Thursday, 26 May, 2022
होमदेशप्रधानमंत्री मोदी ने 'स्वामित्व योजना' की शुरुआत की, कहा- विपक्षी दलों का सच जान गया है देश का किसान

प्रधानमंत्री मोदी ने ‘स्वामित्व योजना’ की शुरुआत की, कहा- विपक्षी दलों का सच जान गया है देश का किसान

पीएम मोदी ने कहा, 'बीते 6 सालों से हमारे पंचायती राज सिस्टम को सशक्त करने के लिए जो प्रयास चल रहे हैं, उनको भी स्वामित्व योजना मज़बूत करेगी.'

Text Size:

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए भू-संपत्ति मालिकों को ‘स्वामित्व योजना’ के तहत संपत्ति कार्ड बांटने की योजना का शुभारंभ किया.

पीएम मोदी ने कार्यक्रम में कहा, ‘आज जिन एक लाख लोगों को अपने घरों का स्वामित्व पत्र या प्रॉपर्टी कार्ड मिला है, जिन्होंने अपना कार्ड डाउनलोड किया है- आज आपके पास एक अधिकार है, एक कानूनी दस्तावेज है कि आपका घर आपका ही है, आपका ही रहेगा.’

उन्होंने कहा, ‘ये योजना हमारे देश के गांवों में ऐतिहासिक परिवर्तन लाने वाली है.’

पीएम ने कहा कि स्वामित्व योजना, गांव में रहने वाले हमारे भाई-बहनों को आत्मनिर्भर बनाने में बहुत मदद करने वाली है.

पीएम ने कहा, ‘बीते 6 सालों से हमारे पंचायती राज सिस्टम को सशक्त करने के लिए जो प्रयास चल रहे हैं, उनको भी स्वामित्व योजना मज़बूत करेगी.’

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

उन्होंने कहा, ‘पूरे विश्व के बड़े-बड़े एक्सपर्ट्स इस बात पर जोर देते रहे हैं कि जमीन और घर के मालिकाना हक की, देश के विकास में बड़ी भूमिका होती है. जब संपत्ति का रिकॉर्ड होता है, जब संपत्ति पर अधिकार मिलता है तो नागरिकों में आत्मविश्वास बढ़ता है और निवेश के लिए नए रास्ते खुलते हैं.’

मोदी ने कहा, ‘गांव के कितने ही नौजवान हैं जो अपने दम पर कुछ करना चाहते हैं लेकिन घर होते हुए भी उन्हें बैंक से कर्ज मिलने में कई बार दिक्कतों का सामना करना पड़ता था. स्वामित्व योजना के तहत बने प्रॉपर्टी कार्ड को दिखाकर, बैंकों से बहुत आसानी से कर्ज मिल सकेगा.’


यह भी पढ़ें: भारत में कोरोना से कुल संक्रमितों की संख्या 70 लाख के पार, पिछले 24 घंटे में आए 74,383 नए मामले


‘किसान विपक्षी दलों का सच जान गया है’

पीएम मोदी ने विपक्षी दलों पर निशाना साधते हुए कहा, ‘देश को लूटने में लगे लोगों को, देश अब पहचानने लगा है. ये लोग हर बात का आंख बंद करके विरोध कर रहे हैं. इन्हें ना गरीब, ना गांव और ना देश की चिंता है. ये लोग देश के विकास को रोकना चाहते हैं. ये नहीं चाहते हैं कि गांव, किसान, श्रमिक भाई-बहन भी आत्मनिर्भर बनें.’

उन्होंने कहा, ‘किसान और खेत मजदूर को मिल रही बीमा, पेंशन जैसी सुविधाओं से जिनको परेशानी है, वो आज कृषि सुधारों के विरोध में हैं लेकिन किसान उनके साथ जाने के लिए तैयार नहीं है, किसान उनका सच जान गया है.’

‘छोटे किसानों, पशुपालकों, मछुआरों को किसान क्रेडिट कार्ड मिलने से जिनकी काली कमाई का रास्ता बंद हो गया है, उनको आज समस्या हो रही है. यूरिया की नीमकोटिंग से जिनके गैर-कानूनी तौर तरीके बंद हो गए, दिक्कत उन्हें हो रही है. किसानों के बैंक खाते में सीधा पैसा पहुंचने से जिनको परेशानी हो रही है, वो आज बेचैन हैं.’

उन्होंने आगे कहा, हमारे यहां सच्चाई यही है कि भारत के गांवों को उनके ही हाल पर छोड़ दिया गया. लेकिन पिछले 6 वर्षों में पुरानी कमी को दूर करने के लिए लगातार काम किया जा रहा है. आज देश में बिना किसी भेदभाव, सबका विकास हो रहा है, पूरी पारदर्शिता के साथ सबको योजनाओं का लाभ मिल रहा है.’

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘6 दशकों तक गांव के करोड़ों लोग बैंक खातों, शौचालय और गैस कनेक्शन से वंचित थे. गांव के करोड़ों परिवारों के पास अपना घर नहीं था. आज गांव के करीब-करीब 2 करोड़ गरीब परिवारों को पक्के घर मिल चुके हैं.’


यह भी पढ़ें: हाजीपुर से दिल्ली तक– रामविलास पासवान हमेशा मेरे कैमरे में कैद होते रहे


जेपी और नानाजी देशमुख

पीएम नरेंद्र मोदी ने जयप्रकाश नारायण (जेपी) और नानाजी देशमुख को उनकी जयंती पर याद करते हुए कहा कि दोनों के संघर्ष और आदर्ष एक समान रहे हैं.

उन्होंने कहा, ‘गांव और गरीब की आवाज़ को बुलंद करना जेपी और नानाजी के जीवन का साझा संकल्प रहा है.’

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘नानाजी कहते थे कि जब गांव के लोग विवादों में फंसे रहेंगे तो न अपना विकास कर पाएंगे और न ही समाज का. मुझे विश्वास है, स्वामित्व योजना भी हमारे गांवों में अनेकों विवादों को समाप्त करने का बहुत बड़ा माध्यम बनेगी.’


यह भी पढ़ें: मीडिया रिपोर्ट्स में हाथरस मामले में ‘नक्सल एंगल’ का संकेत, मध्य प्रदेश की यह महिला है आरोपों की वजह


 

share & View comments