scorecardresearch
Monday, 27 May, 2024
होममत-विमतसर्दियों में पुरुषों की त्वचा की देखभाल का मतलब सिर्फ मॉइस्चराइजेशन नहीं है, कुछ और भी करना होगा

सर्दियों में पुरुषों की त्वचा की देखभाल का मतलब सिर्फ मॉइस्चराइजेशन नहीं है, कुछ और भी करना होगा

केवल दवाओं की दुकानों के प्रोडक्ट्स चुनने से कोई फ़र्क नहीं पड़ेगा. त्वचा की देखभाल उससे भी कहीं गहरी बात है.

Text Size:

सर्दियों में त्वचा की देखभाल का मतलब सिर्फ मॉइस्चराइज़ेशन नहीं है. दिल्ली जैसी जगहों पर, जहां प्रदूषण का स्तर दिन-ब-दिन बढ़ रहा है, सर्दी आपकी त्वचा के लिए अधिक कठोर साबित हो सकती है. इन वर्षों में, मैं बहुत से पुरुष रोगियों से मिली हूं जो शुष्क त्वचा, एलर्जी, खुजली, शेविंग के बाद जलन, सोरायसिस और सेबोरॉइक डर्मेटाइटिस या डैंड्रफ से संबंधित समस्याओं के लिए सलाह ले रहे हैं.

हालांकि, केवल दवाएं चुनने से कोई फ़र्क नहीं पड़ेगा. त्वचा की देखभाल उससे भी कहीं गहरी बात है.

सनस्क्रीन यूज़ करें, पानी पीते रहें

हालांकि, हो सकता है कि सर्दियों के मौसम में आपको पानी पीने की इच्छा महसूस न हो, लेकिन पर्याप्त पानी पीने में लापरवाही न बरतें. शुष्क त्वचा की समस्या से निपटने के लिए खूब पानी पियें. आपको अपनी त्वचा का प्राकृतिक तेल बचाने के लिए के लिए सौम्य, हल्के और हाइड्रेटिंग क्लिंजर का भी उपयोग करना चाहिए. यदि आप जल्दी उठते हैं, तो सुबह सबसे पहले अपना चेहरा न धोएं-कुछ घंटों के बाद ऐसा करें.

गर्म पानी के प्रयोग से बचें, क्योंकि इससे त्वचा और भी अधिक शुष्क हो सकती है. धोने के तुरंत बाद मॉइस्चराइज़र का उपयोग करना एक अच्छी प्रेक्टिस है, क्योंकि तब त्वचा इमोलिएंट्स को बेहतर तरीके से अवशोषित करती है और नमी को बरकरार रखती है. ग्लिसरीन, हाइलूरॉनिक एसिड या सेरामाइड्स जैसे अवयवों वाले उत्पादों की तलाश करें. लिप बाम का उपयोग करने से सूखे और फटे होठों से राहत मिल सकती है; यहां तक कि रात भर देसी घी की एक बूंद छिड़कना भी एक अच्छा विचार है.

कड़ाके की सर्दियां और गुनगुनी धूप का मतलब यह नहीं है कि आप सनस्क्रीन लगाना छोड़ दें. बाहर निकलने से पहले ब्रॉड-स्पेक्ट्रम सनस्क्रीन लगाएं; यदि आप मेकअप का उपयोग कर रहे हैं, तो एसपीएफ वाले उत्पाद खरीदें.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

एक्सफोलिएशन भी त्वचा की देखभाल का एक अनिवार्य हिस्सा है. मृत त्वचा कोशिकाओं को हटाने और त्वचा को साफ और जलन मुक्त रखने के लिए सप्ताह में एक बार धीरे से एक्सफोलिएट करें. अपनी त्वचा को ठंड और हवा से बचाने के लिए टोपी, स्कार्फ और दस्ताने जैसे सुरक्षात्मक कपड़ों का उपयोग करें. आप फेस मास्क का विकल्प भी चुन सकते हैं – यह आपको उत्तर भारत में धुंध से काफी मदद कर सकता है.


यह भी पढ़ेंः क्या कोरोना महामारी के बाद हार्ट अटैक का खतरा बढ़ गया है? स्वास्थ्य मंत्री मांडविया ने लोगों को चेताया 


शुष्क त्वचा के लिए कुछ उपयोगी उपाय

आजकल, ज्यादातर पुरुष त्वचा की देखभाल की ओर रुख कर रहे हैं, जो एक बड़ा बदलाव है. लेकिन केवल कुछ ही इसे सही समझ पाते हैं.

मैं आपको सलाह देता हूं कि आप पहले अपनी त्वचा के प्रकार को समझें – सामान्य, शुष्क, तैलीय, संवेदनशील – और इंस्टाग्राम के झोलाछाप डॉक्टरों के बजाय त्वचा विशेषज्ञ से सही उपचार लें.

शेविंग के बाद पुरुषों के लिए कुछ उपयोगी शुष्क त्वचा समाधान नीचे दिए जा रहे हैं.

सही शेव करें: सर्दियों के दौरान हाइड्रेटिंग शेविंग क्रीम और तेज़ रेज़र का उपयोग करें. बालों के बढ़ने की दिशा में शेविंग करके जलन को कम किया जा सकता है.

उपयुक्त रेजर चुनें: जो पुरुष रोजाना शेव करते हैं उन्हें पता होना चाहिए कि कौन सा रेज़र उनके लिए सबसे अच्छा काम करता है. विभिन्न दिशाओं में जाने वाले मल्टी-एज्ड रेज़र अक्सर उपयोग करने वालों के लिए बहुत सुरक्षित नहीं हो सकते हैं, क्योंकि वे त्वचा में खिंचाव पैदा कर सकते हैं, जिसके परिणामस्वरूप सूखापन और त्वचा में जलन हो सकती है.

मैं आपको सिंगल-एज्ड ब्लेड का उपयोग करने की सलाह देता हूं, जो सेंसिटिव त्वचा के लिए भी अच्छा है. जिनकी त्वचा अत्यधिक शुष्क है या जिन्हें अक्सर शेव करने की आवश्यकता होती है, वे लेज़र हेयर रिडक्शन का विकल्प चुन सकते हैं. यह उपचार आपको शेविंग सेशन के बीच पर्याप्त समय अंतराल देता है और समय के साथ बालों को और नरम बना देगा.

गर्म पानी से नहाना सीमित करें: गुनगुने पानी से नहाने का विकल्प चुनें और नहाने का समय सीमित करें; ऐसे ट्रांसलुसेंट साबुन का उपयोग करें जिनमें ग्लिसरीन की मात्रा अधिक हो. नहाने के बाद उचित ऑयल से त्वचा को मॉइस्चराइज़ करें – आप एप्रिकॉट या जोजोबा तेल का विकल्प चुन सकते हैं. दो चम्मच तेल को पांच चम्मच पानी में मिलाएं और नहाने के बाद इस मिश्रण का उपयोग करें. आप घर के अंदर की शुष्क हवा में नमी लाने के लिए अपने कमरे में ह्यूमिडिफायर का भी उपयोग कर सकते हैं.

शेव करते समय त्वचा की जांच करें: त्वचा कैंसर आज सबसे आम त्वचा समस्याओं में से एक है. शेव करते समय शुरुआती संकेतों की जांच करें – आप त्वचा के रंग में किसी भी बदलाव, नए निशान या धब्बे, या आकार में बड़े हुए मस्सों या खुजली या खून का पता लगा सकते हैं. मधुमेह से पीड़ित पुरुषों को शेविंग करते समय अतिरिक्त सावधानी बरतनी चाहिए और कट और खरोंच को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए. समय पर एंटीबायोटिक क्रीम का उपयोग जीवन रक्षक हो सकता है.

विशिष्ट उत्पादों का उपयोग करें: त्वचा देखभाल उत्पादों का उपयोग करें जो पुरुषों की जरूरतों को पूरा करते हैं और विशिष्ट त्वचा संबंधी चिंताओं को दूर करते हैं. जिनकी त्वचा तैलीय या मुंहासे होने की संभावना वाली है, वे ऑयल-फ्री और नॉन-कॉमेडोजेनिक मॉइस्चराइज़र का विकल्प चुन सकते हैं. यदि आपकी त्वचा संवेदनशील है, तो यानी फ्रैगरेंस-फ्री या खुशबू रहित उत्पाद आपकी त्वचा को जलन, दाने और शुष्कता से बचा सकते हैं. अन्य गंभीर त्वचा स्थितियों और चिंताओं के लिए, उचित नुस्खे प्राप्त करना सबसे अच्छा है.

स्वस्थ आहार का सेवन करें: अलसी के बीज और घी का अधिक सेवन करें जो सर्दियों में शुष्क त्वचा से निपटने में मदद कर सकते हैं. ओमेगा फैटी एसिड से भरपूर बीज त्वचा की एलर्जी से निपटने में आपकी मदद करते हैं. यदि आप सोरायसिस और बूढ़ी होती त्वचा संबंधी समस्याओं से जूझ रहे हैं तो इन्हें अपनी दिनचर्या का हिस्सा बनाएं.

एंटीऑक्सीडेंट और विटामिन सी से भरपूर मौसमी फल और सब्जियां त्वचा को अंदर से समृद्ध बनाते हैं. धूम्रपान और शराब से बचें, क्योंकि ये त्वचा की उम्र बढ़ने की गति बढ़ा सकते हैं. नियमित व्यायाम ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ावा देता है और आपकी त्वचा के लिए बेहद फायदेमंद है.

ध्यान रखें कि निरंतरता महत्वपूर्ण है, और यदि आपको लगातार त्वचा की चिंता है तो पेशेवर सलाह लेने से न डरें.

(डॉ. दीपाली भारद्वाज एक त्वचा विशेषज्ञ, एंटी-एलर्जी विशेषज्ञ, लेजर सर्जन और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर प्रशिक्षित सौंदर्यशास्त्री हैं. उनका एक्स हैंडल @dermatdoc है. व्यक्त किए गए विचार निजी हैं.)

(संपादनः शिव पाण्डेय)

(इस लेख को अंग्रेज़ी में पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.)


यह भी पढ़ेंः क्या सर्जरी का सीधा प्रसारण करना सही है? नियम तय करने के लिए NMC द्वारा पैनल बनाने पर अलग-अलग राय


 

share & View comments