश्किल सवाल- साजिश या फिर संवाद का अभाव


इससे पहले, सीएम योगी ने लालजी टंडन को याद करते हुए कई ट्वीट किए. उन्होंने लिखा, ‘लालजी टंडन का व्यक्तित्व सकारात्मक राहों को आगे बढ़ाने का एक माध्यम था. अतः हर एक कार्यकर्ता उन पर गौरव की अनुभूति करता था. किसी की कहीं भी सुनवाई नहीं होती थी तो ‘बाबूजी’ उसके लिए उपलब्ध रहते थे. केवल भाजपा ही नहीं अन्य दल व समुदाय के लोग भी उनके पास जाते थे.’

सीएम योगी ने लिखा कि लालजी टंडन आज भौतिक रूप से भले हम लोगों के बीच में नहीं हैं, लेकिन वे अपने कार्यों, लेखन व स्मृतियों के माध्यम से सदैव जीवंत रहेंगे. उनकी जयंती के अवसर पर यूपी सरकार की ओर से उन्हें विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए उनकी स्मृतियों को कोटि-कोटि नमन करता हूं.

बता दें कि इससे पहले योगी आदित्यनाथ ने कई लालजी टंडन की जयंति के अवसर पर कई ट्वीट भी किए थे वहीं यूपी में विधानपरिषद के चुनावों में भारतीय जनता पार्टी को मिली जीत का सेहरा भी भारतीय जनता पार्टी के कई नेताओं ने सीएम योगी के सेहरे पर बांधा है.

विधान परिषद पर 35 सीटों में से 33 सीटों पर भाजपा जीती है. पीएम मोदी ने भी इस जीत का सेहरा योगी पर बांधते हुए ट्वीट किया,’उत्तर प्रदेश विधान परिषद के चुनावों में सभी विजयी उम्मीदवारों को बहुत-बहुत बधाई. यह जीत एक बार फिर भाजपा के विकास मॉडल पर जनता-जनार्दन के विश्वास की अभिव्यक्ति है. @myogiadityanath जी की सरकार के साथ ही पार्टी संगठन से जुड़े सभी कार्यकर्ताओं को ढेरों शुभकामनाएं.’

इस पर आभार व्यक्त करते हुए योगी ने जवाब दिया, ‘आपकी शुभकामनाओं हेतु हार्दिक आभार आदरणीय प्रधानमंत्री जी. यह विजय आपके लोक-कल्याणकारी नेतृत्व व मार्गदर्शन के प्रति असीम जन-विश्वास और @BJP4UP के प्रतिबद्ध कार्यकर्ताओं के अथक परिश्रम का सुफल है. ‘सबका साथ-सबका विकास’ के सुपथ पर चलकर सुशासन की विजय यात्रा ऐसे ही जारी रहेगी.


यह भी पढ़ें: नीतीश की सुरक्षा में फिर सेंधमारी, मुख्यमंत्री के कार्यक्रम स्थल पर बम फटा, एक शख्स गिरफ्तार


 

share & View comments