scorecardresearch
Wednesday, 17 July, 2024
होमदेशApple के लिए 2022 रहा बोरिंग साल पर आईफोन ने किया कमाल

Apple के लिए 2022 रहा बोरिंग साल पर आईफोन ने किया कमाल

साल 2023 में एपल ‘एपल ग्लासेज’ के साथ वीआर/एआर के दायरे में कदम रखेगी. गूगल फोल्डेबल फोन के क्षेत्र में कदम रखेगी, तो सैमसंग इस क्षेत्र में अपना वर्चस्व बनाए रखने के लिए दोहरी कोशिश करेगी

Text Size:

कंज्यूमर इलेक्ट्रॉनिक्स के लिए 2022 एक दिलचस्प साल रहा. यह वह साल था जब दुनिया कोविड के चंगुल से छूटती नज़र आई. लेकिन मैं पहले भी लिख चुका हूं कि खासकर स्मार्टफोनों के लिए यह साल बदरंग रहा. हालांकि, यह लेख इस व्यवसाय की सबसे अच्छी चीजों के बारे में है, मैं उम्मीद करता हूं आपको कोई ख़रीददारी करने की जरूरत नहीं है.
हां, 2022 में स्मार्टफोन पीसी बन गया, न केवल इसलिए कि इस टेक्नॉलजी की चीजों की कीमत घटती जाती है बल्कि इनकी बिक्री भी स्थिर हो गई. इस बीच, 2022 में स्मार्टवाच का भी विस्फोट हो गया. इनके नये अल्ट्रा-प्रीमियम और सस्ते मॉडल भी आए हैं. बेतार इयरफोन भी गिनती में शामिल हो गए हैं. मेटा की तमाम कोशिशों के बावजूद ‘वीआर’ ने अभी प्राइम टाइम नहीं हासिल किया है लेकिन जल्दी ही हो जाएगा.

कई विकल्प

कंज्यूमर इलेक्ट्रॉनिक्स 2022 में परिपक्व तो हुआ मगर वह खेल नहीं बदल पाया. कोई भी कल्पना कर सकता है कि जब मैं फोनों की बात करता हूं तो मेरी पसंद हैं— नया आइफोन 14 प्रो मैक्स और आइफोन 14 प्लस, गूगल पिक्सेल 7 प्रो, विवो x80 प्रो, श्याओमी 12 प्रो, रेडमी नोट 11 प्रो+ 5जी, पिक्सेल 6ए, नथिंग फोन(1), गैलेक्सी जेड फ़ोल्ड4, गैलेक्सी एस22 अल्ट्रा और वनप्लस 10आर.

यहां अलग दिखने वाला फोन है आइफोन 14 प्लस, जो मेरे हिसाब से महंगे फोनों में पसंदीदा है. यह उनके लिए है जो दिखाना चाहते हैं कि उनके पास तो एपल आइफोन है. असली एंड्रॉइड चाहने वालों और कैमरा के दीवानों के लिए है पिक्सेल 7 प्रो. एंड्रॉइड का बहुआयामी अनुभव चाहने वाले गैलेक्सी एस22 अल्ट्रा और विवो x80 प्रो को चुनेंगे.

जो लोग 40,000 रुपये से नीचे के फोन चाहते हैं उनके लिए पिक्सेल 6ए उम्दा है. नया नथिंग फोन(1) भी काफी आकर्षक है, इसका डिजाइन चर्चित होने वाला है. लेकिन सबसे अच्छा पैकेज शायद वनप्लस 10आर है जो तेज और ताकतवर है और जिसकी बैटरी भी काफी शक्तिशाली है. आइफोन के चहेतों के लिए आइफोन एसई भी एक अच्छा विकल्प है लेकिन इसकी कमजोर बैटरी सौदे को कमजोर करती है.

जो लोग फ़ोल्ड होने वाला फोन चाहते हैं उनके लिए गैलेक्सी ज़ेड फ़ोल्ड 4 है. 5जी के अनुकूल स्मार्टफोन चाहने वालों के लिए रेडमी नोट 11 प्रो+5जी बढ़िया विकल्प है.


यह भी पढ़ेंः क्या 2024 की चुनावी लहर पर सवार होकर भारत का नया Twitter पाएगा Koo ? क्या है राजनीतिक दलों का नजरिया


वियरेबल और हियरेबल गैंग

इस तरह के फोनों में एपल का ही वर्चस्व कायम है क्योंकि उसके पास स्मार्टवॉच भी है और टीडब्लूएस इयरफोन भी. एपल वाच सीरीज 8 में इसने जो अपडेट किया है वह सतही सा ही है, कंपनी ने डिजाइन या प्रोसेसर में अपडेट नहीं किया है बल्कि केवल सेंसर सूट में ही अपडेट किया है.

बड़ा परिवर्तन यह किया गया है कि एपल वॉच अल्ट्रा को टाइटेनियम फ्रेम, बड़ी स्क्रीन, आइपी डस्ट के साथ संवेदनशील सेंसर और पेशेवर तैराकों तथा गोताख़ोरों की खातिर 100 मीटर का वाटर रजिस्टेंस दिया गया है. डुअल-फ्रिक्वेंसी जीपीएस की खातिर बेहतर ट्राइंग्लेयुशन के लिए जीपीएस एन्टेना, एक्शन बटन, दोहरा स्पीकर, 36 घंटे की बैटरी लाइफ दी गई है जिसे लो पावर सेटिंग में 60 घंटे तक बढ़ाया जा सकता है. इमरजेंसी में लोगों को सावधान करने के लिए 86 डेसिबेल का साइरन और ‘एमआइएल-एसटीडी 810एच सर्टिफिकेशन भी जोड़ा गया है.

सैमसंग ने इसके मुक़ाबले में अपना गैलेक्सी वाच5 प्रो दिया है. इसमें बड़ी बैटरी है, टाइटेनियम फ्रेम है, और नीलम जैसा ग्लास है. इसकी सॉफ्टवेयर विशेषताएं हाइकिंग और फिटनेस से जुड़े लोगों को पसंद आएंगी. सैमसंग के स्मार्टफोन और दूसरे एंड्रोइड गज़टों का इसके साथ अच्छा तालमेल जमता है. यह एपल अल्ट्रा जितना अत्याधुनिक तो नहीं है मगर फिर भी यह एक उम्दा विकल्प है.

फिटबिट सेंस 2 को भी इस साल भारत में लॉन्च किया गया है, जो निजी फिटनेस के लिहाज से शानदार डिजाइन वाला स्मार्टवॉच है. इसे आप अपने माता-पिता को देना चाहेंगे.

वायरलेस इयरफोनों में, एपल ने लगभग तीन साल बाद एअरपॉड्स प्रो2 लॉन्च किया, जो शानदार हैं. वह सुनने में एअरपॉड्स मैक्स जैसा लगता है, जो काफी दमदार और आकर्षक है. उसकी बैटरी लाइफ लंबी है और नॉइज़ कैंसिलेशन की क्षमता काफी बेहतरीन है. और ट्रांसपेरेंसी मोड ऐसा है कि आप शोरगुल वाले वातावरण में इसे इयरप्लग के रूप में इस्तेमाल कर सकते हैं.

माइक्रोफोन की क्वालिटी और नॉइज़ कैंसिलेशन की क्षमता ऐसी है कि यह कॉल करने के लिए शानदार है. इसके साथ इसमें स्पेशियल ऑडियो का जादू ऐसा है कि इसे एपल म्यूजिक या अच्छी वीडियो से जोड़ा जाए तो शानदार अनुभव देता है, लेकिन केवल आइफोन के साथ.

वैसे, गूगल के पिक्सेल बड्स प्रो और सैमसंग के गैलेक्सी बड्स प्रो2 काफी बेहतरीन हैं. मैं कहूंगा कि सैमसंग के बड्स, एपल के बड्स से बेहतर हैं क्योंकि उन्हें लॉसलेस कोडेक सपोर्ट हासिल है, लेकिन यह अनुभव केवल सैमसंग में होता है. उनका फिट दूसरों से काफी अलग और बेहतरीन है. अगर यूनीफॉर्म एक्सपीरिएंस चाहिए तो मैं पिक्सेल बड्स प्रो को पसंद करूंगा, जो हरफनमौला है.

जो लोग बड़ा वायरलेस हेडफोन चाहते हैं उनके लिए नया सोनी डब्लूएक्स-1000M5 सबसे अच्छा है. नॉइज़ कैंसिलेशन, बैटरी लाइफ के मामले में बेस्ट और शानदार ऑडियो क्वॉलिटी इसकी विशेषताएं हैं.

PC की वापसी

इनटेल के लिए यह दूसरी वापसी का साल रहा, जो आल्डरलेक आधारित कई उपकरणों के आने से स्पष्ट हो रहा है. अगर 2021 और 2022 एपल की एम-सीरीज मैक्स के साल थे, जो अपनी बैटरी लाइफ और पोर्टेबल नोटबुक पर अभूतपूर्व परफ़ोर्मेंस के कारण शाइन कर रहा था. गेमिंग नोटबुक हो या मेनस्ट्रीम लैपटॉप या डेस्कटॉप, इनटेल के नये प्रोसेसर एक नया अध्याय लिख रहे हैं. वह ऐसा काम कर रहा है जिसकी अपेक्षा उस कंपनी के प्रोडक्ट से की जाती है जिसने सिलिकन वैली के साथ ‘सिलिकन’ शब्द को जोड़ा. गेमिंग नोटबुक्स पर मेरा ताजा लेख इसका प्रमाण है.

लेकिन पीसी में सबसे दिलचस्प चीज एपल से ही आई. यह है ‘मैक स्टुडियो’, जो एम-1 अल्ट्रा चिप के साथ अचानक अवतरित हो गई. यह चिप इनटेल आधारित मैक प्रो से भी ज्यादा शक्तिशाली है, जो बीएमडब्लू से भी ज्यादा महंगी है. ‘मैक स्टुडियो’ महंगी है मगर बीएमडब्लू जितनी नहीं लेकिन अगर यह आपके काम के लिए मुफीद है तो यह सुपर्ब है.

2023 में क्या आएगा

साल 2023 दिलचस्प रहेगा क्योंकि कई लोगों को उम्मीद है कि एपल ‘एपल ग्लासेज’ के साथ वीआर/एआर के दायरे में कदम रखेगी. यह इस तरह के गैजेट को मुख्यधारा में लाएगी. एपल के लिए यह साल बोरिंग रहा लेकिन हम एक-सीरीज़ चिप के साथ नये मैक प्रो की उम्मीद रख सकते हैं, जो हमें चौंका सकता है. मैकबुक प्रो के नये मॉडल भी आ सकते हैं, जो मौजूदा मॉडलों से बेहतर होंगे. इसके साथ आइफोन 15 लाइन भी आएगी जो नये डिजाइन की होगी. नये डिजाइन के आइपैड प्रो भी आएंगे. जाहिर है, एपल के लिए साल 2023 काफी रोमांचक रहने वाला है.

गूगल फोल्डेबल फोन के क्षेत्र में कदम रखेगी जिससे इस गैजेट को एक और बढ़त मिलेगी. इस क्षेत्र में सैमसंग अपना वर्चस्व बनाए रखने के लिए दोहरी कोशिश करेगा. इसलिए इस तरह के गैजेट्स की दुनिया ‘इंटरनेट ऑफ थिंग्स’ (आइओटी) में सैमसंग से काफी कुछ करने की उम्मीद की जा सकती है.

उम्मीद की जाती है कि इनटेल, क्वॉलकॉम, और मीडियाटेक ‘नये सिलिकन’ लॉन्च करेंगे, जो टेक्नॉलजी में इजाफा करेंगे और यह टेक्नॉलजी ओरिजनल इक्विपमेंट मैन्युफैक्चरर (ओईएम) प्रोडक्ट्स में शामिल होगी. इसलिए 2023 साल 2022 से ज्यादा रोमांचक होगा लेकिन 2020 जैसा मजेदार शायद नहीं होगा.

(साहिल मोहन गुप्ता दिल्ली-बेस्ड टेक्नॉलजी जर्नलिस्ट हैं. उनका ट्विटर हैंडल @DigitallyBones है. व्यक्त किए गए विचार निजी हैं.)

(संपादनः शिव पाण्डेय)
(इस खबर को अंग्रेजी में पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें)


यह भी पढ़ेंः कभी जेनेटिकली मॉडीफाइड फसलों के विरोध में रहे इथियोपिया ने GM पोटैटो और मक्का के ट्रायल को दी मंजूरी


 

share & View comments