scorecardresearch
Saturday, 20 July, 2024
होमदेशमुलायम सिंह यादव का कल सैफई में होगा अंतिम संस्कार, PM मोदी बोले- उनके सलाह के दो शब्द मेरी अमानत हैं

मुलायम सिंह यादव का कल सैफई में होगा अंतिम संस्कार, PM मोदी बोले- उनके सलाह के दो शब्द मेरी अमानत हैं

मुलायम सिंह के निधन पर पीएम मोदी सहित रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, सोनिया गांधी, राहुल गांधी इत्यादि तमाम नेताओं ने शोक जताया है. कल सैफई में उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा.

Text Size:

नई दिल्लीः सपा संरक्षक और यूपी में तीन बार मुख्यमंत्री रह चुके मुलायम सिंह यादव का सोमवार को निधन हो गया. उनके निधन पर राजनीतिक महकमें में शोक की लहर है और तीन दिन का राजकीय शोक घोषित किया गया है. पीएम मोदी और रक्षामंत्री राजनाथ सिंह सहित तमाम नेताओं ने शोक जताया है और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने मेदांता पहुंचे. वहां उन्होंने अखिलेश यादव से मुलाकात की.

पीएम मोदी ने मुलायम सिंह यादव के निधन पर गुजरात में एक सभा के दौरान कहा कि उनका जाना देश के लिए एक बहुत बड़ी क्षति है. उन्होंने आगे कहा, ‘उनके साथ मेरा नाता बहुत विशेष किस्म का रहा है. जब हम दोनों मुख्यमंत्री के रूप में मिला करते थे तो दोनों अपनत्व का भाव महसूस किया करते थे. और 2014 में जब बीजेपी ने मुझे पीएम पद के लिए आशीर्वाद दिया तो विपक्ष के वे लोग जिनसे मेरा परिचय था लेकिन राजनीतिक विरोधी थे तो उनको फोन करके मैंने आशीर्वाद लेने का उपक्रम किया था तो मुलायम सिंह जी का वो आशीर्वाद और सलाह के वे दो शब्द आज भी मेरी अमानत हैं.’

वहीं राजनाथ सिंह ने उन्हें एक ‘जमीनी नेता’ करार देते हुए कहा कि राजनीतिक तौर पर विरोधी होने के बावजूद उनके संबंध सभी से अच्छे थे.

राजनाथ ने ट्वीट किया, ‘राजनीति में विरोधी होने के बावजूद मुलायम सिंह के संबंध सबसे अच्छे थे. जब भी उनसे भेंट होती तो वे बड़े खुले मन से अनेक विषयों पर बात करते. अनेक अवसरों पर उनसे हुई बातचीत मेरी स्मृति में सदैव तरोताजा रहेगी.’

उन्होंने कहा, ‘अपने लम्बे सार्वजनिक जीवन में उन्होंने अनेक पदों पर काम किया और देश, समाज एवं प्रदेश के विकास में योगदान दिया. उनका निधन बेहद पीड़ादायक है,’

साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि कल वे सैफई जाएंगे और पूर्व रक्षा मंत्री को अंतिम विदाई देंगे.

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि वे एक जुझारू और संघर्षशील नेता थे और समाजवादी पार्टी से जुड़े एक महत्त्वपूर्ण स्तंभ थे. उन्होंने कहा कि सैफई में उनके पैतृक गांव में मैं उनके अंतिम संस्कार में शामिल होऊंगा. पूर्ण राजकीय सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा. इस अवसर पर तीन दिन का राजकीय शोक घोषित किया गया है.

अमित शाह ने कहा कि मुलायम सिंह यादव जी के निधन से उत्तर प्रदेश व राष्ट्रीय राजनीति में एक बड़ी रिक्तता आयी है.

गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में नेताजी को श्रद्धांजलि अर्पित की और उनके पुत्र अखिलेश यादव जी व परिजनों से भेंट कर संवेदना व्यक्त की.

कांग्रेस पार्टी ने भी मुलायम सिंह यादव के निधन पर शोक जताते हुए कहा कि उनका जाना भारतीय राजनीति के लिए अपूरणीय क्षति है और रक्षामंत्री एवं सामाजिक न्याय के सशक्त पैरोकार के रूप में उनका अतुलनीय योगदान हमेशा याद रखा जाएगा.

पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा ने ट्वीट किया, ‘मुलायम सिंह यादव जी के निधन का दुखद समाचार मिला. भारतीय राजनीति में उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री, भारत सरकार के रक्षामंत्री एवं सामाजिक न्याय के सशक्त पैरोकार के रूप में उनका अतुलनीय योगदान हमेशा याद रखा जाएगा.’

राहुल गांधी ने कहा कि श्री मुलायम सिंह यादव जी का निधन एक बेहद दुःखद समाचार है। वो ज़मीनी राजनीति से जुड़े एक सच्चे योद्धा थे.

वहीं सोनिया गांधी ने पत्र जारी करके दुख व्यक्त किया. उन्होंने लिखा कि मुलायम सिंह यादव के निधन की खबर सुनकर दुखी हूं. मुलायम सिंह के निधन से समाजवादी विचारों की एक मुखर आवाज आज मौन हो गई. सोनिया गांधी ने आगे कहा कि देश के रक्षा मंत्री और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में मुलायम सिंह यादव का योगदान सदा अविस्मरणीय रहेगा. उससे कही ज्यादा, शोषितों और वंचितों के लिए उनका संघर्ष सदैव याद किया जाएगा.

पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने कहा कि वह बड़े नेता थे। वह धर्मनिरपेक्ष नेता थे जिन्होंने पिछड़ी जातियों के लिए काम कर उन्हें सशक्त किया। उन्होंने सांप्रदायिक ताकतों के ख़िलाफ़ डटकर मुकाबाला किया। उन्होंने जिस तरह से हिंदू-मुस्लिम भाईचारे को आगे बढ़ाया हमें उनसे सीखना चाहिए.

बता दें कि मुलायम सिंह यादव के पार्थिव शरीर को सैफई ले जाया गया है जहां पर कल उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा.


यह भी पढ़ेंः UP के पूर्व मुख्यमंत्री और सपा नेता मुलायम सिंह यादव का 82 साल की उम्र में निधन


 

share & View comments