Wednesday, 1 February, 2023
होमदेशUP ATS ने जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादी को गिरफ्तार किया, नूपुर शर्मा को मारने की मिली थी जिम्मेदारी

UP ATS ने जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादी को गिरफ्तार किया, नूपुर शर्मा को मारने की मिली थी जिम्मेदारी

पुलिस ने अपने बयान में पहले तहरीक-ए-तालिबान से भी नदीम के जुड़े होने का दावा किया था लेकिन कुछ देर बाद जारी दूसरे बयान में उसने इस अंश को हटा दिया.

Text Size:

नई दिल्ली: शुक्रवार को उत्तर प्रदेश पुलिस ने जैश-ए-मोहम्मद के एक आतंकवादी को गिरफ्तार कर लिया. पुलिस ने बताया कि आतंकी संगठन ने इसे निलंबित बीजेपी नेता नुपुर शर्मा को मारने की जिम्मेदारी सौंपी थी.

उत्तर प्रदेश के अपर पुलिस महानिदेशक (कानून-व्यवस्था) प्रशांत कुमार ने शुक्रवार को एक बयान में कहा कि सहारनपुर जिले में गंगोह थाना क्षेत्र के कुंडा कला गांव के मोहम्मद नदीम (25) को एटीएस ने गिरफ्तार किया है.

पुलिस ने अपने बयान में पहले तहरीक-ए-तालिबान से भी नदीम के जुड़े होने का दावा किया था लेकिन कुछ देर बाद जारी दूसरे बयान में उसने इस अंश को हटा दिया.

नए बयान में दावा किया गया है कि नदीम ने पूछताछ में स्वीकार किया कि उसे जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी ने नुपूर शर्मा की हत्या करने का जिम्मेदारी थी. बीजेपी की निलंबित प्रवक्ता नुपूर शर्मा हजरत पैगंबर पर कथित विवादित टिप्पणी के बाद सुर्खियों में आई थीं.

नदीम के पास से पुलिस ने एक मोबाइल, दो सिम और कई तरह के बम बनाने का प्रशिक्षण साहित्य बरामद किए हैं. उसके खिलाफ लखनऊ के एटीएस थाने में विधि विरुद्ध क्रियाकलाप (निवारण) अधिनियम समेत सुसंगत धाराओं में मामला दर्ज किया गया है.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

कुमार ने बताया कि नदीम जैश-ए-मोहम्मद और अन्य संगठनों से प्रभावित होकर फिदायीन हमले की तैयारी कर रहा था. उनके अनुसार गिरफ्तारी के बाद उसके पास से बरामद मोबाइल फोन के प्राथमिक अवलोकन में पुलिस को पाकिस्तान और अफगानिस्तान के आतंकियों से चैट और वॉइस मैसेज भी मिले हैं.

बयान में कहा गया है कि पूछताछ में नदीम ने स्वीकार किया कि वह 2018 से जैश-ए-मोहम्मद के आतंकियों के सीधे संपर्क में था। उसने यह भी स्वीकार किया कि उसे जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी विशेष प्रशिक्षण के लिए पाकिस्तान बुला रहे थे जिस पर वह वीजा लेकर पाकिस्तान और सीरिया जाने की योजना बना रहा था.

भाषा के इनपुट से


यह भी पढ़ें: ‘TMC बंगाल केंद्रित’ – 10 महीने बाद उपाध्यक्ष पवन वर्मा ने छोड़ी ममता बनर्जी की पार्टी


share & View comments