scorecardresearch
Friday, 14 June, 2024
होमदेशपद्म विभूषण से सम्मानित इतिहासकार बाबासाहेब पुरंदरे का निधन, PM मोदी ने जताया दुख

पद्म विभूषण से सम्मानित इतिहासकार बाबासाहेब पुरंदरे का निधन, PM मोदी ने जताया दुख

चिकित्सक ने बताया कि पुरंदरे एक सप्ताह पहले निमोनिया से पीड़ित पाए गए थे और उन्हें शहर के दीनानाथ मंगेशकर अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां उनका निधन हो गया. वह अस्पताल की गहन चिकित्सा इकाई में वेंटिलेटर पर थे.

Text Size:

पुणे: जाने माने इतिहासकार और पद्म विभूषण पुरस्कार से सम्मानित बलवंत मोरेश्वर पुरंदरे का सोमवार को पुणे के एक अस्पताल में निधन हो गया. वह 99 वर्ष के थे. बाबासाहेब पुरंदरे के नाम से लोकप्रिय इतिहासकार कुछ समय से बीमार थे. एक चिकित्सक ने उनके निधन की जानकारी दी.

चिकित्सक ने बताया कि पुरंदरे एक सप्ताह पहले निमोनिया से पीड़ित पाए गए थे और उन्हें शहर के दीनानाथ मंगेशकर अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां उनका निधन हो गया. वह अस्पताल की गहन चिकित्सा इकाई में वेंटिलेटर पर थे.

उन्होंने बताया कि पुरंदरे की तबियत रविवार को और खराब हो गई थी और उनकी स्थिति तभी से गंभीर थी.

पीएम मोदी ने दुख व्यक्त करते हुए लिखा कि मैं इन शब्दों से बहुत ही ज्यादा आहत हूं. बाबा साहब पुरंदरे के निधन से इतिहास और संस्कृति के क्षेत्र में काफी रिक्तता पैदा हुई है. उनका धन्यवाद है कि आने वाली पीढ़ियां छत्रपति शिवाजी महाराज से कनेक्टेड महसूस करेंगी. उनकी अन्य कार्यों को भी याद किया जाएगा.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें

पुरंदरे की अधिकतर कृतियां मराठा योद्धा छत्रपति शिवाजी महाराज के जीवन से संबंधित हैं. उन्हें 2019 में पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया था.

पुरंदरे का जन्म 29 जुलाई 1922 को हुआ था.


यह भी पढेंः  राष्ट्रपति ने कंगना, अरुण जेटली, सुषमा स्वराज समेत कई दिग्गजों को पद्म पुरस्कार से किया सम्मानित


 

share & View comments