Sunday, 26 June, 2022
होमलास्ट लाफकर्नाटक की किताबों में संशोधन से दिमाग पर क्या असर हो सकता है और राहुल ने एक 'फायरब्रांड' नेता को साइन किया

कर्नाटक की किताबों में संशोधन से दिमाग पर क्या असर हो सकता है और राहुल ने एक ‘फायरब्रांड’ नेता को साइन किया

दिप्रिंट के संपादकों द्वारा चुने गए पूरे दिन के सबसे अच्छे कार्टून.

Text Size:

दिप्रिंट के संपादकों द्वारा चयनित कार्टून पहले अन्य प्रकाशनों में प्रकाशित किए जा चुके हैं. जैसे- प्रिंट मीडिया, ऑनलाइन या फिर सोशल मीडिया पर.

आज के फीचर कार्टून में सतीश आचार्य कर्नाटक में स्कूल की किताबों में की जा रही तब्दीलियों पर तंज कस रहे हैं. राज्य सरकार पर आरोप लगाए जा रहे हैं कि स्कूल की किताबों में बदलाव करके उन्हें ‘कम प्रगतिशील’ बनाया जा रहा है. कर्नाटक की सरकार पर स्वतंत्रता सेनानी भगत सिंह, कन्नड़ कवि पी. लंकेश, मुस्लिम कन्नड़ लेखक सारा अबूबकर और ए.एन. मूर्ति राव से जुडे़ चैप्टर्स को दसवी क्लास की किताबों से हटा दिया गया है.

साजिथ कुमार | Twitter/@sajithkumar | Deccan Herald

साजिथ कुमार ने पिछले हफ्ते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू किए गए ‘हर घर बीजेपी, हर गरीब का कल्याण’ के नारे पर टिप्पणी की है. इस कैंपेन के जरिए पीएम ने बीजेपी कार्यकर्ताओं को हर घर तक पहुंचने का निर्देश दिया था.

मंजुल | Twitter/@MANJULtoons

मंजुल कांग्रेस नेता राहुल गांधी द्वारा हार्दिक पटेल को ‘फायरब्रांड’ पाटीदार नेता के रूप में पार्टी में शामिल करने पर तंज कस रहे हैं. गौरतलब है कि हार्दिक ने तीन साल बाद पार्टी से इस्तीफा दे दिया है.

ईपी उन्नी | The Indian Express

ईपी उन्नी वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण की ई-विद्या पहल के जरिए केंद्र सरकार द्वारा ईंधन उत्पाद शुल्क में कटौती करने टिप्पणी कर रहे हैं.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

नाला पोनप्पा | Twitter/@PonnappaCartoon

नाला पोनप्पा बृहत बेंगलुरु महानगर पालिक (बीबीएमपी) के नियंत्रण कक्षों पर टिप्पणी कर रहे हैं. वो आरोप लगा रहे हैं कि वह बारिश से संबंधित शिकायतों से भरा हुआ है और शहर को लगातार इससे नुकसान उठाना पड़ रहा है.

(इन कार्टून्स को अंग्रेज़ी में देखने के लिए यहां क्लिक करें)

share & View comments