scorecardresearch
Thursday, 13 June, 2024
होममत-विमतइस दीवाली सीज़न में दिन में एक बार हेल्दी खाना खाएं, त्वचा की देखभाल इसकी भरपाई नहीं कर पाएगी

इस दीवाली सीज़न में दिन में एक बार हेल्दी खाना खाएं, त्वचा की देखभाल इसकी भरपाई नहीं कर पाएगी

कोशिश करें कि बड़ी पार्टियों या बड़े इवेंट जब होने वाले हों तो उस वक्त कोई नया ट्रीटमेंट न लें. चीजें बहुत खराब हो जाने पर मैनेज करना कठिन है.

Text Size:

भारत में त्योहारों का मौसम जश्न का माहौल लेकर आता है, जिसमें अक्सर गरिष्ठ भोजन का लुत्फ़ और कम घंटों की नींद के साथ सामाजिक समारोहों का व्यस्त कार्यक्रम शामिल होता है. इस बिज़ी शिड्यूल के बीच, त्वचा की देखभाल पिछड़ सकती है, जिससे त्वचा फींकी और मुरझाई हुई हो सकती है. हालांकि, कुछ त्वचा विशेषज्ञों के सुझावों से आप अपनी त्वचा को चमकदार बनाए रख सकते हैं.

यदि आप उन लोगों में से हैं जो बहुत सारी दीवाली पार्टियों में शरीक होते हैं और शराब पीते हैं तो कृपया अपने घर से निकलने से पहले विटामिन बी सप्लीमेंट लें. इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि आपकी उम्र कितनी है. पूरे दिन आपको पानी पीते रहना चाहिए ताकि विषाक्त पदार्थ घुल सकें और डिहाइड्रेशन से बचने के लिए हमेशा सोने से पहले मॉइस्चराइजर लगाना चाहिए.

लेकिन सिर्फ दीवाली की खुशियां ही नहीं है जो त्वचा के लिए परेशानी का कारण बन रही हैं. बल्कि, सर्दियों का प्रदूषण इससे भी बड़ी भूमिका अदा करता है. अगर आप इन दिनों डैंड्रफ से जूझ रहे हैं तो यह कोई बड़ी बात नहीं है. हालांकि, काला पहनना वाकई परेशानी भरा हो सकता है. तो, एक घरेलू उपाय आज़माएं- सफेद सिरके में चार से पांच बूंद ताजा नींबू का रस मिलाएं और इस मिश्रण को अपने बाल धोने से लगभग एक से दो घंटे पहले लगाएं.

यदि आपके बालों में बहुत अधिक डैंड्रफ है, तो आप इसे रात भर के लिए भी लगा हुआ छोड़ सकते हैं. दूसरा विकल्प यह है कि आप अपने बालों को बीयर से शैम्पू करें. यह आपके बालों को बाउंसी और चमकदार बना देगा. बस यह सुनिश्चित करें कि ऐसा करते समय इसे पियें न! और, यदि आप वर्तमान में उत्तर भारत के स्मॉग चैंबर में रह रहे हैं, तो त्वचा विशेषज्ञ से ऑनलाइन सलाह लेने पर विचार करें. यदि इससे मदद नहीं मिलती है, तो अपनी पसंद के त्वचा विशेषज्ञ के पास जाना भी एक अच्छा विचार है.

यदि आप हमेशा मुरझाई त्वचा की समस्या से जूझते हैं, अतिरिक्त चमक की इच्छा रखते हैं, या खुले कपड़े पहनने पर त्वचा की किसी समस्या के बारे में शर्मिंदा महसूस करते हैं, तो इस एरिया के लिए माइक्रोडर्माब्रेशन और ग्लो पैक चुनने पर विचार करें. लेकिन इसका प्रयोग करने से पहले, एक त्वचा विशेषज्ञ से परामर्श लें जो समस्या का अच्छी तरह से आकलन कर सके.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

मैं पिछले कुछ वर्षों में ऐसे कई पुरुष रोगियों से मिला हूं जो छाती और ऊपरी बांहों पर सूजन के प्रति बहुत सचेत रहते हैं. एक्सफ़ोलिएंट क्रीम और जेल का उपयोग करके इनका आसानी से इलाज किया जा सकता है. तो, वास्तव में चिंता की कोई बात नहीं है.

हालांकि, कृपया किसी बड़े इवेंट के करीब कोई नया उपचार न आज़माएं क्योंकि आपदाओं को मैनेज करना अधिक कठिन होता है. महिलाएं अक्सर सेल्फ-मेडिकेशन और ब्लीचिंग करने के बाद ऐसे पार्लरों में जाती हैं जहां स्वच्छता का ध्यान नहीं रखा जाता है.

यदि आप वास्तव में मेडिकल फेशियल कराना चाहते हैं, तो किसी त्वचा विशेषज्ञ या प्लास्टिक सर्जन से संपर्क करें. आप नहीं चाहेंगे कि मुंबई में जो फेशियल वाली दुर्घटना हुई थी वह दोबारा हो.


यह भी पढ़ेंः सर्दियों में पुरुषों की त्वचा की देखभाल का मतलब सिर्फ मॉइस्चराइजेशन नहीं है, कुछ और भी करना होगा 


हाइड्रेट करें, साफ़ करें, मॉइस्चराइज़ करें

मेरी मित्र और त्वचा विशेषज्ञ डॉ. चित्रा वी आनंद ने भी त्योहारों में त्वचा की देखभाल के लिए अपने सुझाव शेयर किए. उसने कहा, “सबसे पहले, हाइड्रेटेड रहना महत्वपूर्ण है. भारतीय त्योहार अक्सर साल के ऐसे समय में आते हैं जब मौसम बदल रहा होता है, जिससे त्वचा में नमी की कमी हो सकती है. खूब पानी पीने से त्वचा की लोच बनाए रखने में मदद मिलती है और यह कोमल बनी रहती है.”

उनके अनुसार, सोडियम हाइएल्यूरोनेट के साथ हाइड्रेटिंग सीरम का उपयोग नमी को रोककर गहरा हाइड्रेशन प्रदान कर सकता है. सफाई अगला महत्वपूर्ण कदम है. त्योहारों का मतलब है आपकी त्वचा पर मेकअप और हैवी प्रोडक्ट्स, और आपके रोम छिद्रों को साफ करने से वे खुल जाएंगे, जिससे मुंहासे होने से बचा जा सकेगा.

आनंद ने कहा, “एक जेंटल क्लेंज़र का उपयोग करें जो आपकी त्वचा का प्राकृतिक तेल छीने बिना उसका पीएच संतुलन बनाए रखता है. मेकअप साफ करने के लिए माइसेलर वॉटर जरूरी है.”

मृत त्वचा कोशिकाओं को हटाने के लिए हल्के एक्सफोलिएंट का उपयोग करें. यह आपको ताज़ा और चमकदार रंगत देगा. लेकिन वह अत्यधिक एक्सफोलिएट करने से सावधान करती हैं क्योंकि इससे स्किन की सेंसिटिविटी बढ़ सकती है, खासकर मेकअप उत्पादों के बढ़ते उपयोग से.

बेशक, आपकी त्वचा किसी भी प्रकार की हो पर मॉइस्चराइजिंग के साथ किसी भी प्रकार का कोई समझौता नहीं किया जा सकता है. यहां तक कि तैलीय त्वचा वाले लोगों को भी स्किन बैरियर को बरकरार रखने में मदद के लिए सेरामाइड-बेस्ड प्रोडक्ट की आवश्यकता होती है.

उन्होंने कहा, “सनस्क्रीन लगाना कभी न भूलें. भारतीय लोगों की त्वचा हाइपरपिग्मेंटेशन के प्रति संवेदनशील होती है, और धूप से बचाव न करने की वजह से त्वचा का रंग जगह-जगह पर अलग-अलग हो सकता है. 40 या उससे अधिक एसपीएफ़ वाला एक ब्रॉड-स्पेक्ट्रम सनस्क्रीन बहुत ज़रूरी है, भले ही आप अपना अधिकांश समय घर के अंदर बिता रहे हों.”

भले ही आप सब कुछ कर रहे हों, लेकिन सही खान-पान अनिवार्य है. इस त्यौहार के मौसम में भी, दिन में एक स्वस्थ भोजन खाने का प्रयास करें.

मैं व्यक्तिगत रूप से साल में दो बार मेडिकल फेशियल करवाना सुनिश्चित करती हूं – एक बार दीवाली से ठीक पहले, और दूसरा मेरे जन्मदिन से एक दिन पहले.

याद रखें, त्योहारों का मौसम चमकने का समय है, और इन स्किन केयर उपायों को अपनाकर आप यह सुनिश्चित कर सकते हैं कि आपकी त्वचा भी त्योहारों की तरह चमकदार और खुशियों से भरी हुई हो.

(डॉ. दीपाली भारद्वाज एक त्वचा विशेषज्ञ, एंटी-एलर्जी विशेषज्ञ, लेजर सर्जन और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर प्रशिक्षित सौंदर्यशास्त्री हैं. उनका एक्स हैंडल @dermatdoc है. व्यक्त किए गए विचार निजी हैं.)

(संपादनः शिव पाण्डेय)

(इस लेख को अंग्रेज़ी में पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.)


यह भी पढ़ेंः भारत को कैसे त्वचा और बाल के इलाज के लिए अगला मेडिकल टूरिज्म डेस्टिनेशन बनाया जा सकता है? 


 

share & View comments