imran khan
इमरान खान एनसीए मीटिंग के दौरान तिलमिलाए नजर आए/पीटीआई
Text Size:

नई दिल्ली: भारतीय वायुसेना द्वारा पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर के तीन जगहों पर आतंकी ट्रेनिंग शिविर को नेस्तनाबूद किए जाने के बाद पाकिस्तान बौखला गया है. सर्जिकल सट्राइक2 के बाद प्रधानमंत्री इमरान खान की अध्यक्षता में राष्ट्रीय सुरक्षा समीती की बैठक की. इस बैठक में विदेश मंत्रालय, रक्षा मंत्रालय, वित्त मंत्रालय सहित स्टाफ समीति के अधिकारी और सिविल और आर्मी के अधिकारियों ने भाग लिया.

मीटिंग के इस बैठक में बालाकोट के पास भारतीय वायुसेना द्वारा की गई कार्रवाई का पाकिस्तान ने सिरे से खंडन किया है और कहा है कि बालाकोट के पास कोई हताहत नहीं हुआ है. तहरीके ए पाकिस्तान के ट्विटर हैंडल पर पाकिस्तान सरकार की तरफ से लिखा गया है कि भारत सरकार एक बार फिर से मनगढंत दावे कर रही है जिसका कोई सिर पैर नहीं है.

 मीटिंग में चिढे हुए हिलते-डुलते नजर आए इमरान खान

इस बैठक में प्रधानमंत्री इमरान खान कुछ तिलमिलाए और चिढ़े चिढ़े नजर आए. मीटिंग के दौरान उनका बॉडी लैंग्वेज बौखलाया हुआ नजर आया. वही मीटिंग के दौरान कुर्सी पर हिलते डुलते नजर आए. वह मीटिंग में लाल मफलर और लेदर जैकेट में आए जबकि आर्मी के अधिकारी वर्दी में और नेता ग्रे रंग के सूट में नजर आ रहे थे.

उन्होंने अपने ही सेना के अधिकारी और प्रवक्ता आसिफ गफूर के ट्वीट को झुठला दिया है. वह भूल गए कि सबसे पहले दुनिया को भारतीय वायुसेना द्वारा की गई कार्रवाई की जानकारी आसिफ गफूर ने ही दी है. आसिफ गफूर ने सुबह सुबह एक के बाद एक तीन ट्वीट किए और यह भी लिखा कि हमने भारतीय वायुसेना को खदेड़ दिया है और किसी तरह के नुकसान की कोई खबर नहीं है.

उसके बाद भारतीय मीडिया में और राजनीतिक हलकों में हलचल शुरू हुई.

पाकिस्तान ने उच्च स्तरीय मीटिंग में कहा कि भारत सरकार आगामी चुनाव के मद्देनजर अपनी पीठ थपथपाने के लिए इस तरह का ढिंढोरा पीट रही है. पाकिस्तान ने कहा है कि जिन इलाकों में भारत हमला किए जाने का दावा कर रहा है पाकिस्तान सरकार वहां स्थानीय मीडिया और अंतराष्ट्रीय मीडिया को ले जाएगा. और बताएगा कि वहां क्या प्रभाव पड़ा है.

भारतीय वायुसेना द्वारा की गई एयर स्ट्राइक के बाद तिलमिलाए पाकिस्तान ने कहा ‘भारत ने अनावश्यक आक्रामकता दिखाई है और पाकिस्तान इसका जवाब देगा.’ बैठक के बाद इमरान ने कहा कि इसका जवाब पाकिस्तान सही समय और सही स्थान पर देगा. प्रधानमंत्री इमरान खान ने 27 फरवरी को एनसीए की विशेष मीटिंग बुलाई है.

पीएम ने राष्ट्रीय पावर सहित पाकिस्तानी सेना और आम लोगों कों किसी भी तरह की स्थिति से निपटने के लिए तैयार रहने को कहा है. वहीं उन्होंने यह भी कहा है कि वह भारत द्वारा अपनाए गए गैर जिम्मेदाराना रवैया से दुनिया के लीडरशिप को बताएगा. वहीं प्रधानमंत्री ने पीएएफ द्वारा भारतीयों के खिलाफ की गई कार्रवाई की सराहना की है.

शाह महमूद कुरैशी ने मीडिया को अवगत कराया

इसके बाद शाह महमूद कुरैशी ने मीडिया से बातचीत की और पाकिस्तानी सेना और सरकार भारत के खिलाफ क्या कार्रवाई कर रही है.

इस बैठक के बाद विदेश मंत्री शाह कुरैशी ने मीडिया को ब्रीफ किया जिसमें उन्होंने कहा कि बैठक जारी है, जिसमें महासचिव तैमिना जिन्नाह शामिल होंगे और पाकिस्तान के दृष्टिकोण को प्रस्तुत करेंगे. उन्होंने कहा कि मीटिंग में यह निर्णय लिया गया है कि संसद के संयुक्त सत्र को संसदीय समिति में विचार रखा जाएगा, जिसमें विदेश मंत्री, रक्षा, वित्त मंत्री शामिल होंगे ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि सभी दलों को विश्वास में लिया जाए.

यही नहीं कुरैशी ने बताया कि मीटिंग में यह निर्णय लिया गया है कि मीडिया को घटनास्थल पर ले जाया जाएगा ताकि भारत के झूठे प्रचार को उजागर किया जा सके.

अब मैंने अपने तुर्की के समकक्ष से बात की है और मैंने उन्हें स्थिति के बारे में सूचित किया है. संयुक्त अरब अमीरात में आईआईसी के संपर्क समूह की बैठक जारी है, जिसमें महासचिव तैमिना जिन्नाह शामिल होंगे और पाकिस्तान की बात पर ध्यान देंगे.

‘भारतीय आक्रामकता’ करार दिया है

नियंत्रण रेखा (एलओसी) के समीप बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम) के सबसे बड़े प्रशिक्षण शिविर पर वायुसेना के हमले के बाद पाकिस्तान ने मंगलवार को कहा कि उसके पास आत्मरक्षा और मुहंतोड़ जवाब देने का पूरा अधिकार है. विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने मुजफ्फराबाद सेक्टर में भारतीय वायुसेना की बमबारी को ‘भारतीय आक्रामकता’ करार दिया है. मुजफ्फराबाद को नई दिल्ली जेईएम का सबसे बड़ा प्रशिक्षण शिविर बता रहा है.

उन्होंने दावा किया कि भारतीय लडाकू विमानों को पाकिस्तानी वायुसेना की माकूल प्रतिक्रिया के कारण लौटने के लिए मजबूर होना पड़ा.

उन्होंने कहा, ‘आज उन्होंने (भारत) पाकिस्तान के खिलाफ जिस तरह की आक्रामकता बरती है, उसके बारे में हम दुनिया को बताते आ रहे हैं कि ऐसा हो सकता है.’

कुरैशी ने पाकिस्तान द्वारा कही जा रही भारतीय घुसपैठ से उपजे हालात पर चर्चा के लिए विदेश कार्यालय में एक आपात परामर्श बैठक की अध्यक्षता करने के बाद मीडिया को बताया, ‘भारत ने एलओसी का उल्लंघन किया है. पाकिस्तान के पास आत्मरक्षा और मुंहतोड़ जवाब देने का अधिकार है.’

पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफूर ने इससे पहले कहा था, ‘भारतीय वायुसेना ने मुजफ्फराबाद सेक्टर में नियंत्रण रेखा पार कर तीन-चार मिसाइलें दागी. किसी भी आधारभूत ढाचे को हानि नहीं पहुंची है और न ही कोई हताहत हुआ है.’

उन्होंने भारतीय वायुसेना से जल्दबाजी में गिराए गए विस्फोटकों की तस्वीरें भी साझा की, जो खुले में गिरे.


Share Your Views

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here