scorecardresearch
Thursday, 23 May, 2024
होमराजनीति'कश्मीर ने मुझे हैंड ग्रैनेड नहीं प्यार दिया,' बारिश से शुरू हुई 'भारत जोड़ो यात्रा' बर्फबारी के साथ खत्म

‘कश्मीर ने मुझे हैंड ग्रैनेड नहीं प्यार दिया,’ बारिश से शुरू हुई ‘भारत जोड़ो यात्रा’ बर्फबारी के साथ खत्म

जहां एक तरफ राहुल गांधी ने तिरंगा फहराकर एवं नाचते हुए भारत जोड़ो यात्रा का समापन किया वहीं दूसरी तरफ वो बहन प्रियंका के साथ श्रीनगर में बर्फ से खेलते हुए नज़र आये.

Text Size:

नई दिल्ली: भारी बर्फबारी के बीच राहुल गांधी की पिछले चार महीने से चल रही भारत जोड़ो यात्रा का जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर में सोमवार को समापन किया गया.

सुबह से ही श्रीनगर में आज बर्फबारी हो रही है इसबीच राहुल गांधी बहन प्रियंका के साथ बर्फ के गोलों के साथ खेलते नजर आए.

इस अवसर पर राहुल ने 136 दिनों की पैदल यात्रा के दौरान ‘भारत यात्रियों’ द्वारा दर्शाए गए प्यार, लगाव और समर्थन के लिए उनका आभार जताया.

भारत जोड़ो यात्रा के समापन के बाद श्रीनगर के शेर-ए-कश्मीर स्टेडियम में रैली के दौरान राहुल ने सम्बोधन में कहा कि ‘भारत जोड़ो यात्रा से बहुत कुछ सीखा, घुटने के दर्द के बाद भी चलता रहा, पीएम मोदी और अमित शाह दर्द को नहीं समझ सकते. बीजेपी का कोई नेता ऐसे नहीं चल सकता हैं.’

पीएम मोदी और शाह पर लगातार हमलावर रहे राहुल ने कहा, ‘मोदी जी, अमित शाह जी, RSS के लोगों ने हिंसा नहीं देखी है. वे डरते हैं. भाजपा का कोई नेता यहां पैदल ऐसे नहीं चल सकता इसलिए नहीं कि जम्मू कश्मीर के लोग उन्हें चलने नहीं देंगे बल्कि इसलिए क्योंकि वो डरते हैं.’

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

इस दौरान राहुल कई बार भावुक भी हुए उन्होंने इस दौरान अपने पिता राजीव गांधी और दादी इंदिरा गांधी को भी याद किया.

कड़कड़ाती ठंड में सफेद हाफ टी-शर्ट पहनने को लेकर सुर्खियांं बटोर चुके राहुल ने आज बताया कि, “जब मैं कन्याकुमारी से आगे बढ़ रहा था तब मुझे ठंड लग रही थी. मैंने कुछ बच्चे देखे. वे गरीब थे, उन्हें ठंड लग रही थी, वे मजदूरी कर रहे थे और कांप रहे थे. मैंने सोचा ठंड में ये बच्चे स्वेटर-जैकेट नहीं पहन पा रहे हैं तो मुझे भी नहीं पहनना चाहिए.”

यात्रा के समापन के दौरान पार्टी अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे, प्रियंका गांधी वाड्रा, जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री मेहबूबा मुफ़्ती और उमर अब्दुल्ला भी मौजूद थे. पार्टी नेताओं की उपस्थिति में कांग्रेस कार्यालय में तिरंगा फहराकर यात्रा का समापन किया गया.

राहुल ने आगे कहा कि “कश्मीर के लोगो ने मुझे हैंड ग्रैनेड नहीं, प्यार दिया हैं. कश्मीर मेरा घर है.”

भारत जोड़ो यात्रा के समापन समारोह में संबोधन के दौरान प्रियंका ने कहा, “मेरा भाई कन्याकुमारी से 4-5 महीने पैदल चला. वे जहां भी जाते, लोग उनके साथ निकल पड़ते. क्यों? क्योंकि इस देश में अभी भी देश के लिए, इस भूमि के लिए, इसकी विविधता के लिए एक जुनून है जो सभी भारतीयों के दिलों में बसता है.”

प्रियंका ने आगे कहा, “जब मेरा भाई कश्मीर आ रहा था, तो उसने मेरी मां और मुझे मैसेज किया. उसने कहा कि उसे ऐसा लग रहा है मानों वो घर वापस जा रहा है. परिवार के सदस्य उनका इंतजार कर रहे हैं. वे आते हैं और उन्हें आंखों में आंसू लिए गले लगाते हैं.”

यात्रा का अंत करते हुए राहुल गांधी पार्टी कार्यकर्ताओं और जनता के बीच नाचते एवं मस्ती करते हुए नज़र आये.

बर्फ़बारी में मस्ती

जहां एक तरफ राहुल गांधी ने तिरंगा फहराकर एवं नाचते हुए भारत जोड़ो यात्रा का समापन किया वहीं दूसरी तरफ वो बहन प्रियंका के साथ श्रीनगर में हो रही बर्फ़बारी का आनंद लेते हुए एवं बर्फ में खेलते हुए भी नज़र आये.

कांग्रेस सांसद राहुल गांधी और पार्टी की महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा पार्टी कार्यालय में तिरंगा फहराने के बाद श्रीनगर की बर्फ़बारी का लुत्फ़ उठाते नज़र आये.

सफेद टी-शर्ट और हाफ जैकेट पहने राहुल ने शहर में ताजा बर्फबारी के बीच यात्रा का समापन करते हुए राष्ट्रगान की धुन के बीच पंथाचौक स्थित शिविर स्थल पर झंडा फहराया. हालांकि बाद में बढ़ते बर्फ़बारी के बीच राहुल गर्म कपड़ो (विशेष कश्मीरी ड्रेस फेरन) में नज़र आये.

यात्रा के समापन में जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री मेहबूबा मुफ़्ती भी शामिल रहीं, उन्होंने कहा, “राहुल, आपने कहा कि आप कश्मीर में अपने घर आये हो. यह आपका ही घर है. मुझे उम्मीद है कि गोडसे की विचारधारा ने जम्मू-कश्मीर से जो छीन लिया, वह देश को वापस मिल जाएगा. गांधी जी ने कहा था कि वह जम्मू-कश्मीर में आशा की किरण देखते है. आज देश को राहुल गांधी में आशा की किरण दिख रही है.”

राहुल ने रविवार को ‘भारत जोड़ो यात्रा’ के लिए सात सितंबर से जारी अपनी पदयात्रा के समापन के अवसर पर लाल चौक के ऐतिहासिक घंटाघर पर राष्ट्रीय ध्वज फहराया था.

बता दें कि करीब 4,000 किलोमीटर चलने के बाद राहुल गांधी ने कल श्रीनगर के लाल चौक पर भी तिरंगा लहराया था. इस यात्रा का 135 दिनों के बाद आज श्रीनगर में समापन हुआ है.


यह भी पढ़ें: ‘तिरंगे से भी ऊंचा राहुल गांधी का कटआउट’, कांग्रेस नेता ने श्रीनगर के लाल चौक पर फहराया राष्ट्रीय झंडा


share & View comments